RBI के ब्याज दरें घटाने से होम लोन पर आपको हर महीने होगी इतने हजार रुपये की बचत

रेपो रेट में कटौती के बाद EMI घट जाएगी
रेपो रेट में कटौती के बाद EMI घट जाएगी

शुक्रवार को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट (Repo Rate) और रिवर्स रेपो रेट में क्रमश: 75 आधार अंक और 90 आधार अंक की कटौती किया. इसके बाद होम लोन और ऑटो लोन पर दी जाने वाली EMI में कमी आएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 4:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की वजह से आर्थिक संकट की आशंक को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आम लोगों और छोटे कारोबारियों की बड़ी राहत दी है. केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष के अंतिम मौद्रिक समीक्षा की जानकारी शुक्रवार को दी. RBI ने शुक्रवार को रेपो रेट में 0.75 फीसदी की कटौती करने का ऐलान किया, जिसके बाद यह घटकर 4.4 फीसदी के स्तर पर आ गया. साथ ही, रिवर्स रेपो रेट में भी 90 आधार अंकों की कटौती की गई, जिसके बाद यह 4 फीसदी के स्तर पर आ गया है.

RBI के इस फैसले के बाद अब आम लोगों को होम लोन और EMI में बड़ी कमी आएगी. आज हम आपको इसी के बारे में जानकारी देंगे आखिर कैसे RBI के इस फैसले से आपकी EMI कम होगी.

यह भी पढ़ें: गरीबों-किसानों और महिलाओं के लिए कितना मददगार है मोदी सरकार का राहत पैकेज?



EMI पर क्या होता है रेपो रेट का असर?
जब RBI किसी भी बैंक को लोन देता है तो उस पर लगने वाले ब्याज को रेपो रेट कहते हैं. ऐसे में अगर RBI इस रेट को घटा देता है तो बैंक इसका लाभ अपने ग्राहकों का होम और ऑटो लोन के लिए ब्याज दर कम करके देते हैं. चूंकि RBI ने रेपो रेट में कटौती कर दिया है तो अब उम्मीद है कि बैंक अपने ग्राहकों को दिए जाने वाले लोन को सस्ता करेंगे और इस प्रकार लोन की EMI कम हो जाएगी.

पहले कितनी देनी होती थी EMI
मान लीजिए कि आपने भारतीय स्टेट बैंक (SBI) से 20 साल के लिए 30 लाख रुपये का लोन लिया है. इस लोन पर आपको 7.85 फीसदी का ब्याज देना होता है. अब RBI द्वारा रेपो रेट में कटौती के बाद यह ब्याज दर 7.10 फीसदी रह जाएगी. पहले इस लोन पर 7.85 फीसदी की ब्याज दर से आपको हर महीने 24,814 रुपये की EMI देनी होती है. इस प्र​कार में 30 लाख रुपये के लोन पर 20 साल में आप 29.55 लाख रुपये केवल ब्याज के तौर पर देंगे.

लेकिन RBI के फैसले के बाद यह 7.10 फीसदी की ब्याज दर के साथ आपको हर महीने 23,439 रुपये EMI के तौर पर देनी होगी. इस हिसाब से आपको 20 साल के लिए 30 लाख रुपये के लोन पर कुल 26.25 लाख रुपये का ही ब्याज देना होगा. इस प्रकार हर महीने आपकी EMI में 1,375 रुपये की बचत होगी. कुल ब्याज में भी 3.25 लाख रुपये कम हो जाएगा.

यह भी पढ़े: Yes Bank जुटाएगा 5000 करोड़ रुपये का फंड, मिली मंजूरी

ऑटो लोन पर कैसे होगी बचत
मान लीजिए कि आपने एसबीआई से ही 5 साल के लिए 10 लाख रुपये का ऑटो लोन लिया है, जिसपर आपको 9.30 फीसदी की दर से ब्याज देना होता है. इस पुराने ब्याज दर पर आपको हर महीने 20,904 रुपये की EMI देनी पड़ती थी. इस दौरान बैंक को आप ब्याज के तौर पर कुल 2,54,255 रुपये देते हैं.

लेकिन अब RBI द्वारा इस कटौती के बाद अब यह ब्याज दर घटकर 8.55 फीसदी के स्तर पर आ जाएगा. इस हिसाब से आपकी EMI घटकर 20,541 रुपये हो जाएगी. वहीं, इस दर पर आपको कुल ब्याज 2,32,438 रुपये देना होगा.

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन: 1 अप्रैल से बदलेगा इन बैंकों का नाम, जानें आपके पैसे का क्या होगा?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज