अपना शहर चुनें

States

सिर्फ 3 रुपये खर्च कर ऐसे फ्रॉड से बचाएं अपना बैंक खाता, जानिए ये काम की बातें

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

अगर आप भी पाना चाहते हैं साइबर सिक्योरिटी तो अब आप ले सकते हैं. एचडीएफसी एर्गो ने एक साइबर इंश्योरेंस पॉलिसी लांच की है. इसमें 50,000 रुपये का बीमा रोजाना तीन रुपये खर्च कर लिया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2018, 4:45 AM IST
  • Share this:
टेक्नोलॉजी का विस्तार होने से साइबर रिस्क में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. इसकी वजह से लोगों के लिए साइबर सिक्योरिटी जरूरी हो गई है. अगर आप भी अपने पैसों को सिक्योर करना चाहते हैं तो अब आप ले सकते हैं ये खास इंश्योरेंस पॉलिसी. एचडीएफसी एर्गो ने एक साइबर इंश्योरेंस पॉलिसी लांच की है. इसमें 50,000 रुपये का बीमा रोजाना तीन रुपये खर्च कर लिया जा सकता है.

इन रिस्क से सुरक्षा करेगा ये इंश्योरेंस- ये पॉलिसी कई तरह के साइबर रिस्क से सुरक्षा देती है. इनमें फर्जी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन, फिशिंग और ईमेल स्पूफिंग, ई-एक्सटॉर्शन, पहचान की चोरी (आइडेंटिटी थेफ्ट) और साइबर बुलिंग शामिल हैं. एचडीएफसी एर्गो की यह साइबर इंश्योरेंस पॉलिसी आम लोगों और उनके परिवार को साइबर फ्रॉड, डिजिटल धमकी या साइबर अटैक की वजह से होने वाले वित्तीय/छवि को नुकसान से भी कवर करती है.

इस योजना में लगाएं 200 रुपए रोजाना, 20 साल बाद मिलेंगे 34 लाख रुपये




एचडीएफसी एर्गो के एमडी का मानना है कि ऑनलाइन कारोबार के मामले में भारत दुनिया का दूसरा प्रमुख बाजार है. यहां साइबर इंश्योरेंस कारोबार में विस्तार की अपार संभावनाएं हैं. साइबर जोखिम और धोखाधड़ी की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है और इस हिसाब से इनका प्रबंधन चुनौती भरा काम है.

ये चीजें होती हैं कवर- एचडीएफसी एर्गो के साइबर इंश्योरेंस में ऑनलाइन धोखाधड़ी और फ्रॉड के तकरीबन सभी मामले कवर किये जाते हैं. पूरे परिवार की सायबर सुरक्षा के लिए यह पॉलिसी खरीदी जा सकती है. वास्तव में इस पॉलिसी में आप, आपके पति/पत्नी और दो बच्चे कवर हो सकते हैं. पॉलिसी में सभी डिवाइस और लोकेशन शामिल हैं. एचडीएफसी एर्गो की साइबर इंश्योरेंस पॉलिसी में किसी साइबर धोखाधड़ी की स्थिति में क़ानूनी खर्च और क़ानूनी सलाह की भी व्यवस्था है.

इमरजेंसी में कैंसिल करनी पड़ रही हो शादी, तो घबराएं नहीं ऐसे मिलेगा पूरा पैसा वापस

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2016 में देश में साइबर क्राइम की घटनाओं में 6.3 फीसदी की वृद्धि हुई है. साल 2015 में जहां देश में साइबर अपराध के 11,592 मामले दर्ज किये गए, वहीं साल 2016 में इस तरह के मामलों की संख्या बढ़कर 12,317 पर पहुंच गयी.

Railway कैंटीन में कैसे बन रहा है आपके लिए खाना, ऐसे करें पता
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज