जानें कौन हैं जेट एयरवेज के नए मालिक मुरारी लाल जालान और कालरॉक कैपिटल, बंद पड़ी एयरलाइंस को देंगे नई उड़ान

अब यूएई के मुरारी लाल जालान और ब्रिटेन की कालरॉक कैपिटल का कंसोर्टियम बंद पड़ी जेट एयरवेज को नई उड़ान देगा.
अब यूएई के मुरारी लाल जालान और ब्रिटेन की कालरॉक कैपिटल का कंसोर्टियम बंद पड़ी जेट एयरवेज को नई उड़ान देगा.

ब्रिटेन की कालरॉक कैपिटल (Kalrock Capital) और संयुक्‍त अरब अमीरात के मुरारी लाल जालान (Murari Lal Jalan) का कंसोर्टियम नरेश गोयल की एयरलाइंस जेट एयरवेज (Jet Airways) का नया मालिक होगा. जेट एयरवेज को कर्ज देने वाली क्रेडिटर्स कमेटी (committee of creditors/COC) ने इसके लिए मंजूरी दे दी है. आईए जानते हैं कि कौन हैं मुरारी लाल जालान और कालरॉक कैपिटल...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 2:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्रिटेन की कालरॉक कैपिटल (Kalrock Capital) और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के उद्यमी मुरारी लाल जालान (Murari Lal Jalan) वाली कंसोर्टियम जेट एयरवेज (Jet Airways) की नई मालिक बन गई है. जेट एयरवेज को कर्ज देने वाली क्रेडिटर्स कमेटी (committee of creditors/COC) ने इसके लिए मंजूरी दे दी है. करीब एक साल पहले फंड्स की गंभीर समस्या के कारण जेट एयरवेज को बंद करना पड़ा था. ई-वोटिंग के जरिये मुरारीलाल जालान और फ्लोरिएन फ्रिट्श (Florian Fritsch) का रेज्योलूशन प्लान 17 अक्टूबर 2020 को मंजूर कर लिया गया. बता दें कि जेट एयरवेज की स्थापना नरेश गोयल ने की थी.

यूएई के जालान का एविएशन सेक्‍टर में निवेश का है पहला अनुभव
यूएई के मुरारी लाल जालान एमजे डेवलपर्स कंपनी के मालिक हैं. उन्‍होंने परिवार के पेपर कारोबार से शुरुआत की थी. उन्‍होंने जेके पेपर और बल्‍लारपुर इंडस्‍ट्रीज के लिए भी काम किया था. उन्‍होंने रियल एस्टेट, माइनिंग, ट्रेडिंग, कंस्ट्रक्शन, एफएमसीजी, ट्रेवल एंड टूरिज्म और इंडस्ट्रियल वर्क्‍स जैसे सेक्टर्स में निवेश किया है. जालान ने यूएई, भारत, रूस और उज्बेकिस्तान समेत कई देशों में अलग-अलग सेक्‍टर्स में मोटा पैसा लगाया है. इस समय उनकी कंपनी कंपनी उज्‍बेकिस्‍तान में रेजीडेंशियल और कमर्शियल प्रोजेक्‍ट्स बना रही है. इसके अलावा जालान हेल्‍थकेयर सेक्‍टर से भी जुड़े हुए हैं. एविएशन सेक्‍टर में ये उनका पहला अनुभव है.

ये भी पढ़ें- आपकी एक गलती रोक सकती है पीएम-किसान स्कीम के 6000 रुपये, 47 लाख किसानों की पेमेंट रुकी
कालरॉक कैपिटल 20 साल से कई सेक्‍टर्स में कर रही है निवेश


कालरॉक कैपिटल ब्रिटेन में लंदन की फाइनेंशियल एडवाइजरी और अल्टरनेटिव एसेट मैनेजमेंट से जुड़ा कारोबार करती है. यह कंपनी मुख्‍य तौर पर रियल एस्टेट और वेंचर कैपिटल से जुड़ी है. इस कंपनी का वित्‍तपोषण फ्लोरियन फ्रिट्श से हासिल होता है. कालरॉक कैपिटल की वेबसाइट पर दी जानकारी के मुताबिक, कंपनी करीब 20 साल से अल्‍टरनेटिव एसेट क्‍लास में बतौर प्रिंसिपल इंवेस्‍टर और को-इंवेस्‍टमेंट सिंडिकेट के तौर पर निवेश कर रही है. ये कंपनी टेस्‍ला के शुरुआती निवेशकों में एक रही है. इसके अलावा कंपनी ने ऑल माय होम्‍स, बियॉन्‍ड लिमिट्स, बायोटेस्‍ट और डिलिवरी हीरो जैसी कंपनियों में निवेश किया है.

इसे भी पढ़ें: बीमा योजना: सिर्फ 2.5 प्रतिशत प्रीमियम देकर मिलेगा 40,000 रुपये का मुआवजा

'घरेलू से शुरुआत कर अंतरराष्‍ट्रीय उड़ान भी शुरू करेगी कंपनी'
कालरॉक कैपिटल के बोर्ड मेंबर मनोज मदनानी ने कहा कि कोरोना वायरस संकट हमेशा नहीं रहेगा. एक बार ये खत्‍म हो जाए तो उविएशन सेक्‍टर तेजी से आगे बढ़ेगा. हमारी योजना है कि जेट एयरवेज फुल-सर्विस एयरलाइन में तब्‍दील की जाए. इसलिए हम डॉमेस्टिक फ्लाइट्स से शुरुआत करेंगे और स्‍लॉट मिलने पर अंतरराष्‍ट्रीय फ्लाइट्स भी शुरू कर देंगे. बता दें कि जेट एयरवेज को दो कंसोर्टियम से बोलियां मिली थीं. इनमें एक यूके बेस्ड कालरॉक कैपिटल और यूएई के उद्यमी मुरारी लाल जालान का कंसोर्टियम था. वहीं, दूसरी ओर हरियाणा की फ्लाइट सिमुलेशन टेक्नीक सेंटर (FSTC), मुंबई की बिग चार्टर और अबू धाबी की इंपीरियल कैपिटल इंवेस्टमेंट्स एलएलसी थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज