अब ITR में गड़बड़ी होने पर भी नहीं मिलेगा नोटिस! जानिए पूरा मामला

News18Hindi
Updated: August 19, 2019, 9:37 AM IST

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारी अब आम लोगों के साथ बेहतर तरीके से पेश आएंगे. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने टैक्स अधिकारियों से अपनी मानसिकता बदलने को कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2019, 9:37 AM IST
  • Share this:
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department)  के अधिकारी अब आम लोगों के साथ बेहतर तरीके से पेश आएंगे. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने टैक्स अधिकारियों से अपनी मानसिकता बदलने को कहा है.मान लीजिए अगर आपके इनकम टैक्स रिटर्न में कोई ट्रांजेक्शन को लेकर गलती है तो आपको पहले SMS मिलेगा. इसमें लिखा होगा कि आप अपनी ट्रांजेक्शन की जानकारी देना भूल गए है. वहीं, कोई ओर गड़बड़ी है तो भी आपको अब धमकी भरा नहीं बल्कि आसान शब्दों में इसकी जानकारी मिलेगा. दरअसल टैक्स पेयर्स (Taxpayers) की ओर से अधिकारियों के गलत व्यवहार की कई शिकायतें मिली हैं.

वित्त मंत्री ने सख्य हिदायत के बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने टैक्स पेयर्स के साथ ज्यादा नरम रुख अपनाने का फैसला किया है. आपको बता दें कि टैक्स टेरेरिज्म (Tax Terrorism) के आरोपों के मद्देनजर वित्त मंत्री ने शनिवार को आयकर विभाग से टैक्स अधिकारियों और टैक्स पेयर्स के बीच संवादहीनता दूर करने और अपनी मानसिकता बदलने को कहा है.

ITR में गड़बड़ी पर नहीं मिलेगा नोटिस- इनकम टैक्स डिपार्टमेंट जल्द दो बड़े बदलाव करने जा रहा है. सबसे पहले तो आपको इनकम टैक्स रिटर्न में कोई गड़बड़ी है तो भी तुरंत आपको नोटिस नहीं मिलेगा. बल्कि आपको एक इससे जुड़ा SMS भेजा जाएगा. साथ ही, इसकी जुड़ी भाषा भी बिल्कुल आसान होगी

टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारी आपसे बेहतर तरीके से आएंगे पेश-आने वाले दिनों में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारी आपसे बेहतर तरीके से पेश आएंगे.

>> निर्मला सीतारमण ने अहमदाबाद में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारियों से कहा कि टैक्स प्रशासकों की काफी नाजुक भूमिका होती है. जानकार नागरिक समूह की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मानसिकता बदलने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें-इस शख्स का प्रोडक्ट हुआ हिट, खड़ी की 1700 करोड़ की कंपनी!


Loading...

>> उन्होंने कहा, "जहां तक टैक्स पेयर्स और उनकी समस्याओं का सवाल है तो हमें उनसे अवश्य संवाद करना चाहिए और सम्मानपूर्वक व्यवहार के साथ समस्याओं का समाधान करना चाहिए.

>> इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अपना नजरिया बदलकर मित्रवत भाषा को अमल में करने वाला है, मगर इस दौरान किसी प्रकार की कमी को नजरंदाज नहीं किया जाएगा.

>> टैक्स डिपार्टमेंट अब टैक्सपेयर्स के साथ संवाद में मित्रवत भाषा का इस्तेमाल करेगा. एक इनकम टैक्स अधिकारी ने बताया,वित्तमंत्री ने कहा कि हमें धन का सृजन करने वालों का सम्मान करने और अनावश्यक प्रक्रिया संबंधी विलंब में कमी करके उन्हें सुविधा प्रदान करने को कहा है.

>> उन्होंने अधिक मानवीय दृष्टिकोण अपनाने पर बल दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने भी 15 अगस्त को अपने संबोधन में कहा कि धन पैदा करने वालों का अवश्य सम्मान होना चाहिए."

ये भी पढ़ें-Alert! इन वेबसाइट्स से इंश्योरेंस खरीदना पड़ सकता है महंगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 9:26 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...