अब तक नहीं बना किसान क्रेडिट कार्ड तो 31 मार्च 2021 तक करें अप्‍लाई, बेहद कम ब्‍याज दर पर ले सकते हैं लोन

सरकार ने बताया कि पिछले चार साल में यूपी के किसानों की स्थिति बेहतर हुई है. (सांकेतिक तस्वीर)

सरकार ने बताया कि पिछले चार साल में यूपी के किसानों की स्थिति बेहतर हुई है. (सांकेतिक तस्वीर)

केंद्र सरकार किसानों की वित्‍तीय मदद (Financial Support) के लिए 31 मार्च 2021 तक किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) बना रही है. कोई भी किसान (Farmers) अपनी नजदीकी बैंक में पहुंचकर बहुत आसानी से इस सुविधा का फायदा ले सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 2, 2021, 12:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार किसानों के लिए कई स्कीम (Schemes for Farmers) चला रही है. इनमें एक शानदार स्कीम किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) है, जिसमें खेती के काम के लिए सस्ती ब्‍याज दर पर कर्ज (Low Interest Loans) मुहैया कराया जाता है. अगर आप किसाल और अब तक आपने किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है तो आपके पास इस स्‍कीम का फायदा उठाने के लिए पूरा महीना बाकी है. मोदी सरकार 31 मार्च 2021 तक अभियान चलाकर किसान क्रेडिट कार्ड बनवा रही है.

आवेदन के 15 दिन के भीतर मिल जाएगा किसान क्रेडिट कार्ड
स्‍कीम के तहत कोई भी किसान नजदीकी बैंक शाखा पहुंचकर बहुत आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है. सरकार ने किसानों की परेशानी को समझते हुए केसीसी आवेदन के लिए बहुत ही सरल फॉर्म जारी किया है. इसे भरने के बाद उन्‍हें महज 15 दिन में अपना किसान क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा. इस क्रेडिट कार्ड से लिए गए कर्ज पर 3 लाख रुपये तक का सेवा शुल्क माफ कर दिया गया है. बता दें कि केसीसी के तहत 3 लाख रुपये तक का कर्ज सिर्फ 7 फीसदी ब्याज पर मिलता है. यही नहीं, समय पर पैसा लौटाने वाले किसानों को 3 फीसदी की छूट भी मिलती है. दूसरे शब्‍दों में कहें तो समय पर कर्ज लौटाने वाले किसानों को महज 4 फीसदी ब्याज दर पर ही रकम मिल रही है.

Youtube Video

ये भी पढ़ें- 5 साल बाद 7 फ्रीक्‍वेंसी बैंड में 3.92 लाख करोड़ के स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी शुरू, मिलीं 77 हजार करोड़ से ज्‍यादा की बोलियां



योजना का लाभ लेने के लिए कैसे बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड
>> किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए पीएम किसान योजना की ऑफिशियल साइट pmkisan.gov.in पर जाएं.
>> उसके बाद किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म डाउनलोड करें.
>> इस फॉर्म को आपको अपनी कृषि योग्य जमीन के दस्तावेज, फसल की डिटेल के साथ भरना होगा.
>> यह जानकारी देनी होगी कि आपने किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है.
>> अगर ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते हैं तो अपनी नजदीकी बैंक शाखा जाकर सभी औपचारिकताएं पूरी करें.

ये भी पढ़ें- GST Collection: जनवरी 2021 के मुकाबले गिरावट, फिर भी फरवरी में लगातार 5वें महीने 1 लाख करोड़ के पार पहुंचा जीएसटी

आवेदन करने के लिए किन कागजातों की होती है जरूरत
>> आईडी प्रूफ के तौर पर वोटर कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक देना होता है.
>> एड्रेस प्रूफ के लिए आईडी प्रूफ के लिए जमा किया गया कोई भी दस्‍तावेज मान्‍य होगा.
>> केसीसी किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) से हासिल किया जा सकता है.
>> रूटेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), बैंक ऑफ इंडिया (BOI) और आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) से भी केसीसी लिया जा सकता है.
>> नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) रुपे केसीसी जारी करता है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम में तेजी, फिर भी 46 हजार से बना हुआ है नीचे, चांदी हुई महंगी, देखें लेटेस्‍ट भाव

किसान क्रेडिट कार्ड से किसानों को ऐसे मिलेती है मदद 
>> केसीसी खाते में लोन पर बचत बैंक की दर से ब्याज दिया जाता है.
>> केसीसी कार्डधारकों के लिए मुफ्त एटीएम सह डेबिट कार्ड उपलब्‍ध कराया जाता है.
>> भारतीय स्टेट बैंक किसान कार्ड नाम से डेबिड/एटीएम कार्ड देता है.
>> केसीसी में 3 लाख रुपये तक के कर्ज के लिए 2% प्रति वर्ष की दर से ब्याज छूट मिलती है.
>> समय से पहले कर्ज चुकाने पर 3% प्रति वर्ष की दर से अतिरिक्त ब्याज छूट मिलती है.
>> केसीसी के लोन पर फसल बीमा की कवरेज मिलती है.
>> पहले साल के लिए लोन की मात्रा कृषि लागत, फसल के बाद के खर्च और जमीन की लागत के आधार पर तय की जाती है.

ये भी पढ़ें- किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए खास प्‍लान! केंद्र सरकार ने निर्यात बढ़ाने के लिए बनाई कृषि उत्‍पादों की सूची

कौन ले सकता है KCC का लाभ
अब KCC सिर्फ खेती-किसानी तक सीमित नहीं है. पशुपालन और मछलीपालन करने वाले भी इसके तहत 2 लाख रुपये तक का कर्ज ले सकते हैं. खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, भले ही वो किसी दूसरे की जमीन पर खेती करता हो, इसका लाभ ले सकता है. न्यूनतम उम्र 18 साल और अधिकतम 75 साल होनी चाहिए. किसान की उम्र 60 साल से अधिक है तो एक को-अप्लीकेंट भी लगेगा, जिसकी उम्र 60 से कम हो. किसान के फॉर्म भरने के बाद बैंक कर्मचारी देखेगा कि आप इसके योग्य हैं या नहीं.

ये भी पढ़ें- कारोबारियों के लिए अच्‍छी खबर! सालाना GST रिटर्न भरने की आखिरी तारीख बढ़ी, जानें अब क्‍या है नई डेडलाइन

केसीसी नहीं मिलने पर बैंकिंग लोकपाल से करें शिकायत
आरबीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक, बैंक को आवेदन के 15 दिन में केसीसी जारी करना होता है. अगर तय अवधि में कार्ड जारी नहीं होता है तो किसान संबंधित क्षेत्र के बैंकिंग लोकपाल से शिकायत कर सकते हैं. इसके अलावा आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट https://cms.rbi.org.in/ पर भी अपनी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है. किसान क्रेडिट कार्ड हेल्पलाइन नंबर 0120-6025109 / 155261 और ग्राहक ईमेल pmkisan-ict@gov.in के जरिये हेल्प डेस्क से भी संपर्क कर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज