जानें Happiest Minds के IPO की क्‍यों रही जबरदस्‍त डिमांड, 151 गुना हुआ सब्सक्राइब

जानें Happiest Minds के IPO की क्‍यों रही जबरदस्‍त डिमांड, 151 गुना हुआ सब्सक्राइब
अईटी सर्विस प्रावाइडर Happiest Minds Technology का IPO बंद होने के दिन तक 151 गुना सब्‍सक्राइब हुआ.

हेप्पिएस्‍ट माइंड्स टेक्‍नोलॉजी (Happiest Minds) की डिजिटल बिजनेस से आय दिग्‍गज आईटी कंपनी इंफोसिस, कॉग्निजेंट और माइंडट्री से बहुत ज्यादा है. इन कंपनियों की आमदनी में डिजिटल बिजनेस की हिस्सेदारी 40-50 फीसदी है. कंपनी ने 7 से 9 सितंबर के लिए खुले इश्‍यू का प्राइस बैंड 165-166 रुपये तय किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2020, 10:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. आईटी सर्विस प्रोवाइडर हेप्पिएस्‍ट माइंड्स टेक्‍नोलॉजी (Happiest Minds Technology) का आईपीओ (IPO) आखिरी दिन तक 151 गुना सब्सक्राइब हुआ है. कंपनी ने इश्यू के जरिये 702 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्‍य रखा था. कंपनी ने शेयर का प्राइस बैंड (Price Band) 165-166 रुपये तय किया था. शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक, पहले दो घंटे में ही 2,32,59,550 शेयरों के लिए 2,37,01,590 आवेदन मिल गए थे. कंपनी की 97 फीसदी आमदनी डिजिटल बिजनेस (Digital Business) से आती है. कंपनी का इश्यू 7 से 9 सितंबर के लिए खुला था.

कई आईटी कंपनियों के मुकाबले ज्‍यादा है डिजिटल बिजनेस से आय
हेप्पिएस्‍ट माइंड्स टेक्‍नोलॉजी की डिजिटल बिजनेस से आय दिग्‍गज आईटी कंपनी इंफोसिस, कॉग्निजेंट और माइंडट्री के मुकाबले बहुत ज्यादा है. इन कंपनियों की आमदनी में डिजिटल बिजनेस की हिस्सेदारी सिर्फ 40-50 फीसदी है. बेंगलुरु की कंपनी Happiest Minds के संस्‍थापक सूटा ने कहा कि पारंपरिक के मुकाबले डिजिटल बिजनेस तेजी से बढ़ रहा है. कंपनी का बिजनेस एजुकेशनल टेक (EduTech) और हाई टेक वर्टिकल्स में ज्यादा है.

ये भी पढ़ें - पहले ही दिन 100% सब्सक्राइब हुआ Route Mobile IPO, 15 एंकर इंवेस्‍टर्स से जुटाए 180 करोड़
'कोविड-19 की चुनौतियों से निपटने को पूरी तरह तैयार है कंपनी'


सूटा ने कहा कि कंपनी कोरोना वायरस की चुनौतियों से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है, क्योंकि उसके 76 फीसदी कारोबार पर कोविड-19 (Covid-19) का कोई असर नहीं हुआ है. फिलहाल कंपनी के पास 148 कस्टमर हैं. कंपनी रिटेल (Retail), एडुटेक (Edutech), इंडस्ट्रियल (Industrial), बीएफएसआई (BFSI), हाईटेक (Hi-Tech) और इंजीनियरिंग सेक्टर (Engineering) को सेवाएं देती है.

ये भी पढ़ें- PNB का खास ऑफर! 31 दिसंबर तक मिल रहा है सस्ते में Home और Car Loan लेने का मौका

कंपनी ने 110 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्‍यू के लिए की थी पेशकश
वित्त वर्ष 2020 में कंपनी की बिक्री 714 करोड़ रुपये रही थी, जो वित्त वर्ष 2019 में 601 करोड़ रुपये थी. वित्त वर्ष 2020 में कंपनी का मुनाफा 71 करोड़ रुपये रहा, जो वित्त वर्ष 2019 में 14.2 करोड़ रुपये रहा था. इस IPO से कंपनी की 702 करोड़ रुपये जुटाने की योजना थी. आईपीओ की रकम का इस्तेमाल वर्किंग कैपिटल और सामान्य जरूरतों के लिए किया जाएगा. कंपनी ने 702 करोड़ रुपये के कुल आईपीओ साइज में 110 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू और 592 करोड़ रुपये के ऑफर फॉर सेल रखे थे. इसका मार्केट लॉट 90 शेयर का रखा गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज