अपना शहर चुनें

States

सऊदी अरब में अचानक क्यों लोग लाइन लगाकर खरीद रहे हैं सोना! कुछ ही दिनों में हुई करोड़ों की बिक्री

सऊदी अरब में अचानक लोगों में सोना, विभिन्‍न उपकरणों और इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स खराीदने की होड़ मची है.
सऊदी अरब में अचानक लोगों में सोना, विभिन्‍न उपकरणों और इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स खराीदने की होड़ मची है.

सऊदी अरब (Saudi Arabia) की सरकार कुछ वस्‍तुओं और सेवाओं पर वैल्‍यु एडेड टैक्‍स (VAT) 15 फीसदी कर रही है. दरअसल, सऊदी सरकार कोरोना वायरस और तेल की कीमतें गिरने से अर्थव्‍यवस्‍था को हुए नुकसान की भरपाई कई चीजों पर टैक्‍स बढ़ाकर करना चाहती है.

  • Share this:
जेद्दाह. सऊदी अरब में दुकानदारों के बीच भारी मात्रा में सोना खरीदने की होड़ मची है. इसके अलावा वे अप्‍लायंसेस और इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स आइटम्‍स की भी खरीदारी कर रहे हैं. दरअसल, सऊदी अरब (Saudi Arabia) में किसी भी वक्‍त बेसिक गुड्स पर टैक्‍स तीन गुना (Tripling of Taxes) किए जाने की घोषणा की जा सकती है. सऊदी सरकार कच्‍चे तेल (Crude Oil) की कीमतें गिरने और कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण देश की अर्थव्‍यवस्‍था (Economy) को हुए नुकसान की भरपाई सोना, विभिन्‍न उपकरणों और इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स पर टैक्‍स बढ़ाकर करना चाहती है.

सऊदी सरकार वैट बढ़ाकर कर रही है तीन गुना
सऊदी सरकार कुछ वस्‍तुओं और सेवाओं पर वैल्‍यु एडेड टैक्‍स (VAT) 5 से बढ़ाकर 15 फीसदी कर रही है, जो बुधवार यानी आज से लागू हो जाएगा. अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के हालिया अनुमान के मुताबिक, इस साल सऊदी अरब की अर्थव्‍यवस्‍था 6.8 फीसदी रह सकती है. सरकार की ओर से टैक्‍स में तीन गुना बढ़ोतरी की मार से बचने के लिए सऊदी के दुकानदारों, मॉल्‍स, सुपरमार्केट और कुछ कार डीलरशिप ने स्‍टॉक जमा कर लिया है. बता दें कि सऊदी में कोरोना वायरस के कारण लगाए गए कई हफ्तों के लॉकडाउन (Lockdown) और पाबंदियों के बाद अब कारोबारी गतिविधियां पटरी पर लौट रही हैं.

ये भी पढ़ें- चीनी कंपनियों को लगा बड़ा झटका! अब भारत में नहीं ले पाएंगी हाईवे प्रोजेक्ट, सरकार का फैसला
उपभोक्‍ता खर्च में दर्ज की गई 16 फीसदी कमी


पिछले कुछ हफ्तों के दौरान सऊदी में जिम, रेस्‍टोरेंट्स, कारोबार और लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदियों में ढील दी है. हालांकि, वहां कोरोना वायरस के कारण होने वाली मौतों की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है. सऊदी में अब तक 1,90,000 लोग कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 1,649 लोगों की मौत हो चुकी है. सिर्फ मंगलवार को ही गंभीर संक्रमण के कारण 50 लोगों की मौत हो गई. सरकार की ओर से छूट के बाद भी मई में उपभोक्‍ता खर्च पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले 16 फीसदी कम रहा है.

ये भी पढ़ें :- भारत की छोटी-मझौली कंपनियों की मदद के लिए आगे आया World Bank, देगा 5,625 करोड़ रुपये का लोन

हज यात्रा पर रोक के कारण आर्थिक नुकसान
कोरोना वायरस के कारण हज यात्रा पर भी रोक लगानी पड़ी. इस वजह से सऊदी अरब को काफी आर्थिक नुकसान हुआ. इस बार सऊदी में हज यात्रा जुलाई के आखिर में शुरू हो रही है. माना जा रहा है कि इस बार यात्रियों की संख्‍या काफी सीमित रहेगी. अधिकारियों के मुताबिक, इस बार करीब 1,000 लोगों को ही मक्‍का जाने की मंजूरी दी जाएगी. इसमें भी ज्‍यादातर लोग सऊदी अरब के ही होंगे. बता दें कि सामान्‍य तौर पर हर साल हज यात्रा के खास पांच दिनों में 25 लाख लोग इबादत करने के लिए मक्‍का पहुंचते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज