• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • ऐसे शुरू करें खुद का सोलर पावर बिजनेस, हो सकती है लाखों की कमाई

ऐसे शुरू करें खुद का सोलर पावर बिजनेस, हो सकती है लाखों की कमाई

सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी.

सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी.

देश में डब्ल्यूटीओ (WTO) के मानकों पर 2022 तक 20,000 मेगावाट से एक लाख मेगावाट तक सौर ऊर्जा पैदा करने का लक्ष्य है. इससे नए रोजगार पैदा होने की संभावना है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. इस समय दुनिया एक ऐसे कठिन दौर से गुजर रही है, लाखों लोग बेरोजगार हो गए हैं. भारत में भी सैकड़ों कंपनियां नौकरी देने की हालत में नही हैं. ऐसे में लोगों को काम की तलाश है. ऐसे में हो सकता है कि आप ऐसे किसी बिजनेस के बारे में सोच रहे हैं, जिससे आपकी कुछ आमदनी हो सके. ऐसा ही एक काम है सोलर पैनल का बिजनेस (solar power business), जो दुनियाभर में तेजी से बढ़ने वाला बिजनेस है. ये बिजनेस कैसे किया जाए, कैसे शुरू होता है और आमदनी कितनी हो सकती है, ये जानने के लिए हमने हरियाणा की सोलर कंपनी लूम सोलर से बातचीत की.

    क्यों भविष्य का बिजनेस है सोलर पावर?

    बिजली की किल्लत और स्मार्ट बिजनेस के लिए वैकल्पिक ऊर्जा यानी सोलर ऊर्जा पर निर्भरता आने वाले दिनों में तेजी से बढ़ेगी. वहीं, देश में डब्ल्यूटीओ के मानकों पर 2022 तक 20,000 मेगावाट से एक लाख मेगावाट तक सौर ऊर्जा पैदा करने का लक्ष्य रखा गया है. इसके साथ ही ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते के तहत भारत ने 2030 तक गैर जीवाश्म ईंधन स्रोतों से 40 प्रतिशत बिजली पैदा करने का टार्गेट रखा है. मेक इन इंडिया के तहत सोलर पैनल्स को बढ़ावा दिया जा रहा है. ऐसे में आप समझ सकते हैं कि सौर ऊर्जा का कारोबार बड़ी संभावनाएं और अवसर लेकर आ रहा है. खुद के बिजनेस के अलावा इस सेक्टर में नौकरियों की भी कमी नहीं है. International Renewable Energy Agency के मुताबिक दुनियाभर में पिछले एक साल में रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर में 11 मिलियन से ज्यादा नौकरियां पैदा हुई हैं. इसके अलावा भारत इस सेक्टर में तेजी से आगे बढ़ रहा है.

    क्या है 'वन वर्ल्ड, वन सन, वन ग्रिड' प्लान?

    यह दुनिया को सोलर पावर से जोड़ने का विस्तृत प्लान है, जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई बार दोहराया है. इसके तहत एक कॉमन ग्रिड के जरिए 140 देशों को जोड़ेने की योजना है. ग्लोबल ग्रिड की योजना का भारत की ओर से सहसंस्थापित इंटरनेशनल सोलर अलांयस (आईएसए) को मजबूत करेगा, जिसमें अभी भारत समेत 67 देश शामिल हैं. यह सोलर ग्रिड दो जोन में बंटा होगा. ईस्ट जोन में म्यांमार, वियतनाम, थाइलैंड, लाओ, कंबोडिया जैसे देश शामिल होंगे. वहीं वेस्ट जोन मिडिल ईस्ट और अफ्रीका क्षेत्र के देशों को कवर करेगा. इससे आप इस सेक्टर के मौकों का अंदाजा लगा सकते हैं.

    बिजनेस कैसे शुरू करें?

    हरियाणा की सोलर कंपनी लूम सोलर (Loom Solar) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अभियान आत्मनिर्भर भारत के तहत किसी भी स्टार्टअप, बिजनेसमैन या प्रोफेशनल कंपनी को बिजनेस का मौका दे रही है. इसके तहत सोलर बिजनेस शुरू करने के 3 तरीके हैं. लूम सोलर, देश की सोलर पैनल मैन्युफैक्चरिंग की बड़ी कंपनी है. कंपनी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके सोलर पैनल और एसी मॉड्यूल्स बनाती है. खासकर घरों में सोलर पैनल के इस्तेमाल को ध्यान में हुए काम करती है. लूम सोलर की हरियाणा के सोनीपत में सोलर पैनल बनाने की फैक्ट्री है. फिलहाल कंपनी के 1500 से ज्यादा रिटेल डीलर्स हैं.

    1. डीलर:

    कंपनी के साथ डीलर के तौर पर बिजनेस शुरू किया जा सकता है. इसके लिए कंपनी की डीलरशिप लेनी होगी. इस लिंक पर https://www.loomsolar.com/products/dealer-registration क्लिक करके आप ज्यादा जानकारी हासिल कर सकते हैं और खुद को रिजस्टर कर सकते हैं.

    2. डिस्ट्रीब्यूटर्स:

    कंपनी के साथ बिजनेस शुरू करना का दूसरा तरीका है डिस्ट्रीब्यूटर. कंपनी हर शहर में एक डिस्ट्रीब्यूटर बनाती है. डिस्ट्रीब्यूटर बनने के लिए इस लिंक पर https://www.loomsolar.com/products/distributor-registration क्लिक कीजिए और इसकी जरूरी जानकारी आपको मिल जाएगी.

    3. इन्फ्लुएंसर:

    कोई भी स्टूडेंट या हाउसवाइफ भी बिजनेस शुरू कर सकते हैं. घर बैठे ये काम किया जा सकता है. इन्फ्लुएंसर के तौर पर कंपनी की एफीलेट मार्केटिंग से जुड़ सकते हैं. इसकी डीटेल्स के लिए https://www.loomsolar.com/pages/become-an-affiliate-earn-money पर क्लिक करना होगा.

     क्या करती है लूम सोलर

    >> कटिंग ऐज टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट: मोनो पैनल & AC मॉड्यूल बनाने वाली इंडिया की पहली कंपनी है, जो घरो के लिए छोटे से बड़े साइज के सोलर पैनल बनाती है.

    >> नो स्टॉकिंग मॉडल: रीसेलर को सामान तब खरीदना है जब आपके पास कस्टमर का ऑर्डर हो.

    >> भरोसेमंद कंपनी: स्टार्टअपइंडिया और AmazonSMBhav से अवॉर्ड भी मिल चुका है.

    आपके लिए इस सेक्टर में मौके क्यों हैं?

    कोई भी बिजनेस करने से पहले ये सबसे जरूरी सवाल है. इसका जवाब है कि भारत की भौगोलिक स्थिति ऐसी है जहां साल में औसतन 300 दिन धूप आती है. प्राकृतिक ईंधन कम हो रहा है और पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. ऐसे में सरकार चाहती है कि देश सौर ऊर्जा की तरफ जाए और बिजली पर निर्भरता कम हो. इसलिए राज्य तथा केंद्र सरकारें लगातार सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए सुविधाएं दे रही हैं. पिछले महीने ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्य प्रदेश में 700 मेगावाट के सोलर प्लांट का उद्घाटन किया था, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत कितनी तेजी से सौर ऊर्जा की तरफ बढ़ रहा है. कुल मिलाकर सोलर पैनल एक ऐसा बिजनेस है, जिसे PM मोदी के आत्मनिर्भर भारत के तहत आप आसानी से कर भी सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं.

    निवेश के लिए पैसे कहां से आएंगे?

    वैसे तो इसका शुरुआती निवेश काफी कम है लेकिन फिर भी अगर आपके पास पैसे नहीं हैं तो कई बैंक इसके लिए फाइनेंस करते हैं. आप इसके लिए सोलर सब्सिडी स्कीम, कुसुम योजना, राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के तहल बैंक से SME लोन ले सकते हैं. एक अनुमान के मुताबिक, इस बिजनेस से महीने में 30 हजार रुपए से लेकर 1 लाख रुपए तक कमाई हो सकती है. इसके साथ ही सोलर बिजनेस के लिए कई स्कीमों के तहत भारत सरकार 30 प्रतिशत तक की सब्सिडी देती है. इस स्कीम के बारे में आप हर जिले के अक्षय ऊर्जा विभाग में जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज