लाइव टीवी

कोटक महिंद्रा बैंक RBI के खिलाफ कोर्ट केस वापस लेगा, प्रमोटर्स की हिस्‍सेदारी 26% करने की मिली मंजूरी

News18Hindi
Updated: January 30, 2020, 7:47 PM IST
कोटक महिंद्रा बैंक RBI के खिलाफ कोर्ट केस वापस लेगा, प्रमोटर्स की हिस्‍सेदारी 26% करने की मिली मंजूरी
कोटक महिंद्रा बैंक प्रमोटर्स की शेयरहाल्डिंग कम करने को लेकर आरबीआई के खिलाफ बॉम्‍बे हाईकोर्ट में दायर मुकदमा वापस लेगा.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से प्रमोटर्स की शेयरहाल्डिंग (Shareholding) कम करने की सैद्धांतिक मंजूरी मिलने के बाद कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) अब केंद्रीय बैंक के खिलाफ बॉम्‍बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) में दायर मुकदमा वापस लेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2020, 7:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) ने कहा है कि प्रमोटरों की हिस्‍सेदारी कम करने को लेकर बॉम्‍बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के खिलाफ दायर मुकदमा वापस लेगा. बैंक ने बताया कि उसे आरबीआई की अंतिम मंजूरी मिलने के छह महीने के भीतर प्रमोटर की हिस्‍सेदारी घटाकर 26 फीसदी करने के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई है. आरबीआई ने कोटक महिंद्रा बैंक से कहा था कि वह प्रमोटरों की शेयरहोल्डिंग 31 दिसंबर, 2018 तक घटाकर पेड-अप वोटिंग इक्विटी शेयर कैपिटल (PUVESC) के 20 प्रतिशत पर ले आए. इसके बाद 31 मार्च, 2020 तक इसे 15 फीसदी तक लाए.

प्रमोटर्स नहीं खरीद पाएंगे बैंक के पीयूवीईएससी
कोटक महिंद्रा बैंक की ओर से बताया गया है कि हमारे प्रस्‍ताव के मुताबिक आरबीआई ने 31 मार्च, 2020 तक बैंक में प्रमोटर्स के वोटिंग अधिकार पेड-अप कैपिटल के 20 फीसदी तक सीमित करने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है. साथ ही केंद्रीय बैंक की अंतिम मंजूरी के छह महीने के भीतर प्रमोटर्स की बैंक में शेयरहोल्डिंग (Shareholding) को घटाकर पेड-अप कैपिटल की 26 फीसदी करने की मंजूरी दे दी है. वहीं, 1 अप्रैल 2020 के बाद प्रमोटर्स के वोटिंग अधिकार (Voting Rights) बैंक के पेड-अप कैपिटल के 15 फीसदी के बराबर कर दिए जाएंगे. इसके बाद प्रमोटर्स तब तक बैंक के पीयूवीईएससी नहीं खरीद सकेंगे, जब तक कि उनकी शेयरहोल्डिंग बैंक की पीयूवीईएससी की 15 फीसदी नहीं हो जाती.

आरबीआई चाहे तो प्रमोटर्स को भविष्‍य में ज्‍यादा पीयूवीईएससी खरीदने की मंजूरी भी दे सकता है. इसके अलावा ये केंद्रीय बैंक पर निर्भर है कि प्रमोटर्स को इन शेयर्स के आधार पर वोटिंग अधिकार दिया जाए या नहीं.


प्रमोटर को वोटिंग अधिकार आरबीआई पर निर्भर
आरबीआई ने प्रवर्तकों को बैंक के पीयूवीईएससी के 15 फीसदी के बराबर पेड-अप वोटिंग इक्विटी शेयर खरीदने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है. आरबीआई चाहे तो प्रमोटर्स को भविष्‍य में ज्‍यादा पीयूवीईएससी खरीदने की मंजूरी भी दे सकता है. इसके अलावा ये केंद्रीय बैंक पर निर्भर है कि प्रमोटर्स को इन शेयर्स के आधार पर वोटिंग अधिकार दिया जाए या नहीं. कोटक महिंद्रा बैंक ने बताया कि हमारे बोर्ड डायरेक्‍टर्स (Board of Directors) इसका पालन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. लिहाजा, बैंक बॉम्‍बे हाईकोर्ट में आरबीआई के खिलाफ दायर मुकदमा वापस लेगा. बैंक के एमडी और सीईओ उदय कोटक (Uday Kotak) की 31 दिसंबर, 2018 तक बैंक में हिस्सेदारी 29.72 फीसदी थी.

कोटक महिंद्रा बैंक को RBI ने बैकिंग लाइसेंस देते वक्त यह शर्त थी कि प्रमोटर को एक निश्चित समय अवधि में अपनी शेयर होल्डिंग घटानी होगी. आरबीआई की ओर से कई बार यह समय सीमा बढ़वाई गई.
बीएसई में KMB का शेयर गिरकर हुआ बंद
कोटक महिंद्रा बैंक को RBI ने बैकिंग लाइसेंस देते वक्त यह शर्त थी कि प्रमोटर को एक निश्चित समय अवधि में अपनी शेयर होल्डिंग घटानी होगी. आरबीआई की ओर से कई बार यह समय सीमा बढ़वाई गई. लेकिन फरवरी 2017 में आरबीआई ने कोटक महिंद्रा बैंक को एक टाइमलाइन दी जिसमें प्रमोटर की शेयर होल्डिंग घटाई जानी है. इसके तहत दिसंबर तक उदय कोटक को अपनी शेयर होल्डिंग घटा कर 20 फीसदी करनी होगी. वहीं कोटक महिंद्रा बैंक ने आरबीआई को यह प्रस्ताव दिया था कि प्रमोटर होल्डिंग घटाकर 19.7 प्रतिशत करने के लिए उसे नॉन-क्युमुलेटिव प्रेफरेंस शेयर जारी करने की इजाजत दी जाए. बैंक ने आरबीआई के इस मामले को बॉम्बे हाई कोर्ट में चैलेंज किया था. बीएसई में कोटक महिंद्रा बैंक का शेयर बृहस्‍पतिवार को 0.80 फीसदी गिरकर 1628.10 रुपये पर बंद हुआ.

ये भी पढ़ें:

अमेरिका के बड़े बैंक Bank Of America ने भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था को बताया मजबूत!

खराब व्यवहार वाले यात्री ट्रेन में नहीं कर सकेंगे सफर, रेलवे ला रहा नया नियम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 7:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर