लाइव टीवी

किसानों को मिलेंगी खेती से मालामाल होने की जानकारियां, बड़े काम का है मोदी सरकार का ये नया ऐप!

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: October 18, 2019, 1:53 PM IST
किसानों को मिलेंगी खेती से मालामाल होने की जानकारियां, बड़े काम का है मोदी सरकार का ये नया ऐप!
आपके मोबाइल फोन पर घर बैठे मिलेंगी खेती से मालामाल होने की जानकारियां!

कृषि किसान ऐप (Krishi Kisan App) के जरिए आपको घर बैठे वो सभी जानकारियां मिलेंगी. जिनके जरिए किसान अपनी आमदनी को कई गुना तक बढ़ा सकते है. आइए जानें कृषि किसान ऐप से जुड़ी सभी काम की बातें...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 1:53 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government)  ने खेती-किसानी (Indian Farmer) को आसान बनाने और किसानों की आमदनी को कई गुना बढ़ाने के लिए एक ऐसा मोबाइल ऐप कृषि किसान ऐप (Krishi Kisan App) लॉन्च किया है. जिससे वो घर बैठे ऐसी जानकारियां ले पाएंगे जो उन्हें अब तक कृषि अधिकारी के पास भी नहीं होती था. जो स्कीमें फाइलों में ही दम तोड़ देती थीं, उसकी जानकारी सीधे मोबाइल पर पहुंचेगी. इसका नाम कृषि किसान ऐप (Krishi Kisan App) है. जिसे कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने लॉन्च किया है. नेशनल फूड सिक्योरिटी मिशन से जुड़े कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी ने न्यूज18हिंदी को इसकी विस्तार से जानकारी दी. इस ऐप से किसानों को तीन बड़ी चीजों का पता चलेगा.


आइए जानें Krishi Kisan App से जुड़ी सभी जानकारियां...

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, कृषि किसान ऐप में सरकार के पास जियो-टैग युक्त फसल डेमो खेत और बीज केन्द्र हैं. यह ऐप न केवल उनके प्रदर्शन को दिखा सकता है बल्कि किसानों को उसका फायदा उठाने में मदद करेगा. अधिकारी ने कहा कि बीज के मिनी किट बीज की संख्या बढ़ाने के लिए किसानों को वितरित किए जा रहे हैं और अब जब वे ‘जियो-टैग युक्त’ हैं तो सरकार यह पता लगा सकती है कि मिनी किट का उपयोग किया जा रहा है या नहीं.

(1) खेती का वैज्ञानिक डेमोस्ट्रेशन- इसके तहत किसानों को अपने एरिया में वैज्ञानिक खेती के डेमोस्ट्रेशन का पता चलेगा. मालूम होगा कि उनके आसपास कहां पर वैज्ञानिक तरीके से खेती होती है. यह भारत सरकार की एक ऐसी की स्कीम है जिसके तहत किसान किसी रिसर्च सेंटर की बजाए अपने आसपास खेती का वैज्ञानिक मॉडल देख पाएगा. देख और समझ पाएगा कि कैसे किसी फसल की अच्छी पैदावार ली जा सकती है.



>> अगर आप किसान हैं और अपने खेत को किसी फसल के रिसर्च के एक मॉडल के तौर पर पेश करना चाहते हैं तो अब वैज्ञानिकों की गाइडलाइन में यह संभव हो पाएगा.

>> आपको वैज्ञानिक खेती करने के लिए सरकार पैसे देगी, जिसमें वैज्ञानिक तय करेंगे कि कितनी खाद, कितना पानी और कितना कीटनाशक डालना है. फसल की वैरायटी भी वही तय करेंगे.
Loading...

>> इस तरह आपका भी खेत दूसरे किसानों को मॉडल के तौर पर दिखाने के लिए रजिस्टर्ड हो जाएगा. कृषि किसान ऐप में यह बताया गया कि फिलहाल किस राज्य में कहां पर कौन सी फसल का डेमो आप देख सकते हैं. प्रैक्टिकल देखेंगे तो आप भी अपनी खेती अच्छी तरह से कर पाएंगे.

(2) सीड हब- इस ऐप में देशभर के सीड हब के बारे में भी बताया गया है. इसके तहत देशभर में फैले 150 सीड हब की जानकारी आप ले सकते हैं. जिसके तहत वैज्ञानिक आपको दलहन की कोई वैरायटी का बीज दे कर अपनी गाइडलाइन में आपके खेत में उसकी खेती करवाएंगे. जब वैज्ञानिकों की देखरेख में खेती होगी तो लाभ तो मिलेगा ही.

(3) मिनी किट डिस्ट्रीब्यूशन-ज्यादातर किसानों को इसकी जानकारी नहीं होगी कि सरकार किसानों के लिए नाममात्र के पैसे पर अच्छा बीज और अच्छी खाद उपलब्ध करवाती है. किसानों को अपने जिले में यह सुविधा कब और कहां मिलेगी, कृषि किसान ऐप आपको यह जानकारी देगा.

ये भी पढ़ें:

1 अक्टूबर से बदल रही है आम आदमी की जरूरत से जुड़ी ये 10 चीजें, ये होगा असर

सुकन्या, PPF, NSC में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर! सरकार 30 सितंबर को ले सकती है ये फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इनोवेशन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 6:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...