होम /न्यूज /व्यवसाय /

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा-सऊदी की ओर से नहीं रुकेगी भारत को क्रूड ऑयल की सप्लाई

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा-सऊदी की ओर से नहीं रुकेगी भारत को क्रूड ऑयल की सप्लाई

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा-भारत के लिए कच्चे तेल की सप्लाई में कोई दिक्कत नहीं आएगी

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा-भारत के लिए कच्चे तेल की सप्लाई में कोई दिक्कत नहीं आएगी

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने कहा है कि सऊदी अरब की तेल उत्पादन प्लांट पर हुए हमलों के बाद भारत को तेल की आपूर्ति बाधित नहीं होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    नई दिल्ली. सऊदी अरामको (Saudi Aramco) के दो प्लांट पर यमन के हूती लड़ाकों ने शनिवार को ड्रोन से हमला कर दिया. इससे सऊदी अरब में कच्चे तेल (Crude Oil) का उत्पादन 50% घट गया है. साथ ही, इसके बाद एक दिन में ही कच्चे तेल के दाम 10 फीसदी से ज्यादा बढ़ गए. इस पूरे मामले को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने कहा है कि सऊदी अरब की तेल उत्पादन प्लांट पर हुए हमलों के बाद भारत को तेल की आपूर्ति बाधित नहीं होगी. धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सऊदी अरामको के तेल सयंत्र केंद्रों पर हमलों के बाद, वहां के टॉप अधिकारियों से बातचीत हुई है. रियाद में भारतीय राजदूत ने भारत को लगातार तेल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अरामको के वरिष्ठ प्रबंधन से संपर्क किया है.

    न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (HPCL, BPCL, IOC) के साथ सितंबर के महीने के लिए कच्चे तेल की आपूर्ति की समीक्षा की है. हमें विश्वास है कि भारत को आपूर्ति में कोई दिक्कत नहीं होगी.

    ये भी पढ़ें-जानिए भारत में कच्चा तेल कहां से आता है!



    भारत में बढ़ सकते हैं पेट्रोल के दाम- आपको बता दें कि कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटी ने एक रिसर्च नोट में कहा है कि सऊदी अरब की अरामको की रिफाइनरी पर ड्रोन हमलों के बाद ग्लोबल क्रूड कीमतों में तेजी का असर भारत की तेल मार्केटिंग कंपनियों इंडियन ऑयल, एचपीसीएल और बीपीसीएल की पेट्रोल-डीजल की मार्केटिंग मार्जिन पर पड़ सकता है.

    अगर ग्लोबल क्रूड की कीमतों में 10 डॉलर प्रति बैरल की तेजी आती है तो तेल मार्केटिंग कंपनियों के लिए अगले 15 दिन में डीजल और पेट्रोल की कीमतों में 5-6 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी करनी पड़ सकती है.



    क्रूड की कीमतों में आया बड़ा उछाल

    इस हमले से सऊदी अरब का आधा उत्पादन प्रभावित हुआ है. इससे दुनिया में करीब पांच प्रतिशत आपूर्ति बाधित हुई है. भारत अपनी कच्चे तेल की जरूरत का 83 प्रतिशत आयात करता है.

    ईराक के बाद भारत का सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता सऊदी अरब है. वित्त वर्ष 2018-19 में सऊदी अरब ने भारत को 4.03 करोड़ टन कच्चा तेल बेचा.

    ये भी पढ़ें-महंगे क्रूड से बिगड़ेगा आम आदमी का बजट, होगा देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर!

    वित्त वर्ष के दौरान भारत का कच्चे तेल का आयात 20.73 करोड़ टन रहा. कच्चे तेल के दाम में सोमवार को भारी उछाल आया.

    ब्रेंट कच्चा तेल 19.5 प्रतिशत बढ़कर 71.95 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. कच्चे तेल का वायदा 1988 में शुरू हुआ था.

    उसके बाद से डॉलर मूल्य के लिहाज से यह सबसे बड़ी वृद्धि हुई है. अमेरिका का वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट वायदा 15.5 प्रतिशत बढ़कर 63.34 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था.

    Tags: Business news in hindi, Crude oil, Crude oil prices

    अगली ख़बर