Home /News /business /

जानें किसे मिलता है नीला आधार कार्ड, कब तक रहती है वैलिडिटी

जानें किसे मिलता है नीला आधार कार्ड, कब तक रहती है वैलिडिटी

आधार कार्ड पर लिखा 12 अंकों का कोड किसी भी व्‍यक्ति की विशेष पहचान होती है.

आधार कार्ड पर लिखा 12 अंकों का कोड किसी भी व्‍यक्ति की विशेष पहचान होती है.

UIDAI की ओर से बड़ों के लिए जारी आधार कार्ड का रंग बच्‍चों के आधार कार्ड से अलग होता है. इसे पांच साल बाद अपडेट कराना जरूरी रहता है, क्‍योंकि बच्‍चों का आधार कार्ड पांच साल बाद इनवैलिड हो जाएगा.

नई दिल्‍ली. आधार कार्ड अब हर भारतीय की पहचान बन चुका है. सरकारी योजनाओं का लाभ उठाना है या पासपोर्ट आदि बनवाना है तो बिना आधार कार्ड के संभव नहीं होगा. इस पर लिखी 12 अंकों की विशेष संख्‍या को छोड़ दिया जाए तो सभी के आधार कार्ड एकसमान होते हैं. लेकिन, UIDAI बच्‍चों के लिए जारी आधार कार्ड का रंग नीला रखता है.

5 साल से कम उम्र के बच्‍चों के लिए UIDAI बाल आधार कार्ड बनाता है. वैसे तो यह अन्‍य आधार की तरह ही रहता है लेकिन इसका रंग नीला कर दिया जाता है. कोई भी पैरेंट्स वैलिड डॉक्‍यूमेंट देकर अपने बच्‍चों का आधार कार्ड बनवा सकते हैं. UIDAI 31 तरीके के पहचान पत्र, 44 तरह के एड्रेस प्रूफ, 14 तरह के रिलेशनशिप प्रूफ और 14 तरह के जन्‍म प्रमाण पत्रों को आधार बनाने के लिए स्‍वीकार करता है. अगर आप भी अपने बच्‍चों के लिए आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं तो UIDAI के वैलिड सेंटर्स पर इन दस्‍तावेजों के साथ आवेदन कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें – इन 10 रास्‍तों से तय होगी बाजार की चाल, पैसे लगाने से पहले जानें निवेशक

बच्‍चों के आधार कार्ड की खास बातें
-बच्‍चे की उम्र पांच साल पूरी होते ही यह आधार कार्ड इनवैलिड हो जाएगा.
-आधार बनवाने के लिए बच्‍चे की स्‍कूल आईडी का भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है.
-बच्‍चे उम्र 5 साल पूरी होने पर उसका biometric Aadhaar data अपडेट कराएं, 15 साल की उम्र पर फिर इसे अपडेट कराना जरूरी है.
-बच्‍चे का आधार बनवाने के लिए जन्‍म प्रमाण पत्र अथवा हॉस्पिटल से मिलने वाली डिस्‍चार्ज स्लिप ही काफी है.
-पांच साल की उम्र तक बनने वाले आधार में बच्‍चे के फिंगर प्रिंट और आंखों की स्‍कैनिंग नहीं की जाती है.

Tags: Aadhaar Card, Uidai

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर