Home /News /business /

land prices in hiked by 30 percent in noida after 3 year check how much land can you buy in rs 10 lakh mbh

नोएडा में अब ₹10 लाख में आप खरीद सकेंगे कितनी जमीन, अथॉरिटी ने बढ़ी दी हैं कीमतें

गुरुवार को हुई 205वीं बोर्ड बैठक में यह फैसला लिया गया है.

गुरुवार को हुई 205वीं बोर्ड बैठक में यह फैसला लिया गया है.

Property Price Hike : नोएडा प्राधिकरण ने आवासीय संपत्तियों के आधार पर पूरे शहर को छह कैटेगरी में बांटा है. इसमे कैटेगरी A+, जिसमें सेक्टर -14 A, 15 A, 44 के केवल A और B ब्लॉक शामिल हैं.

हाइलाइट्स

नोएडा में जमीन की कीमत वर्तमान में 1,75,000 प्रति वर्ग मीटर चल रही है.
E कैटेगरी की कीमतों को बढ़ाकर 41,250 रुपये प्रति वर्ग मीटर कर दिया है.
कचरे के निपटान की समस्याओं को हल करने के लिए भी प्लान बनाया गया है.

नई दिल्ली. नोएडा में अब जमीन खरीदना पहले से काफी महंगा हो गया है. नोएडा प्राधिकरण ने शहरों में जमीन की कीमत 30 प्रतिशत तक बढ़ा दी हैं. प्राधिकरण के अध्यक्ष अरविंद कुमार की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई 205वीं बोर्ड बैठक में यह फैसला लिया गया है. कीमतों में बढ़ोतरी कैटेगरी के हिसाब से 20% से 30% तक की गई है. प्राधिकरण ने आवासीय संपत्तियों के आधार पर पूरे शहर को छह कैटेगरी में बांटा है.

इसमे कैटेगरी A+, जिसमें सेक्टर -14 A, 15 A, 44 के केवल A और B ब्लॉक शामिल हैं. इस बार, A+ कैटेगरी के लिए रेट में बदलाव नहीं किया गया है. इन इलाकों में कीमत वर्तमान में 1,75,000 प्रति वर्ग मीटर चल रही है.

ग्रुप हाउसिंग रेट में 20 फीसदी बढ़ी
प्राधिकरण ने कैटेगरी A से D कैटेगरी की कीमतों में 20% और E कैटेगरी की कीमतों को पहले के 36,200 रुपये से बढ़ाकर 41,250 रुपये प्रति वर्ग मीटर कर दिया है. इसमें कहा गया है कि ग्रुप हाउसिंग रेट में 20 फीसदी और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी रेट्स में फेज 2 में 30 फीसदी की बढ़ोतरी बोर्ड मीटिंग के मुताबिक की गई है. इसके अलावा आईटी और आईटीईएस के फेस 1 और फेस 3 के जमीन के कीमतों में 20%, जबकि फेस टू में 30% की वृद्धि की गई है.

ये भी पढ़ें- अब किरायेदारों को भी चुकाना होगा 18 फीसदी GST, जानिए क्या कहते हैं नए नियम

कोरोना के चलते बिल्डर को अलॉटमेंट में 6 महीने की छूट
बैठक में कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते बिल्डर्स को अलॉटमेंट के लिए छह महीने की छूट दी गई है. बोर्ड ने कहा कि आवासीय और समूह आवास संपत्तियों के लिए विस्तार शुल्क को युक्तिसंगत बनाया गया है और इसे 10% तक सीमित कर दिया गया है. नोएडा प्राधिकरण ने यह भी कहा कि बोर्ड की बैठक में बायोडायवर्सिटी, मेडिसिनल पार्क (सेक्टर-91), एक्सप्रेस व्यू पार्क (सेक्टर-93), शहीद भगत सिंह पार्क (सेक्टर-150) में दुकानों के आवंटन को भी मंजूरी दे दी गई है.

ये भी पढ़ें- Online Fraud: महिला को 5.35 लाख रुपये की पड़ी एक बोतल व्हिस्‍की, झांसा देकर ठगों ने ऐसे खाते से उड़ाए पैसे

कृत्रिम चिड़ियाघर बनाने को मंजूरी
शहर के कचरे के निपटान की समस्याओं को हल करने और इसे प्रदूषण मुक्त रखने के उद्देश्य से सेक्टर-94 94 में ‘कृत्रिम चिड़ियाघर के नेचर ट्रेल’ की थीम पर आधारित ‘वेस्ट टू वंडर’ पार्क विकसित करने का प्रस्ताव भी रखा गया है. इसके अलावा प्राधिकरण ने पिछली हाउसिंग ओटीएस योजना के तहत आवेदनों को फिर से आमंत्रित करने का भी निर्णय लिया है और पहले आवंटित औद्योगिक संपत्तियों में डेटा केंद्रों के विकास से संबंधित नीति को मंजूरी दी गई है.

Tags: Business news, Business news in hindi, Noida news, Price Hike, Property investment, Property market

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर