लाइव टीवी
Elec-widget

जेट एयरवेज ने सभी बोइंग 737 MAX वाली फ्लाइट बंद की, जानिए क्यों बंद हो रही है उड़ानें

News18Hindi
Updated: March 12, 2019, 11:17 AM IST
जेट एयरवेज ने सभी बोइंग 737 MAX वाली फ्लाइट बंद की, जानिए क्यों बंद हो रही है उड़ानें
जेट एयरवेज ने सभी बोइंग 737 MAX की उड़ान बंद की, जानिए क्यों बंद हो रही है उड़ानें

प्राइवेट एविएशन कंपनी जेट एयरवेज ने हवाई जहाज बोइंग 737 MAX की उड़ान बंद करने का फैसला किया है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि तकनीकी खामियों पर बोइंग के साथ बातचीत जारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2019, 11:17 AM IST
  • Share this:
प्राइवेट एविएशन कंपनी जेट एयरवेज ने हवाई जहाज बोइंग 737 MAX की उड़ान बंद करने का फैसला किया है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि तकनीकी खामियों पर बोइंग के साथ बातचीत जारी है. आपको बता दें कि इथियोपियन एयरलाइंस का बोइंग 737 मैक्स-8 रविवार सुबह उड़ान भरने के बाद 8600 फीट की ऊंचाई तक पहुंचा और उसके बाद अचानक 441 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से नीचे आकर क्रैश हो गया था. इसमें सवार चार भारतीयों समेत 157 लोगों की मौत हो गई. यह विमान बोइंग 737 मैक्स-8 था. पांच महीने में यह दूसरा मौका है, जब बोइंग के इसी मॉडल का विमान क्रैश हुआ.

(ये भी पढ़ें-नई सौगात की तैयारी में EPFO, नौकरी बदलने पर खुद नए अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएगा PF का पैसा)

आपको बता दें कि बोइंग 737 मॉडल के दुनियाभर में 10 हजार प्लेन इस्तेमाल किए जा रहे हैं. वहीं, एयरबस के ए320 मॉडल के 8000 से ज्यादा विमान इस्तेमाल हो रहे हैं. बोइंग का 737 मैक्स-8 सबसे ज्यादा बिकने वाला पैसेंजर एयरक्राफ्ट है. कंपनी ने 2017 में इसे लॉन्च किया था. यह 50 साल पुराने बोइंग 737 का नया वर्जन है. (ये भी पढ़ें-PM किसान निधि: आचार संहिता का नहीं पड़ेगा असर, दूसरी किस्त के मिलेंगे 2000 रुपये!)

क्या बंद हो रहा है बोइंग 737 मैक्स

>>
इथियोपिया में प्लेन क्रैश के बाद बोइंग को 777 एक्स मॉडल की लॉन्चिंग रोकनी पड़ी है. यह मैक्स 8 से भी बड़ा विमान है जिसमें 425 यात्री बैठ सकते हैं. इसकी लॉन्चिंग बुधवार को होनी थी. पहले 777 एक्स की डिलिवरी 2020 में होनी थी.
>> चीनी कंपनियां बोइंग 737 मैक्स 8 की सबसे बड़ी कंज्यूमर हैं. देश में इस बोइंग 737 के 97 मॉडल का इस्तेमाल हो रहा है.
>> ये विमान एयर चाइना, चाइना ईस्टर्न और चाइना सदर्न के बेड़े का हिस्सा हैं. तीनों कंपनियों ने मैक्स 8 विमानों का इस्तेमाल फिलहाल रोक दिया है.
Loading...

>> इंडोनिशिया की विमानन कंपनियों गरुड़ इंडोनेशिया को सरकार से बोइंग मैक्स-8 का अभी इस्तेमाल नहीं करने के निर्देश मिले हैं.
>> गरुड़ एक और लॉयन एयर 10 बोइंग मैक्स-8 का इस्तेमाल करती है.
>> कैरेबियाई कंपनी केयमैन एयरलाइन्स ने अस्थायी तौर पर बोइंग 737 मैक्स को ऑपरेशन्स से हटा लिया है.

भारत में कितने मैक्स बोइंग- भारत में जेट एयरवेज ने मैक्स कैटेगरी के बोइंग के 225 विमानों का ऑर्डर दिया था. इनमें से कुछ की डिलिवरी हो चुकी है. जेट एयरवेज के बेड़े में अभी 8 मैक्स-8 विमान हैं. स्पाइसजेट ने भी 155 मैक्स-8 विमानों समेत 205 बोइंग प्लेन का ऑर्डर दिया है. स्पाइसजेट के पास अभी 13 मैक्स-8 विमान हैं.

 



इन देशों ने लगाई रोक- चीन, इथियोपिया की एयरलाइन्स ने इसका इस्तेमाल रोक दिया है. इंडोनिशिया की विमानन कंपनियों और कैरेबियाई कंपनी केयमैन एयरलाइन्स ने अस्थायी तौर पर बोइंग 737 मैक्स-8 को ऑपरेशन्स से हटा लिया है. रूस ने भी परिवहन मंत्रालय को इस पर विचार करने को कहा है. भारत में भी डीजीसीए ने संकेत दिए है कि वह इस प्लेन के इस्तेमाल के बारे में नए सुरक्षा निर्देश जारी कर सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 12, 2019, 10:59 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...