अपना शहर चुनें

States

L&T की सॉफ्टवेयर कंपनी में नौकरी करने का मौका! जल्द होगी 3800 लोगों की नियुक्ति

jobs
jobs

देश की बड़ी प्राइवेट कंपनी एलएंडटी की सॉफ्टवेयर सब्सिडियरी कंपनी एलएंडटी इन्फोटेक में जल्द बंपर नौकरियां निकलने वाली है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस वित्त वर्ष में 3,800 फ्रेशर्स की नियुक्त करेगी.

  • Share this:
देश की बड़ी प्राइवेट कंपनी एलएंडटी की सॉफ्टवेयर सब्सिडियरी कंपनी एलएंडटी इन्फोटेक में जल्द बंपर नौकरियां निकलने वाली है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस वित्त वर्ष में 3,800 फ्रेशर्स की नियुक्त करेगी.  कंपनी की उम्मीद है कि इस साल बिजनेस में अच्छी ग्रोथ रहेगी. जिस वजह से उसकी ह्यूमन रिसोर्स की मांग बढ़ सकती है. आपको बता दें कि एलएंडटी इन्फोटेक आईटी सर्विसेज कारोबार में है और इसकी आय का 69 फीसदी हिस्सा अमेरिका से जबकी 17 फीसदी हिस्सा यूरोप से आता है.

3800 फ्रेशर्स को मिलेंगी नौकरी!
>> कंपनी के सीईओ संजय जालोना ने कहा कि कंपनी के कर्मचारियों पर इस समय काम का बोझ ज्यादा पड़ रहा है.

>> इस दबाव को कम करने के लिए नई नियुक्तियां करने की जरूरत है. आगे कहा, हम इस वित्त वर्ष में 3,700 से 3,800 नए लोगों को नियुक्त करेंगे.
>> हमने पिछले वित्त वर्ष में तीन हजार नए लोगों को नियुक्त किया था. उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी इनके अलावा समय-समय पर प्रोजेक्ट और कार्य के आधार पर सीधी भर्तियां भी करेगी.



इन कोर्सेज वाले लोगों को मिलेंगे ज्यादा नौकरियों के अवसर
विशेषज्ञों के मुताबिक, 2019 में आईटी कंपनियां डेटा साइंस, डेटा एनालिसिस, सोल्यूशन आर्किटेक्ट्स, प्रोडक्ट मैनेजमेंट, डिजिटल मार्केटिंग, मशीन लर्निग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई), ब्लॉकचेन और साइबर सिक्युरिटी में विशेषज्ञता रखनेवाले पेशेवरों की भर्तियां करेंगी. टीमलीज सर्विसेज की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साल भारतीय आईटी उद्योग में करीब 2.5 लाख नई नौकरियां पैदा होने की उम्मीद है.

रिक्रूटमेंट के मामले में पिछले कुछ साल भारतीय आईटी सेक्टर के लिए अच्छे नहीं रहे हैं. हालांकि अब स्थिति तेजी से बदल रही है. फॉर्चून मैगजीन के मुताबिक, टीसीएस और इन्फोसिस जैसी बड़ी कंपनियां तेजी से हायरिंग कर रही हैं. दोनों ही कंपनियों ने पिछले वित्त वर्ष में हजारों नई नौकरियां दी हैं. पिछले साल के मुकाबले इनमें हायरिंग में 300% की वृद्धि हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज