भारतीय रिजर्व बैंक ने अब महाराष्‍ट्र के इस बैंक पर ठोका जुर्माना, नियमों के उल्‍लंघन का पाया था जिम्‍मेदार

RBI ने महाराष्‍ट्र के सहकारी बैंक पर जुर्माना लगा दिया है.

RBI ने महाराष्‍ट्र के सहकारी बैंक पर जुर्माना लगा दिया है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने नियामकीय निर्देशों का पालन नहीं करने के कारण प्रियदर्शिनी महिला नागरी सहकारी बैंक (Priyadarshini Mahila Nagari Sahakari Bank) पर आर्थिक दंड लगाया है. केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसने बैंकिंग रेग्‍युलेशन एक्‍ट, 1949 की विभिन्‍न धाराओं के तहत जुर्माने (Penalty) की कार्रवाई की है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने नियमों का उल्‍लंघन (Rules Violations) करने पर महाराष्‍ट्र के एक और सहकारी बैंक के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई (Monetary Penalty) की है. आरबीआई ने बताया कि सुपरवाइजरी एक्‍शन फ्रेमवर्क (SAF) के तहत जारी किए गए कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने के कारण प्रियदर्शिनी महिला नागरी सहकारी बैंक (Priyadarshini Mahila Nagari Sahakari Bank) पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. केंद्रीय बैंक ने बताया कि बैंकिंग रेग्‍युलेशन एक्‍ट, 1949 के तहत धारा-47 ए(1)(सी) को धारा-46 (4)(आई) के साथ पढ़ने पर आरबीआई को मिले अधिकारों के तहत जुर्माना लगाया है.

आरबीआई ने पहले जारी किया था कारण बताओ नोटिस

आरबीआई ने कहा कि सहकारी बैंक के खिलाफ ये कार्रवाई नियामकीय अनुपालन में खामियों के कारण की गई है. साथ ही बैंक की ओर से ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन और समझौते की वैधता को जाहिर करने का इरादा भी नजर नहीं आया. सहकारी बैंक की 31 मार्च 2019 की वित्‍तीय हालत पर आधारित निरीक्षण रिपोर्ट से पता चला कि आरबीआई की ओर से जारी कुछ दिशानिर्देशों का उल्‍लंघन किया गया है. इस आधार पर सहकारी बैंक को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा गया था कि नियमों का उल्‍लंघन करने के लिए क्‍यों नहीं उसके खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई की जाए?

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने में 333 रुपये की तेजी, चांदी हुई 2000 रुपये से ज्‍यादा महंगी, फटाफट देखें नए भाव
सुनवाई के दौरान सहकारी बैंक को पाया गया जिम्‍मेदार

केंद्रीय बैंक ने बताया कि सुनवाई के दौरान प्रियदर्शिनी महिला नागरी सहकारी बैंक की ओर से दिए गए लिखित और मौखिक जवाब पर विचार करने के बाद बैंक को नियमों के उल्‍लंघन का जिम्‍मेदार पाया गया. साथ ही पाया गया कि इस आधार पर बैंक के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई की जा सकती है. बता दें कि इससे पहले रिजर्व बैंक ने शिमला के हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक (Himachal Pradesh State Cooperative Bank) पर 40 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था. यह जुर्माना नाबार्ड (NABARD) की ओर से जारी कुछ दिशानिर्देशों के उल्लंघन को लेकर लगाया गया था.वहीं, 3 मई को आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज