5 राज्यों के चुनाव नतीजों का शेयर बाजार पर होगा बड़ा असर, निवेशक रहें सतर्क

छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों के नतीजों में अभी वक्‍त है. लेकिन इन चुनाव नतीजों पर एग्जिट पोल आ चुके है. इन एग्जिट पोल को असर शेयर बाज़ार पर बड़ा असर होगा.

News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 8:34 PM IST
5 राज्यों के चुनाव नतीजों का शेयर बाजार पर होगा बड़ा असर, निवेशक रहें सतर्क
छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों के नतीजों में अभी वक्‍त है. लेकिन इन चुनाव नतीजों पर एग्जिट पोल आ चुके है. इन एग्जिट पोल को असर शेयर बाज़ार पर बड़ा असर होगा.
News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 8:34 PM IST
छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों के नतीजों में अभी वक्‍त है. लेकिन इन चुनाव नतीजों पर एग्जिट पोल आ चुके है. इन एग्जिट पोल को असर शेयर बाज़ार पर बड़ा असर होगा. एक्सपर्ट्स का कहना शेयर बाजार की नजरें देश की राजनीति पर भी है. विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हार से शेयर बाजार में भारी गिरावट आ सकती है, क्योंकि इन 5 में 3 राज्यों में बीजेपी सरकार है जहां उसका मुकाबला सीधे तौर पर कांग्रेस से है. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को तीनों राज्यों की 65 लोकसभा सीटों में 62 सीटें मिलीं थीं. इसलिए इन राज्यों में कोई भी उलटफेर सीधे तौर पर 2019 में मोदी सरकार के भविष्य पर असर डालेगा.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, 40% बढ़ाया पेंशन स्कीम में योगदान, ऐसे मिलेगा आपको फायदा

एग्जिट पोल में संभावित चुनाव परिणामों का अनुमान आ गया है. इनके अनुसार, राजस्‍थान में कांग्रेस को बढ़त है. वहीं छत्‍तीसगढ़ और मध्‍य प्रदेश में कांटे की टक्‍कर है. इन दोनों राज्‍यों में नतीजों को लेकर एग्जिट पोल बंटे हुए नजर आएं. तेलंगाना की बात करें तो तेलंगाना राष्‍ट्र समिति फिर से सत्‍ता में वापसी करते हुए बताया गया है.

ये भी पढ़ें-ये ट्रेन महज दो घंटे में पहुंचा देगी आपको मुंबई से दुबई

क्या होगा शेयर बाजार पर असर-मोतीलाल ओसवाल एएमसी के आशीष सोमैया का कहना है कि शेयर बाजार की नजरें देश की राजनीति पर भी है. विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हार बाजार के लिए निगेटिव साबित होगी. चुनाव के दौरान बाजार में उतार-चढ़ाव रहेगा. लेकिन ये बात ध्यान में रखें कि राज्यों का चुनाव केंद्र के चुनाव से अलग होता है.

ये भी पढ़ें-बैंक में अब Aadhaar जरूरी नहीं! ग्राहकों को देने होंगे ये 5 डॉक्यूमेंट

अगर इन चुनावों में बीजेपी को तीन राज्यों में जीत मिलती है तो बाजार में आने वाले दिनों में तेजी का रुख देखने को मिलेगा. यदि बीजेपी राजस्थान हार गई, लेकिन मध्य प्रदेश बच गया, तो भी बाजार का रुख सकारात्मक रहेगा. लेकिन मध्य प्रदेश में भी बीजेपी की हार का मतलब है कि आने वाले दिनों में बाजार में बिकवाली तेज होगी. यानी कहा जा सकता है कि बाजार बीजेपी की जीत की कामना जरूर कर रहा होगा.
Loading...

ये भी पढ़ें-दिक्कत होने पर रेल यात्री अब सीधे अधिकारी से ऐसे करें शिकायत, तुरंत मिलेगा समाधान

मौजूदा विधानसभा चुनाव 2019 में फाइनल के पहले का सेमीफाइनल मुकाबला माना जा रहा है. इन 5 में 3 राज्यों में बीजेपी सरकार है जहां उसका मुकाबला सीधे तौर पर कांग्रेस से है. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को तीनों राज्यों की 65 लोकसभा सीटों में 62 सीटें मिलीं थीं. इसलिए इन राज्यों में कोई भी उलटफेर सीधे तौर पर 2019 में मोदी सरकार के भविष्य पर असर डालेगा.

ये भी पढ़ें-उत्तर प्रदेश के मुकाबले दिल्ली में अब ज्यादा तेजी से सस्ता होगा पेट्रोल-डीज़ल, जानिए क्यों?

क्यों होता है शेयर बाजार पर चुनाव का असर- शेयर बाजार से जुड़े लोग देश में स्थित सरकार चाहते हैं. राजनीतिक अस्थिरता व्यापार के लिए भी ठीक नहीं है. आज की स्थिति में लगता है कि बीजेपी ही स्थिर सरकार दे सकती है, लेकिन इन विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हार का मतलब होगा कि 2019 में देश में फिर त्रिशंकु सरकार आ सकती है. बाजार इसी वजह से डरा हुआ है.

ये भी पढ़ें-LIC की बेस्ट पॉलिसी! रोजाना सिर्फ 9 रुपये खर्च कर मिलेंगे 4.56 लाख रुपये

निवेशक रहें सतर्क- एक्सपर्ट्स का कहना है कि निवेशकों को 10 दिसंबर के दिन बहुत सर्तक रहना पड़ेगा. एग्जिट पोल आ चुके है, इन्हें देखकर अभी तक स्थिति साफ नहीं है. हालांकि, नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे. लिहाजा उस दिन भारी उतार-चढ़ाव की आशंका है. ऐसे में निवेशकों को सतर्क रहना चाहिए और कोई भी बड़ा निवेश नहीं करना चाहिए.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार का तोहफा! नौकरी वालों के साथ अब आम लोगों को भी मिलेगी 10 रुपये में ये सर्विस
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर