लाइव टीवी

गर्मियां शुरू होने से पहले सरकार ने बदले AC के इस्तेमाल से जुड़े नियम! हर महीने बचेंगे पैसे

News18Hindi
Updated: January 7, 2020, 7:36 PM IST
गर्मियां शुरू होने से पहले सरकार ने बदले AC के इस्तेमाल से जुड़े नियम! हर महीने बचेंगे पैसे
अब 24 डिग्री पर ही चलेंगे AC

नए नियमों के मुताबिक एसी ऑन करने पर उसकी डिफॉल्ट सेटिंग 24 डिग्री ही होगी फिर आप सहूलियत के हिसाब से उसमें बदलाव कर सकते हैं. बिजली बचत के लिए सरकार ने फैसला लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2020, 7:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इस साल जब आप गर्मी से निजात पाने के लिए नया एयरकंडीशनर (AC) खरीदेंगे तो वह 24 डिग्री सेल्सियस तापमान पर शुरू होगा. सभी कंपनियों के सभी तरीकों के एसी (AC) में डिफॉल्ट तापमान 24 डिग्री सेट रहेगा. ऊर्जा मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी किया है. नये साल में नये सेटिंग के साथ ही एसी की मैन्युफैक्चरिंग होगी. सभी ब्रांड के स्टार रेटिंग वाले एसी के लिए नोटिफिकेशन जारी किए गए हैं. नये नियम 1 जनवरी 2020 से लागू हो गए हैं. आपको बता दें कि सरकार के इस फैसले से एसी के जरिए बिजली की खपत कम होगी. लिहाजा, आपका बिजली बिल घट जाएगा. ऐसे में हर महीने आपके पैसे बचेंगे.

ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशियंसी (BEE) के साथ मिलकर सरकार ने रूम एयर कंडीशनर्स के लिए एनर्जी परफॉरमेंस स्टैंडर्ड तय किया है. BEE से स्टार रेटिंग पाने वाने सभी रूम एयर कंडीशनर्स के लिए 24 डिग्री की डिफॉल्ट सेटिंग अनिवार्य की गई है. इस साल 1 जनवरी से यह डिफॉल्ट तापमान अनिवार्य कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: सोने की कीमतों में आया बड़ा उछाल, इतिहास में अब तक का सबसे महंगा हुआ Gold

नए नियमों के मुताबिक एसी ऑन करने पर उसकी डिफॉल्ट सेटिंग 24 डिग्री ही होगी फिर आप सहूलियत के हिसाब से उसमें बदलाव कर सकते हैं. बिजली बचत के लिए सरकार ने फैसला लिया है. सभी मैन्युफैक्चर्स के लिए नये नियम एक जनवरी 2020 से आवश्यक किए गए हैं. पिछले साल इसे वॉलेंटरी रूप से लागू किया गया था.



ऊर्जा की बचत करेगी डिफॉल्ट सेटिंग
बीईई ने फिक्स्ड-स्पीड रूम एयर कंडीशनर्स के लिए 2006 में स्टार लेबलिंग प्रोग्राम लॉन्च किया था, जिसे 12 जनवरी, 2009 में अनिवार्य कर दिया गया था. इसके बाद 2015 में इनवर्टर रूम एयर कंडीशनर्स के लिए वॉलुन्टरी स्टार लेबलिंग प्रोग्राम लॉन्च किया गया, जिसे 1 जनवरी, 2018 को लागू किया गया. रूम एयर कंडीशनर्स के लिए स्टार लेबलिंग प्रोग्राम ने अकेले वित्त वर्ष 2017-18 में ही 4.6 अरब यूनिट ऊर्जा की बचत की.

ये भी पढ़ें: घर में रखे आपके सोने पर बैकों की नजर, सरकार ने जारी किए ये आदेश

अगले 32 साल भारत में लगेंगे सर्वाधिक एसी
इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2050 तक दुनिया में एसी की सबसे ज्यादा मांग भारत से होगी. रिपोर्ट के मुताबिक एसी की खरीद में 4206% की बढ़ोत्तरी होगी. दूसरे नंबर पर इंडोनेशिया का नंबर आता है, जहां 1845% की दर से बढ़ोत्तरी होगी.जब दुनिया में एसी की मांग बढ़ेगी तो बिजली की खपत में भी इजाफा होगा. रिपोर्ट के मुताबिक ऊर्जा की अनुमानित मांग पर गौर करें तो 2050 तक ये 1997 से बढ़कर 6205 टेरावॉट/घंटे हो जाएगी.

(प्रकाश प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़)

ये भी पढ़ें: 3 दोस्तों ने अपने शौक को बनाया बिजनेस, सालाना करोड़ों में हो रही कमाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2020, 7:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर