लाइव टीवी

Jio प्लेटफॉर्म्स में KKR करेगी 11,367 करोड़ रुपये का निवेश

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 9:22 AM IST
Jio प्लेटफॉर्म्स में KKR करेगी 11,367 करोड़ रुपये का निवेश
KKR जियो प्लेफॉर्म्स में 2.32 फीसदी हिस्सेदारी के 11,367 करोड़ रुपये का निवेश करेगी.

KKR जियो प्लेफॉर्म्स में 2.32 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 11,367 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. किसी भी एशियाई कंपनी में KKR का यह सबसे बड़ा निवेश है.

  • Share this:
नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) की स्वामित्व वाली जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड (Jio Platforms Limited) में केकेआर (KKR) 11,367 करोड़ रुपये निवेश करेगी. देश की बड़ी डिजिटल सर्विसेज प्लेटफॉर्म रिलायंस इंडस्ट्रीज और जियो प्लेफॉर्म्स ने शुक्रवार को इस डील की घोषणा की. KKR जियो प्लेफॉर्म्स में 2.32 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 11,367 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. यह एशिया में केकेआर का सबसे बड़ा निवेश है. जियो प्लेटफॉर्म्स की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रुपये और एंटरप्राइज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. अब इस डील के साथ ही, जियो ने पिछले एक महीने में​ निवेश के ज​रिए करीब 78,562 करोड़ रुपये प्राप्त किए हैं.

एक महीने में जियो ने जुटाए 78,562 करोड़ रुपये
जियो प्लेटफॉर्म्स ने पिछले एक महीने में 5 बड़ी ​डील की है. रिलायंस जियो (Reliance Jio) में निवेश करनी वाली कंपनियों की लिस्ट में फेबसुक, सिल्वर लेक पार्टनर्स, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक के बाद अब KKR शामिल हो गई है. इसी के साथ अब Jio Platforms ने 78,562 रुपए की डील को पूरा कर लिया है. इन सभी डील के बाद अब जियो प्लेटफॉर्म्स की ​इक्विटी वैल्यू (Jio Equity Value) और एंटरप्राइज वैल्यू (Jio Enterprise Value) में भी जबरदस्त इजाफा हुआ है.

2016 में हुई थी जियो की शुरुआत



जियो की शुरुआत 2016 में हुई थी. धीरे-धीरे इसने टेलिकॉम इंडस्ट्री में अपनी धाक जमा ली. टेलीकॉम और ब्रॉडबैंड से लेकर ई कॉमर्स में इसने अपना विस्तार किया और 38 करोड़ ग्राहकों तक पहुंच गई. कंसल्टेंसी पीडब्ल्यूसी के अनुसार, भारत में साल 2022 में इंटरनेट यूजर्स की संख्या बढ़कर 850 मिलियन होने की उम्मीद है. जियो का विजन 1.3 अरब लोगों और छोटे व्यापारियों, माइक्रो-बिजनेस और किसानों सहित व्यवसायों के लिए डिजिटल इंडिया को सक्षम बनाना है ताकि वो समावेशी विकास का लाभ ले सकें.



RIL के चेयरमैन ने क्या कहा?

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, “दुनिया के सबसे सम्मानित वित्तीय निवेशकों में से एक केकेआर का एक महत्वपूर्ण साझेदार के रूप में स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है. केकेआर भारतीय डिजिटल इको सिस्टम में बदलाव की हमारी यात्रा का हमसफर बनेगा. यह सभी भारतीयों के लिए लाभप्रद होगा. केकेआर , भारत में एक प्रमुख डिजिटल सोसाइटी के निर्माण के हमारे महत्वाकांक्षी लक्ष्य को साझाकरता है. एक महत्वपूर्ण भागीदार होने का केकेआर का ट्रैक रिकॉर्ड शानदार है. हम जियो को आगे बढ़ाने के लिए केकेआर के वैश्विक प्लेटफॉर्म, इंडस्ट्री की जानकारियां और परिचालन विशेषज्ञता का लाभ उठाने की उम्मीद करते हैं.

केकेआर के सह-संस्थापक हेनरी क्राविस ने कहा, देश के डिजिटल इकोसिस्टम को बदलने की ऐसी क्षमता कुछ कंपनियों के पास ही होती है जैसा की जियो प्लेटफॉर्म्स के पास है. यह एक सच्चा स्वदेशी प्लेटफॉर्म है जो भारत में डिजिटल क्रांति कर रहा है और इसके पास देश को प्रौद्योगिकी समाधान और सेवाएं देने की बेजोड़ क्षमता है. हम जियो प्लेटफॉर्म्स की प्रभावशाली गति, विश्व स्तरीय इनोवेशन और मजबूत नेतृत्व टीम के कारण निवेश कर रहे हैं. इस निवेश को हम भारत और एशिया प्रशांत में अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों के समर्थन के लिए केकेआर की प्रतिबद्धता के रूप में देखते हैं.

(डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)
First published: May 22, 2020, 7:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading