लाइव टीवी

KYC कराने के लिए अब नहीं जाना होगा बैंक! RBI ने बदला सबसे बड़ा नियम

News18Hindi
Updated: January 10, 2020, 12:52 PM IST
KYC कराने के लिए अब नहीं जाना होगा बैंक! RBI ने बदला सबसे बड़ा नियम
KYC कराने के लिए अब नहीं जाना होगा बैंक!

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने मास्टर केवाईसी (KYC) गाइडलाइंस में संशोधन किया है यानी अब केवाईसी की प्रक्रिया मोबाइल वीडियो बातचीत के आधार पर हो सकेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2020, 12:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. RBI ने की KYC से जुड़े नए नियम की घोषणा की है. इसके मुताबिक, अब वीडियो के जरिये बैंक अपने ग्राहकों की केवाईसी (नो योर कस्टमर) कर सकेंगे. रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने मास्टर केवाईसी (KYC) गाइडलाइंस में संशोधन किया है यानी अब केवाईसी की प्रक्रिया मोबाइल वीडियो बातचीत के आधार पर हो सकेगी. केंद्रीय बैंक द्वारा रेगुलेट किए जाने वाले बैंकों, गैरबैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC), वॉलेट सर्विस प्रोवाइडर्स और अन्य वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों के लिए यह बड़ी राहत की बात है. दूरदराज के इलाकों में रहने वाले ग्राहकों को अब आसानी होगी और खर्च भी घटेगा. इसके अलावा केंद्रीय बैंक ने आधार और अन्य ई-दस्तावेजों के जरिये ई-केवाईसी तथा डिजिटल केवाईसी की सुविधा दी है.

इसलिए शुरू की यह सुविधा
आरबीआई के इस कदम से भारतीय बाजार उन चुनिंदा बाजारों में शामिल हो गया है जहां नियमों में संशोधन कर वीडियो केवाईसी को मंजूरी दी गई है. केवाईसी नियमों में संशोधन के आरबीआई केे नोटिफिकेशन के मुताबिक, केंद्रीय बैंक ने वीडियो आधारित कस्टमर आइडेंटिफिकेशन प्रॉसेस (VCIP) को ग्राहक अनुमति आधारित वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में पेश किया है ताकि कस्टमर्स की पहचान करना आसान हो सके.

HDFC बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी! पहली बार मिलेंगी ये सुविधाएं

ऐसे होगी वीडियो केवाईसी?
इस प्रावधान के तहत दूरदराज के इलाकों में मौजूद फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन का अधिकारी पैन या आधार कार्ड और कुछ सवालों के जरिये ग्राहक की पहचान कर सकेंगे. एजेंट को सुनिश्चित करना होगा कि वह देश में ही मौजूद है. ऐसा करने के लिए कस्टमर की जियो लोकेशन को कैप्चर करना होगा.

जानें शर्तेंकेवाईसी के लिए वीडियो कॉल संबंधित बैंक के डोमेन से किया जाना चाहिए, न कि गूगल ड्यूओ या वॉट्सऐप जैसे थर्ड पार्टी सोर्स के जरियेे. एक्सपर्ट्स का कहना है कि बैंकों को वीडियो केवाईसी प्रॉसेस शुरू करने से पहले अपनी ऐप्लिकेशन्स और वेबसाइट को लिंक करना होगा. नोटिफिकेशन के मुताबिक, VCIP की प्रक्रिया इस काम के लिए ट्रेंड अधिकारियों से ही करवाया जाना चाहिए.

हर महीने होगी 50000 से ज्यादा की कमाई, 4 लाख में शुरू करें ये बिजनेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 10, 2020, 11:27 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर