• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • कोलकाता इनलैंड वाटरवेज इंफ्रास्ट्रक्चर का होगा आधुनिकीकरण, 3 करोड़ लोगों को मिलेगा सीधा फायदा

कोलकाता इनलैंड वाटरवेज इंफ्रास्ट्रक्चर का होगा आधुनिकीकरण, 3 करोड़ लोगों को मिलेगा सीधा फायदा

कोलकाता इनलैंड वाटरवेज इंफ्रास्ट्रक्चर को दुरुस्‍त किए जाने से उम्मीद की जा रही है कि पश्चिम बंगाल की अर्थव्यवस्था और जीडीपी का ग्राफ तेजी से बढ़ेगा.

वर्ल्‍ड बैंक (World Bank) पश्चिम बंगाल अंदर्देशीय जल मार्ग परिवहन (WB Inland Waterways) को आधुनिक बनाने के लिए भारत सरकार को 10.5 करोड़ डॉलर का कर्ज दे रही है. लॉजिस्टिक व स्थानिक विकास परियोजना (Logistics & SDP) मजबूत होने से यात्रियों और सामान की आवाजाही सस्ती, सुरक्षित तथा तेजी से हो पाएगी.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) की राजधानी कोलकाता (Kolkata) के लिए बड़ी खुशखबरी है. विश्व बैंक (World Bank) की मदद से कोलकाता में हुबली नदी पर पश्चिम बंगाल अंदर्देशीय जलमार्ग परिवहन (WB Inland Waterways) को आधुनिक बनाया जाएगा. इसके लिए वर्ल्‍ड बैंक भारत सरकार को 10.5 करोड़ डॉलर का कर्ज देगा. लॉजिस्टिक व स्थानिक विकास परियोजना (Logistics & SDP) मजबूत होने से यात्रियों और सामान की आवाजाही सस्ती, सुरक्षित तथा तेजी से हो पाएगी. इस आर्थिक सहायता के लिए वर्ल्‍ड बैंक और भारत सरकार ने आज समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं. वर्ल्‍ड बैंक के कर्ज का मैच्‍योरिटी पीरियड 17 साल का होगा, जिसमें 7 साल ग्रेस पीरियड शामिल है.

पश्चिम बंगाल की जीडीपी और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे
कोलकाता इनलैंड वाटरवेज इंफ्रास्ट्रक्चर को दुरुस्‍त किए जाने से उम्मीद की जा रही है कि पश्चिम बंगाल की अर्थव्यवस्था और जीडीपी का ग्राफ तेजी से बढ़ेगा. सामान और लोगों की सुरक्षित आवाजाही के लिए किफायती व पर्यावरण हितैषी ट्रांसपोर्ट विकल्प मिलेगा. कोलकाता मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में जॉब सेंटर और मार्केट बढ़ेंगे. हुबली नदी के आसपास रहने वालों को भी इससे सीधा लाभ मिलेगा. इस परियोजना के पूरा होने से शहरी क्षेत्रों समेत घनी आबादी वाले पश्चिम बंगाल के दक्षिणी जिलों को ज्‍यादा फायदा मिलेगा. बता दें कि प्रदेश की एक तिहाई आबादी यानी करीब 3 करोड़ लोग कोलकाता मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में रहते हैं.

ये भी पढ़ें- Future Group के किशोर बियानी ने कहा, RIL के साथ रिटेल एसेट्स के सौदे की Amazon को थी पूरी जानकारी

पश्चिम बंगाल में निवेश और औद्योगिक गतिविधियां बढ़ेगी
इनलैंड वाटरवेज इंफ्रास्ट्रक्चर दुरुस्‍त होने से पश्चिम बंगाल में निवेशकों के खुलकर निवेश करने की उम्‍मीद भी की जा रही है. फैक्ट्रियों मे्रं प्रोडक्‍शन बढ़ने के साथ-साथ अंतर्देशीय जलमार्ग सेवा बढ़ेगी. इस सब-रीजन में कोलकाता मेट्रोपोलिटन का क्षेत्र ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक का हब बनकर उभरेगा. ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर और पूर्वोत्तर राज्यों से सीधी कनेक्टिविटी होगी. यहीं नहीं भूटान और नेपाल से भी ट्रांसपोर्टेशन ज्‍यादा आसान हो जाएगा. मौजूदा फेरी सिस्टम को अगर देखें तो 2 फीसदी से भी कम यात्री और बहुत कम सामान की आवाजाही हो पाती है.

ये भी पढ़ें- RBI ने बजाज फाइनेंस पर ठोकी 2.5 करोड़ रुपये की पेनाल्‍टी, ग्राहकों की शिकायत पर हुई कार्रवाई

इस तरह इंफ्रास्ट्रक्चर को बनाया जाएगा आधुनिक
कोलकाता इनलैंड वाटरवेज इंफ्रास्ट्रक्चर को चरणबद्ध तरीके से आधुनिक बनाया जाएगा. पहले चरण में इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्टेशन सिस्‍टम की सेफ्टी को बेहतर बनाया जाएगा. इसमें मौजूदा घाटों का पुनरुद्धार शामिल है. जरूरत के मुताबिक नए डिजाइनों की नई नौकाएं खरीदी जाएंगी. साथ ही 40 जगहों पर इलेक्ट्रॉनिक गेट्स बनाए जाएंगे. दूसरे चरण में यात्रियों की आवाजाही बढ़ाने के लिए दीर्घकालीन निवेश को प्रोत्साहन दिया जाएगा. इसके तहत टर्मिनल और घाटों को दुरुस्त किया जाएगा.अंतर्देशीय जल मार्ग ट्रांसपोर्ट के डिजाइन में बदलाव किए जाएंगे. इसके अलावा निजी कंपनियों को प्रोत्साहित किया जाएगा कि वे रो-रो वेसेल में निवेश करें. क्लाइमेट स्मार्ट इंजीनियरिंग सॉल्‍यूशन का इस्तेमाल किया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज