होम /न्यूज /व्यवसाय /

Krishna Janmashtami : जन्‍माष्‍टमी पर मथुरा जाने का बना रहे प्‍लान तो जान लें कितना आएगा खर्च, कहां रहना होगा सबसे सस्‍ता

Krishna Janmashtami : जन्‍माष्‍टमी पर मथुरा जाने का बना रहे प्‍लान तो जान लें कितना आएगा खर्च, कहां रहना होगा सबसे सस्‍ता

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार इस बार 19 अगस्त को मनाया जाएगा.

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार इस बार 19 अगस्त को मनाया जाएगा.

जन्‍माष्‍टमी (Krishna Janmashtami ) महोत्‍सव में शामिल होने के लिए देशभर से श्रद्धालु मथुरा (Janmashtami in Mathura) आते हैं. सड़क मार्ग से दिल्‍ली से मथुरा का सफर ढाई से तीन घंटे का है. आप यमुना एक्सप्रेस वे से बस या खुद की गाड़ी से मथुरा जा सकते हैं. इसके अलावा रेलमार्ग से भी मथुरा जुड़ा है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

जन्माष्टमी पर भक्त जन्मोत्सव में शामिल होने के लिए देशभर से मथुरा आते हैं.
सड़क मार्ग से दिल्‍ली से मथुरा का सफर ढाई से तीन घंटे का है.
मथुरा में बड़ी संख्‍या में होटल, लॉज और धर्मशालाएं हैं.

नई दिल्‍ली. वैसे तो कृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami ) की धूम पूरे देश में रहती है लेकिन जहां कान्हा का जन्म हुआ, वहां का नजारा ही कुछ अलग होता है. श्रीकृष्ण का जन्म मथुरा में हुआ था और बचपन गोकुल वृंदावन में बीता. बरसाना में राधा रानी रहती थीं. ऐसे में उत्तर प्रदेश की इन जगहों पर कृष्ण जन्माष्टमी का बहुत ही भव्य उत्सव होता है. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार इस बार 19 अगस्त को मनाया जाएगा.

इस खास दिन भगवान श्रीकृष्ण के भक्त जन्मोत्सव में शामिल होने के लिए देशभर से मथुरा आएंगे. सड़क मार्ग से दिल्‍ली से मथुरा का सफर ढाई से तीन घंटे का है. आप यमुना एक्सप्रेस वे से बस या खुद की गाड़ी से मथुरा जा सकते हैं. इसके अलावा रेलमार्ग से भी मथुरा जुड़ा है. इसलिए मथुरा जाना काफी आसान है.

ये भी पढ़ें-  फाइनेंशियल फ्रीडम पाना चाहते हैं तो जरूर पढ़ें यह स्टोरी, हो सकता है बदल जाए आपकी लाइफ!

कहां ठहरें?
मथुरा देश का प्रमुख धार्मिक स्‍थल है. पूरा साल यहां श्रद्धालु आते हैं. इसलिए यहां बड़ी संख्‍या में होटल, लॉज और धर्मशालाएं हैं. लेकिन, अगर आप जन्‍माष्‍टमी पर मथुरा-वृंदावन यात्रा का प्‍लान बना रहे हैं तो पहले ही किसी होटल में बुकिंग करा लें. ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जन्‍माष्‍टमी पर यहां पूरे देश से कृष्‍ण भक्‍त आते हैं और बहुत ज्‍यादा भीड़ होती है. इसलिए ऐन वक्‍त पर रहने की जगह मिलने में मुश्किल भी हो सकती है. होटल, आश्रम और गेस्‍ट हाउस की जानकारी आप मथुरा प्रशासन की आधिकारिक वेबसाइट https://mathura.nic.in/ पर प्राप्‍त कर सकते हैं.

कितना होगा खर्च?
मथुरा में रहने और खाने का खर्च अधिक नहीं है. लेकिन जन्माष्टमी पर यहां होटल और गेस्‍ट हाउस के कमरों का किराया ज्‍यादा हो जाता है. यहां आपको आश्रम या धर्मशाला में 500 रुपये में कमरा मिल जाएगा. वहीं होटल में 1500 रुपये से लेकर 3000 रुपये तक में कमरा मिल जाएगा. हां, अगर आप होटल में कमरा पहले बुक कराते हैं और आप अपनी गाड़ी से जा रहे हैं तो होटल में पार्किंग है या नहीं, यह जरूर कन्‍फर्म कर लें. होटल की बजाय अगर आप किसी आश्रम या धर्मशाला में ठहरेंगे तो आपको कम पैसे देने होंगे.

ये भी पढ़ें- Bank FD : अब यह बैंक देगा फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर ज्‍यादा ब्‍याज, ग्राहकों को मिलेगा 7.5% तक रिटर्न

आराम से मिल जाते हैं रिक्‍शा और टैक्‍सी
मथुरा-वृंदावन में कहीं आने-जाने में ज्‍यादा दिक्‍कत नहीं होती है क्‍योंकि यहां रिक्‍शा, ई-रिक्‍शा और टैक्‍सी आसानी से मिल जाती है. 300 से 500 रुपये में ई रिक्शा में आप 5 से 6 प्रसिद्ध मंदिरों के दर्शन कर सकते हैं.

क्‍या अपनी गाड़ी लेकर जाएं?
जन्‍माष्‍टमी पर अगर आप अपनी गाड़ी से मथुरा-वृंदावन जाते हैं तो आपको अपनी गाड़ी होटल या धर्मशाला में ही खड़ी करनी होगी. इसमें आप वहां घूम नहीं सकते. इसका कारण है वहां होने वाली भारी भीड़. मथुरा में घूमने के लिए आपको या तो पैदल चलना पड़ेगा या फिर रिक्‍शा या टैक्‍सी का सहारा लेना होगा. भीड़ की वजह से जाम लगता है और पार्किंग की भी काफी दिक्‍कत होती है. इसलिए जन्‍माष्‍टमी पर मथुरा जाने अपनी निजी गाड़ी से जाने का प्रोग्राम सोच-समझकर और भीड़ को ध्‍यान में रखकर ही बनाएं.

ये भी पढ़ें- SBI Home Loan : एसबीआई ग्राहकों को बड़ा झटका, बैंक ने 0.50 फीसदी महंगा किया होम लोन, अब कितना पहुंचा ब्‍याज?

खास की गई हैं तैयारियां
प्रशासन ने इस बार जन्‍माष्‍टमी को धूमधाम से मनाने के लिए खास प्रबंध किए हैं. मथुरा में 19 स्थानों पर सेल्फी प्वाइंट बनाए जाएंगे. 16 स्थानों पर लोक संस्कृति के प्रदर्शन के लिए छोटे मंच बनेंगे और 16 घाट और चौराहों पर शानदार लाइटिंग की जाएगी.

यहां जरूर जाएं
मथुरा और इसके आसपास काफी दर्शनीय स्‍थल हैं. इनमें कृष्णजन्म भूमि, बांके बिहारी मंदिर, रंगनाथ मंदिर, प्रेम मंदिर, द्वारिकाधीश मंदिर, निधिवन, गोवर्धन पर्वत, कुसुम सरोवर और यमुना घाट प्रमुख है.

Tags: Business news in hindi, Janmashtami, Sri Krishna Janmashtami

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर