अपना शहर चुनें

States

बढ़ रहा है नकली नोटों का कारोबार! ऐसे पहचानें आपकी जेब में रखा 2000 और 500 रु का नोट असली हैं या नकली

बढ़ रहा नकली नोटों का कारोबार! ऐसे पहचानें 2000 और 500 का नोट असली है या नकली?
बढ़ रहा नकली नोटों का कारोबार! ऐसे पहचानें 2000 और 500 का नोट असली है या नकली?

भारत में नकली नोटों (Fake currency) का कारोबार रुकने का नाम नहीं ले रहा है. 10 जून को एक बार फिर पुणे में करीब 10 करोड़ रुपये के नकली नोट पकड़े गए हैं. ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि कैसे 2000 और 500 रुपए के असली नोट को पहचाने.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में नकली नोटों (Fake currency) का कारोबार रुकने का नाम नहीं ले रहा है. 10 जून को एक बार फिर पुणे में करीब 10 करोड़ रुपये के नकली नोट पकड़े गए हैं. पकड़े गए नोट 2000 और 500 रुपये के नकली नोट हैं.  यूं तो सरकार ने फेक करेंसी पर रोक लगाने (Security features Genuine Rs 2000 Currency Note) के लिए पुराने बड़े नोटों की जगह नए नोट लाने का फैसला किया था. लेकिन इसके बावजूद भी बाजार में फेक करेंसी (Fake Currency) पर पूरी तरह लगाम नहीं लगाई जा सकी है. ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि कैसे 2000 और 500 रुपए के असली नोट को पहचाने...

ये भी पढ़ें:- सरकार की इस स्कीम के तहत सस्ते में सोना खरीदने का आखिर मौका! होगा कितना फायदा?

2000 के नोट असली हैं या नहीं, ऐसे पहचानें



2000 के नोट का बेस कलर मैजेंटा है और इसका साइज 66 मिमी गुणा 166 मिमी है. नोट के फ्रंट पर महात्मा गांधी और पीछे की तरफ मंगलयान की तस्वीर लगी है.


पहचान नंबर-1 नोट को लाइट के सामने रखने पर यहां 2000 लिखा दिखेगा.
पहचान नंबर-2 आंख के सामने 45 डिग्री के एंगल पर रखने पर यहां 2000 लिखा दिखेगा.
पहचान नंबर-3 देवनागरी में 2000 लिखा दिखेगा.
पहचान नंबर-4 सेंटर में महात्मा गांधी की तस्वीर है.
पहचान नंबर-5 छोटे-छोटे अक्षरों में RBI और 2000 लिखा है.
पहचान नंबर-6 सिक्योरिटी थ्रीड है इसपर भारत, RBI और 2000 लिखा है. नोट को हल्का से मोड़ने पर इस थ्रीड का कलर हरा से नीला हो जाता है.
पहचान नंबर-7 गारंटी क्लॉज, गवर्नर के सिग्नेचर, प्रॉमिस क्लॉज और आरबीआई का लोगो दाहिनी तरफ है.
पहचान नंबर-8 यहां महात्मा गांधी की तस्वीर और इलेक्ट्रोटाइप (2000) वाटरमार्क है.
पहचान नंबर-9 ऊपर में सबसे बाईं तरफ और नीचे में सबसे दाहिने तरफ लिखे नंबर बाएं से दाएं तरफ बड़े होते जाते हैं.
पहचान नंबर-10 यहां लिखे नंबर 2000 का रंग बदलता है. इसका कलर हरा से नीला हो जाता है.
पहचान नंबर-11 दाहिनी तरफ अशोक स्तम्भ है.
पहचान नंबर-12 दाहिनी तरफ आयताकार बॉक्स जिसमें 2000 लिखा है.
पहचान नंबर-13 दाहिनी और बाईं तरफ सात ब्लीड लाइंस हैं जो खुरदरे हैं.

ये भी पढ़ें:- SBI ने किया करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट! नए तरीके से पैसे चोरी होने की दी जानकारी

पीछे की तरफ
पहचान नंबर-14 नोट की प्रिंटिंग का साल लिखा हुआ है.
पहचान नंबर-15 स्लोगन के साथ स्वच्छ भारत का लोगो.
पहचान नंबर-16 सेंटर की तरफ लैंग्वेज पैनल
पहचान नंबर-17 मंगलयान का नमूना

दृष्टिहीनों के लिए
महात्मा गांधी की तस्वीर, अशोक स्तम्भ के प्रतीक, ब्लीड लाइन और पहचान चिन्ह खुरदरे से हैं.

ये भी पढ़ें:- काम की खबर! रोज 100 रु बचाकर बनाए 20 लाख रुपए, यहां मिलेगा अच्छा मुनाफा

500 रुपये के नए नोट असली हैं या नहीं, ऐसे पहचानें



पहचान नंबर-1 नोट को लाइट के सामने रखने पर यहां 500 लिखा दिखेगा.
पहचान नंबर-2 आंख के सामने 45 डिग्री के एंगल पर रखने पर यहां 500 लिखा दिखेगा.
पहचान नंबर-3 देवनागरी में 500 लिखा दिखेगा.
पहचान नंबर-4 पुराने नोट की तुलना में महात्मा गांधी की तस्वीर का ओरिएंटेशन और पोजिशन थोड़ा अलग है.
पहचान नंबर-5 नोट को हल्का से मोड़ने पर सिक्योरिटी थ्रीड का कलर हरा से नीला हो जाता है.
पहचान नंबर-6 पुराने नोट की तुलना में गारंटी क्लॉज, गवर्नर के सिग्नेचर, प्रॉमिस क्लॉज और आरबीआई का लोगो दाहिनी तरफ शिफ्ट हो गया है.
पहचान नंबर-7 यहां महात्मा गांधी की तस्वीर और इलेक्ट्रोटाइप वाटरमार्क है.
पहचान नंबर-8 ऊपर में सबसे बाईं तरफ और नीचे में सबसे दाहिने तरफ लिखे नंबर बाएं से दाएं तरफ बड़े होते जाते हैं.
पहचान नंबर-9 यहां लिखे नंबर 500 का रंग बदलता है. इसका कलर हरा से नीला हो जाता है.
पहचान नंबर-10 दाहिनी तरफ अशोक स्तम्भ है.दाहिनी तरफ सर्कल बॉक्स जिसमें 500 लिखा है.
दाहिनी और बाईं तरफ 5 ब्लीड लाइंस हैं जो खुरदरे हैं.

ये भी पढ़ें:-  21 हजार रुपए से कम सैलरी पाने वालों के लिए खुशखबरी! इस योजना से मिलेंगे कई लाभ

पीछे की तरफ
पहचान नंबर-11 नोट की प्रिंटिंग का साल लिखा हुआ है.
पहचान नंबर-12 स्लोगन के साथ स्वच्छ भारत का लोगो.
पहचान नंबर-13 सेंटर की तरफ लैंग्वेज पैनल
पहचान नंबर-14 भारतीय ध्वज के साथ लाल किले की तस्वीर
पहचान नंबर-15 देवनागरी में 500 लिखा है.

दृष्टिहीनों के लिए
महात्मा गांधी की तस्वीर, अशोक स्तम्भ के प्रतीक, ब्लीड लाइन और पहचान चिन्ह खुरदरे से हैं.

ये भी पढ़ें:- कोरोनाकाल में Parle-G बिस्कुट के साथ-साथ लोगों ने खूब खाई Maggi, बढ़ी मांग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज