ITR फाइल करने का आज है आखिरी दिन, नहीं भरा तो लगेगा 10000 तक का जुर्माना साथ ही होंगी ये दिक्कतें

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 5:24 AM IST
ITR फाइल करने का आज है आखिरी दिन, नहीं भरा तो लगेगा 10000 तक का जुर्माना साथ ही होंगी ये दिक्कतें
ITR फाइल कर लें वरना आपको होगा भारी नुकसान

31 अगस्त को इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने का आखिरी दिन है. यह डेडलाइन अब आगे नहीं बढ़ने वाली है. इसलिए जितना जल्दी हो सके उतनी जल्दी ITR फाइल कर लें वरना आपको होगा भारी नुकसान. आइए आपको बताते हैं इससे जुड़े नुकसानों के बारे में..

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2019, 5:24 AM IST
  • Share this:
आज यानी 31 अगस्त को इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने का आखिरी दिन है. जिसमें अब कुछ ही घंटे बाकि हैं. यह डेडलाइन अब आगे नहीं बढ़ने वाली है. इसलिए जितना जल्दी हो सके उतनी जल्दी ITR फाइल कर लें वरना आपको होगा भारी नुकसान. आइए आपको बताते हैं इससे जुड़े नुकसानों के बारे में.. ITR नहीं भरने पर देना होगा जुर्माना. इनकम टैक्स कानून में केंद्र सरकार ने एक नया सेक्शन 234F जोड़ा है. इस सेक्शन के मुताबिक आखिरी तारीख के बाद इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने पर 10,000 रुपये तक का जुर्माना देना होगा.

अगर आपने 31 अगस्‍त तक रिटर्न दाखिल नहीं किया तो आपको 5,000 रुपये तक जुर्माना भरना पड़ सकता है.  हालांकि 5,000 रुपये जुर्माना सिर्फ उन्हीं टैक्‍सपेयर्स को भरना पड़ेगा जिनकी टैक्‍स योग्य इनकम वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 5 लाख रुपये से अधिक रही है. जिनकी टैक्‍स योग्य इनकम उक्त वित्त वर्ष के दौरान पांच लाख रुपये से कम है, उनको 31 अगस्त के बाद सिर्फ 1,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें: 1 सितंबर से चीन को पाकिस्तान की वजह से भारत देगा ये झटका!

चुकाना होगा ब्याज- अगर कोई करदाता वेतन से कमाई नहीं करता तो भी देर से इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करने पर ब्याज चुकाना होगा.

आईटीआर देरी के बाद कैसे फाइल करें- इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया समय पर आईटीआर फाइल करने जैसी ही है. खास बात यह है कि आयकर रिटर्न फाइल करते वक्त जब फॉर्म चुनें तो 'रिटर्न फाइल अंडर सेक्शन 139(4) चुनें. अगर आप देर से इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर रहे हैं तो भी इसे रिवाइज कर सकते हैं. आईटीआर की डेडलाइन पास होने के बाद रिटर्न फाइल करने पर आपको कुछ सुविधाएं नहीं मिलेंगी और जुर्माना भी चुकाना होगा.

ये भी पढ़ें: बदल चुके हैं ESIC के नियम, जानें कैसे उठाएं फायदा

पांच लाख रुपये से अधिक आय वाले टैक्‍सपेयर्स को एक सितंबर से लेकर 31 दिसंबर 2019 तक रिटर्न दाखिल करने पर 5,000 रुपये और उसके बाद एक जनवरी 2020 से लेकर 31 मार्च 2020 तक आयकर रिटर्न दाखिल करने पर 10,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा.  वहीं जिनकी आय पांच लाख रुपये से कम है उनको 31 अगस्त 2019 के बाद 31 मार्च 2020 तक आयकर रिटर्न दाखिल करने पर सिर्फ 1,000 रुपये ही जुर्माना भरना पड़ेगा.
Loading...

करना होगा वैरीफाई भी- रिटर्न वेरीफाई करने के बाद उस रिटर्न को बाद में आपको वेरीफाई भी करना जरूरी होता है. अब आप अपने आधार नंबर के जरिए ही ITR वेरीफाई करा सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 5:24 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...