• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • पैन कार्ड को लेकर न करें ये गलती, नहीं तो देना होगा ₹10 हजार का जुर्माना

पैन कार्ड को लेकर न करें ये गलती, नहीं तो देना होगा ₹10 हजार का जुर्माना

आपने तो नहीं की PAN कार्ड को लेकर ये गलती! वरना लगेगा ₹10 हजार जुर्माना

आपने तो नहीं की PAN कार्ड को लेकर ये गलती! वरना लगेगा ₹10 हजार जुर्माना

अगर किसी के पास दो पैन कार्ड मिलते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई हो सकती है. हालांकि, कुछ लोगों को यह तो पता है कि पैन नंबर एक से अधिक नहीं हो सकता है लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि अतिरिक्त पैन को सरेंडर कैसे करें. किसी भी कानूनी कार्रवाई में फंसने से बेहतर है कि जल्द से जल्द अतिरिक्त पैन को सरेंडर कर दें.

  • Share this:
    नई दिल्ली. पैन कार्ड (PAN Card) को आधार (Aadhaar) से लिंक कराने की तारीख 31 मार्च, 2020 है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) की ओर से बार-बार पैन-आधार कार्ड लिंक (PAN-Aadhaar Linking) करने की डेडलाइन बढ़ाने के बाद भी 17 करोड़ ऐसे लोग हैं, जिन्होंने अभी तक पैन-आधार नहीं लिंक कराया है. ​आपको बता दें कि PAN यूनिक नंबर होता है और दो लोग या दो कंपनियों के पैन एक समान नहीं हो सकते हैं. यह तो सभी जानते हैं लेकिन एक ही शख्स या कंपनी के दो पैन नंबर नहीं हो सकते हैं. अगर किसी के पास दो पैन कार्ड (PAN Card) मिलते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई हो सकती है. हालांकि, कुछ लोगों को यह तो पता है कि पैन नंबर एक से अधिक नहीं हो सकता है लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि अतिरिक्त पैन को सरेंडर कैसे करें. किसी भी कानूनी कार्रवाई में फंसने से बेहतर है कि जल्द से जल्द अतिरिक्त पैन से मुक्ति पा लें. इसीलिए आज हम आपको इससे जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां दे रहे हैं.

    लग सकता हैं 10 हजार रुपये का जुर्माना- अगर किसी के पास एक से अधिक पैन है तो उस पर इनकम टैक्स एक्ट 1961 के तहत 10 हजार रुपये का जुर्माना लग सकता है.



    ऐसे में क्या करना चाहिए- टैक्स एक्सपर्ट बताते हैं कि एक से ज्यादा पैन को सरेंडर करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से अप्लाई किया जा सकता है. इसके लिए एनएसडीएल की वेबसाइट या ऑफिस जाकर Request For New PAN Card Or/ And Changes Or Correction in PAN Data पर क्लिक करें. इस फॉर्म को भरकर जमा करें.

    >> इस फॉर्म में जो पैन जारी रखना चाहते हैं, उसे टॉप पर मेंशन कर दें और बाकी बचे पैन की जानकारी फॉर्म में आइटम नंबर 11 में भर दें. इसके अलावा जिस पैन को कैंसल करवाना है, उसकी कॉपी फॉर्म के साथ लगा दें.



    >> कुछ लोग अलग-अलग कामों के लिए अलग पैन बनवा लेते हैं. डीमैट खाते के लिए अलग पैन और इनकम टैक्स के पेमेंट और रिटर्न के लिए अलग पैन कार्ड बनवा लेते हैं.

    >> इसके अलावा कई लोग पुराना पैन खो जाने पर नए सिरे से पैन के लिए अप्लाई करते हैं. इसकी भी वजह से उनके पास कई पैन हो जाते हैं.

    अगर डीमैट और इनकम टैक्स के लिए अलग पैन बनवा रखा है तो एक पैन सरेंडर करना ही पड़ेगा. इस दोनों में वह पैन सरेंडर करें जिसे इनकम टैक्स के पर्पज के लिए प्रयोग करते हैं. दूसरा पैन सरेंडर कर उन्हें अपने मूल पैन की जानकारी भेज दें.

    ये भी पढ़ें :- आपका भी है एक से ज्यादा बैंक में खाता, तो जानिए अब कितने लाख रुपये रहेंगे सेफ?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज