Home /News /business /

नवम्बर में हुआ जबरदस्त GST कलेक्शन, मगर क्या हैं इसके 5 बड़े कारण? जानिए

नवम्बर में हुआ जबरदस्त GST कलेक्शन, मगर क्या हैं इसके 5 बड़े कारण? जानिए

2021 के नवंबर महीने में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन (GST collection) 1,31,526 करोड़ रुपये का हुआ है.

2021 के नवंबर महीने में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन (GST collection) 1,31,526 करोड़ रुपये का हुआ है.

2021 के नवंबर महीने में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन (GST collection) 1,31,526 करोड़ रुपये का हुआ है. इस महीने का जीएसटी कलेक्शन (GST collection) पिछले महीने यानी अक्टूबर से ज्यादा है. इसमें सीजीएसटी (CGST) 23,978 करोड़ रुपए, SGST 31,127 करोड़ रुपए, IGST 66,815 करोड़ रुपए और उपकर (Cess) 9,606 करोड़ रुपए है. जीएसटी नियमों को बेहतर तरीके से लागू करने के लिए नीतियों और प्रशासनिक स्तर पर किए गए उपाय, केंद्र सरकार और राज्य सरकार की एजेंसियों का मिलकर जीएसटी चोरी के बड़े मामलों को पकड़ना जैसे कई कारण इसमें शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. 2021 के नवंबर महीने में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन (GST collection) 1,31,526 करोड़ रुपये का हुआ है. इस महीने का जीएसटी कलेक्शन (GST collection) पिछले महीने यानी अक्टूबर से ज्यादा है. इसमें सीजीएसटी (CGST) 23,978 करोड़ रुपए, SGST 31,127 करोड़ रुपए, IGST 66,815 करोड़ रुपए और उपकर (Cess) 9,606 करोड़ रुपए है.

    लगातार दूसरे महीने सकल जीएसटी संग्रह 1.30 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया है. नवंबर 2021 के महीने का राजस्व पिछले साल के इसी महीने में जीएसटी राजस्व से 25 फीसदी अधिक और 2019-20 से 27 फीसदी अधिक है. आपको बता दें कि अक्टूबर, 2021 में जीएसटी कलेक्शन 1,30,127 करोड़ रुपये रहा. इसमें सीजीएसटी 23,861 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 30,421 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 67,361 करोड़ रुपये और उपकर (सेस) 8,484 करोड़ रुपये शामिल हैं. अक्टूबर के दौरान जीएसटी रेवेन्यू, जीएसटी लागू होने के बाद से दूसरा सबसे बड़ा मासिक संग्रह था.

    ये भी पढ़ें – खुशखबरी: पेट्रोल के दाम में आई जोरदार गिरावट

    GST कलेक्शन में बढ़ोतरी के कारण

    1. GST नियमों को बेहतर तरीके से लागू करने के लिए नीतियों और प्रशासनिक स्तर पर किए गए उपाय.
    2. केंद्र सरकार और राज्य सरकार की एजेंसियों का मिलकर GST चोरी के बड़े मामलों को पकड़ना.
    3. GSTN की तरफ से विकसित किए विभिन्न आईटी टूल्स के लिए फर्जी इनवॉयस से जुड़े मामलों को पकड़ना. इन आईटी टूल्स के जरिए रिटर्न, इनवॉयस और ई-वे बिल डेटा का इस्तेमाल कर संदिग्ध टैक्सपेयर्स को पकड़ा जाता है.
    4. सिस्टम की क्षमता में बढ़ोतरी, आखिरी तारीख बीत जाने के बाद GST रिटर्न फाइलिंग को नकारना, रिटर्न का पहले से भरा होना, ई-वे बिल को ब्लॉक करना और नॉन-फाइलर्स को इनपुट टैक्स क्रेडिट पास करने से रोकना.
    5. पिछले कुछ महीनों से रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया में लगातार सुधार.

    Tags: GST collection, GST e-way, Gst latest news, GST law

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर