अपना शहर चुनें

States

Kisan Andolan: आंदोलन से किसान भी डरे, कहीं दूध-अंडे की सप्लाई न हो जाए ठप्प

यूपी-हरियाणा से होती है सबसे ज़्यादा दूध की सप्लाई
यूपी-हरियाणा से होती है सबसे ज़्यादा दूध की सप्लाई

किसान आंदोलन के चलते आशंका बनी हुई है कि सब्जियों के साथ ही दिल्ली में दूध (Milk)-अंडे (Egg) की सप्लाई पर भी असर पड़ सकता है. इसके पीछे एक बड़ी वजह दूध-अंडे की सप्लाई पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana) और यूपी से होना है. सबसे ज़्यादा यहीं के किसान आंदोलन में शामिल हैं. इन्हीं राज्यों के बॉर्डर दिल्ली के साथ लगते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2020, 10:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कृषि बिल के विरोध में किसानों के आंदोलन का आज छठा दिन है. सरकार के साथ पहले राउंड की बातचीत बेनतीजा रहने के बाद अब आंदोलन और उग्र हो चला है. पुलिस (Police) ने भी सिंघु-टिकरी के साथ ही दूसरे बॉर्डर पर भी सर्तकता बरतनी शुरु कर दी है. जिसके चलते आशंका बनी हुई है कि सब्जियों के साथ ही दिल्ली में दूध (Milk)-अंडे (Egg) की सप्लाई पर भी असर पड़ सकता है. इसके पीछे एक बड़ी वजह दूध-अंडे की सप्लाई पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana) और यूपी से होना है. सबसे ज़्यादा यहीं के किसान आंदोलन में शामिल हैं. इन्हीं राज्यों के बॉर्डर दिल्ली के साथ लगते हैं.

पंजाब-हरियाणा की यह मंडियां दिल्ली में सप्लाई करती हैं अंडा

अंडे के थोक कारोबारी राजेश राजपूत की मानें तो पानीपत, करनाल, नीलोखेरी, महेन्द्रगढ़ और बरवाला मंडियों से दिल्ली में अंडा सप्लाई होता है. बरवाला मंडी देश की बड़ी मंडियों में शुमार है. देशभर में यहां से अंडा सप्लाई होता है. पंजाब-हरियाणा की यह मंडियां दिल्ली में अंडा भेजती है. शाम को छोटी-छोटी गाड़ियां पंजाब और हरियाणा आ जाती हैं. अंडा लेकर रात में ही यह गाड़ियां वापस दिल्ली आ जाती हैं. 5-10 गाड़ियां ही ऐसी हैं जो वेस्ट यूपी से अंडा लेकर दिल्ली आती हैं.



भारत में 5 हज़ार रुपये किलो बिकने वाले ज्ञानपुरी-बंसरी के चिप्स, विदेश जाते ही 2 लाख रुपये हो जाती है कीमत
यूपी-हरियाणा से है सबसे ज़्यादा दूध की सप्लाई  -डेयरी कारोबारी निर्वेश शर्मा की मानें तो यूपी में मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़, अलीगढ़, मथुरा, आगरा, हरियाणा में पलवल, रोहतक, पानीपत से दूध के बड़े-बड़े टैंकर सुबह-शाम दिल्ली में दूध लेकर जाते हैं. कई बड़ी नामचीन डेयरियों में दूध की सप्लाई देने के साथ ही कुछ छोटी-छोटी गाड़ियों वाले और टंकी वाले भी दिल्ली में दूध लेकर आते हैं. बामुशकिल 2 से 4 फीसद ही दूध के टैंकर पंजाब से आते हैं.

अभी इसलिए दूध-अंडे की सप्लाई पर नहीं पड़ा है असर-दिल्ली में दूध-अंडे के भाव पर बात करें तो अभी सब सामान्य है. अंडे पर प्रति सैंकड़ा जो 3 से 4 रुपये रोज़ाना बढ़ रहे हैं वो सीज़न और डिमांड का असर है. किसान आंदोलन का अभी रेट पर कोई असर नहीं पड़ा है. लेकिन सप्लाई पर मामूली असर दिखाई देना शुरु हो गया है. हालांकि पंजाब से चलने के दौरान ही किसान नेताओं ने कह दिया था कि हमारा आंदोलन किसी को परेशानी नहीं होने देगा. लेकिन दूध-अंडे से लदी गाड़ियों के साथ कोई अनहोनी न हो जाए इसलिए छोटे-छोटे कारोबारियों ने सप्लाई से हाथ खींचने शुरु कर दिए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज