लाइव टीवी

कोहरा नहीं बल्कि इस वजह से गो एयर ने रद्द की कई फ्लाइट्स, जानिए पूरा मामला

पीटीआई
Updated: January 23, 2020, 6:13 PM IST
कोहरा नहीं बल्कि इस वजह से गो एयर ने रद्द की कई फ्लाइट्स, जानिए पूरा मामला
गोयर देश में कुल 325 फ्लाइट रोजना उड़ाता है. उनकी फ्लीट में 60 हवाई जहाज है.

देश में सस्ता हवाई सफर कराने वाली एयरलाइंस कंपनी गो एयर (Go Air) ने अपनी कई उड़ाने रद्द करने का फैसला किया है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि एयरबस ने हवाई जहाज और इंजिन की डिलीवरी में देरी की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में सस्ता हवाई सफर कराने वाली एयरलाइंस कंपनी गो एयर (Go Air) ने अपनी कई उड़ाने रद्द करने का फैसला किया है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि एयरबस (Airbus) ने हवाई जहाज और इंजिन की डिलीवरी में देरी की है. इसीलिए, कुछ उड़ानों को रद्द कर दिया है. गो एयर का कहना है कि उनके बिजनेस पार्टनर एयरबस और प्रैट एंड व्हिटनी (पीडब्ल्यू) ने फ्लाइट के इंजिन और एयरक्राफ्ट की डिलीवरी 9 मार्च 2020 तक करने को कहा है. हालांकि, कंपनी की ओर से कहां कितनी फ्लाइट रद्द हुई है अभी तक इसकी जानकरी नहीं दी गई है. आपको बता दें कि गोयर देश में कुल 325 फ्लाइट रोजना उड़ाता है. उनकी फ्लीट में 60 हवाई जहाज है.

क्या है मामला

पिछले साल नागरिक उड्डयन महानिदेशक (डीजीसीए) ने गो एयर के उन सभी 'ए-320 नियो' विमानों की जांच करने का आदेश दिया था जो प्रेट एंड व्हिटनी (पीडब्ल्यू) इंजनों के साथ 3000 घंटों से ज्यादा की उड़ान भर चुके थे.

DGCA की ओर से कहा गया था कि गो एयर के उन सभी विमानों का निरीक्षण करेंगे, जिनमें पीडब्ल्यू इंजन लगे हुए हैं और जिनका इस्तेमाल 3,000 घंटे से ज्यादा किया जा चुका है. निरीक्षण के बाद इस मामले में कार्रवाई पर फैसला लिया जाएगा.

दरअसल गो एयर के 'ए-320 नियो' विमानों में लगे पीडब्ल्यू इंजनों में इसी तरह की खराबी सामने आई. इसके बाद 8 अक्टूबर को डीजीसीए ने गो एयर को उसके विमानों में लगे 16 पीडब्ल्यू इंजनों को 15 दिनों के भीतर बदलने का निर्देश दिया था. ये सभी इंजन 3000 घंटों की उड़ान पूरी कर चुके है.

ये भी पढ़ें-अगर करते हैं नौकरी या बिजनेस! तो जानिए टैक्‍स बचाने के सबसे आसान तरीके

आपको बता दें कि डीजीसीए ने बीते हफ्ते प्रैट एंड व्हिटनी (पीडब्ल्यू) के उन सभी इंजनों को बदलने के लिए इंडिगो को दी गई समयसीमा 31 जनवरी से बढ़ाकर 31 मई कर दी है, जिनमें सुधार नहीं किया गया था.नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने नवंबर में कहा था कि चीजें ठीक करने के लिए तत्काल उपाय जरूरी हैं. डीजीसीए ने तब इंडिगो को सभी ए320 निओ विमानों के प्रैट एंड व्हिटनी (पीडब्ल्यू) इंजन 31 जनवरी तक हर हाल में बदलने के लिए भी कहा था.

ये भी पढ़ें-पेंशन पाने वालों के लिए बड़ी खबर, बजट में टैक्स छूट बढ़कर होगी 50 हजार!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 5:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर