किरण मजूमदार शॉ ने कहा, Remdesivir की कमी मई मध्‍य तक हो जाएगी दूर, बढ़ा रहे बायोकॉन की उत्‍पादन क्षमता

Biocon की एग्जिक्‍यूटिव चेयरपर्सन किरण मजूमदार शॉ ने भरोसा दिलाया कि मई के मध्‍य तक रेमडेसिविर की कमी दूर हो जाएगी.

बायोकॉन की एग्जिक्‍यूटिव चेयरपर्सन किरण मजूमदार शॉ (Kiran Mazumdar Shaw) ने उम्‍मीद जताई कि मई के दूसरे सप्‍ताह के आखिर (Mid May) तक देश में रेमडेसिविर की कमी (Shortage of Remdesivir) को दूर कर लिया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि इससे भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर (Second Wave of Covid-19) से निपटने में मदद मिलेगी.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस (Corona Crisis in India) के हर दिन तेजी से बढ़ते मामलों के बीच इससे निपटने के उपायों में भी तेजी लाई जा रही है. जहां कुछ कंपनियां हर हजारों मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्‍सीजन (Medical Oxygen) देश को उपलब्‍ध करा रही हैं. वहीं, कोरोना संक्रमण के इलाज में कारगर मानी जा रही दवाइयों के उत्‍पादन में भी बढ़ोतरी की जा रही है. इसी कड़ी में फार्मा कंपनी बायोकॉन (Biocon) की मुखिया किरण मजूमदार शॉ (Kiran Mazumdar Shaw) ने बताया कि रेमडेसिविर की कमी (Shortage of Remdesivir) को दूर करने के लिए कंपनी की उत्‍पादन क्षमता में इजाफा किया जा रहा है.

    'कोविड-19 की दूसरी लहर से निपटने में मिलेगी मदद'
    बायोकॉन की एग्जिक्‍यूटिव चेयरपर्सन किरण मजूमदार शॉ ने उम्‍मीद जताई कि मई के दूसरे सप्‍ताह के आखिर (Mid May) तक देश में इस दवा की कमी को दूर कर लिया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि इससे भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर (Second Wave of Covid-19) से निपटने में मदद मिलेगी. बता दें कि डॉक्‍टर्स रेमडेसिविर को कोरोना मरीजों के इलाज में सबसे कारगर दवा मान रहे हैं. वहीं, जनवरी और फरवरी में इस दवा के उत्‍पादन को रोक दिया गया था क्‍योंकि इसे बनाकर ज्‍यादा दिन तक सुरक्षित नहीं रखा जा सकता है.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड की कीमत में आज आई मामूली तेजी, ताबड़तोड़ बढ़े चांदी के दाम, फटाफट देखें नए भाव

    जेनटेक लाइफसाइंसेस भी कर रही है रेमडेसिविर का उत्‍पादन
    केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने भी 27 अप्रैल को कहा था कि महाराष्ट्र के वर्धा में फार्मास्‍युटिकल्‍स कंपनी जेनटेक लाइफसाइंसेस रेमडेसिविर इंजेक्शन का 28 अप्रैल से उत्पादन शुरू कर देगी. उन्‍होंने कहा था कि कंपनी रोजाना रेमडेसिविर की 30,000 शीशी तैयार करेगी. बता दें कि देश में अस्पतालों में गंभीर स्थिति में भर्ती कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों और लैब रिपोर्ट के जरिये पुष्ट किए गए वयस्क मरीजों व बच्चों में रेमडेसिविर के सीमित आपात उपयोग (Emergency Uses) को मंजूरी दी गई है. वर्धा की जेनटेक लाइफ साइंसेज को रेमडेसिविर इंजेक्शन के विनिर्माण के लिए लाइसेंस दिया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.