होम /न्यूज /व्यवसाय /

RARE Enterprises : झुनझुनवाला ने क्यों रखा था अपनी फर्म का नाम RARE, क्या है इसका मतलब

RARE Enterprises : झुनझुनवाला ने क्यों रखा था अपनी फर्म का नाम RARE, क्या है इसका मतलब

 RARE एंटरप्राइजेज को शुरू करने वाले, बिग बुल राकेश झुनझुनवाला का आज यानी रविवार को निधन हो गया.

RARE एंटरप्राइजेज को शुरू करने वाले, बिग बुल राकेश झुनझुनवाला का आज यानी रविवार को निधन हो गया.

RARE Enterprises, अपनी और अपनी पत्नी रेखा के नाम के पहले दो अक्षर राकेश से ‘Ra’; रेखा से ‘Re’ को शामिल किया था. राकेश झुनझुनवाला ने एक इंटरव्यू में बताया था कि यह आइडिया उनकी पत्नी का ही था.

हाइलाइट्स

बिग बुल राकेश झुनझुनवाला का आज यानी रविवार को निधन हो गया.
फर्म का नाम RARE Enterprises रखने का आइडिया था पत्नी का.
झुनझुनवाला एक भारतीय अरबपति निवेशक और व्यापारी थे.

नई दिल्ली. RARE एंटरप्राइजेज को शुरू करने वाले, बिग बुल, द किंग ऑफ दलाल स्ट्रीट, शेयर मार्केट के बेताज बादशाह, भारत के वारेन बफेट जैसे कई अन्य नामों से भी मशहूर राकेश झुनझुनवाला का आज यानी रविवार को निधन हो गया है. राकेश कुमार राधेश्याम झुनझुनवाला एक भारतीय अरबपति निवेशक और व्यापारी थे. वे 62 साल के थे. पिछले महीने 5 जुलाई को उन्होंने अपना 62वां जन्मदिन मनाया था. झुनझुनवाला को इंडिया टुडे पत्रिका ने 2021 में “मौजूदा बुल रन का पिन-अप बॉय” और द इकोनॉमिक टाइम्स द्वारा “पाइड पाइपर ऑफ इंडियन बॉर” के रूप में वर्णित किया गया था.

झुनझुनवाला ने क्यों रखा अपने फर्म का नाम RARE

राकेश राधेश्याम झुनझुनवाला (Rakesh Radheshyam Jhunjhunwala) ने 1987 में मुंबई के अंधेरी में रहने वाली शेयर ब्रोकर रेखा झुनझुनवाला (Rekha Jhunjhunwala) से शादी की थी. सालों तक शेयर ब्रोकिंग के काम में लगे रहने के बाद 2003 में पत्नी रेखा के कहने पर राकेश झुनझुनवाला ने अपनी खुद की स्टॉक ट्रेडिंग फर्म रेयर एंटरप्राइजेज (RARE Enterprises) की स्थापना की, जिसे अपनी और अपनी पत्नी रेखा के नाम के पहले दो अक्षरों – राकेश से ‘Ra’; रेखा से ‘Re’ को शामिल किया था. राकेश झुनझुनवाला ने एक इंटरव्यू में बताया था कि यह आइडिया उनकी पत्नी का ही था.

ये भी पढ़ें- शेयर मार्केट के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का 62 वर्ष की उम्र में निधन, कई स्वास्थ्य समस्याओं से थे पीड़ित

पिताजी से मिली शेयर मार्केट की सीख

राकेश झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई 1960 में मुंबई में हुआ. जब राकेश 15-16 साल के थे तब उनके पिताजी का थोड़ा बहुत इंटेरेस्ट शेयर बाजार में था. उन्हें देख कर राकेश के मन में भी रुचि जागने लगी, तो एक दिन राकेश ने अपने पिताजी से पूछ लिया कि ये शेयर बाजार (Stock Market) में भाव ऊपर नीचे कैसे होते है. तो राकेश के पिताजी ने कहा – ” अख़बार पढ़ा कर, जिस कंपनी के बारे में न्यूज़ आई है, उस कंपनी के शेयर के भाव ऊपर नीचे होंगे” उस दिन राकेश को शेयर मार्केट के बारे में पहली सीख मिली थी. उसी उम्र से राकेश की रुचि भी शेयर मार्केट (Stock Investment) में बढ़ने लगी. वे अलग अलग कंपनियों के बारे में पढ़ने लगे और जानकारी लेने लगे.

ये भी पढ़ें- शेयर बाजार में झुनझुनवाला ने किससे सीखी ट्रेडिंग, अब क्या करते हैं उनके ‘गुरू’

राकेश झुनझुनवाला से जुड़ा एक इंटरेस्टिंग किस्सा

राकेश झुनझुनवाला अपने जीवन से जुड़े 1990 का बड़ा इंट्रेस्टिंग किस्सा साझा की थी. उनकी पत्नी रेखा ने उनसे एक डिमांड की थी. वह चाहती थी कि उनके कमरे में AC लग जाए. उस साल मधु दंडवते का बजट था. लोगों को लगा कि अच्छा नहीं होगा. लेकिन, राकेश झुनझुनवाला की नजर में कुछ अलग होने वाला था. तत्कालीन PM वीपी सिंह के फैसलों को बहुत बारीकी से ऑब्जर्व किया. उनके पास 3 करोड़ रुपए था. बजट के दिन उन्होंने सारे पैसे मार्केट में लगा दिए. जैसे-जैसे बजट आता रहा, राकेश के शेयरों की वैल्यू बढ़ती गई. नेटवर्थ देखी तो पता चला एक दिन में 20 करोड़ रुपए कमा चुके थे. रात को घर पहुंचकर अपनी पत्नी रेखा से बोले- अपना AC आ गया.

Tags: PM Modi, Rakesh Jhunjhunwala, Share market, Stock Markets

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर