...तो क्या अब लॉकडाउन में शुरू होगी शराब की ऑनलाइन डिलीवरी?

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

लॉकडाउन (Lockdown Part 3) बढ़ाए जाने के साथ ही सरकार (Government of India) ने शराब (Liquor Shopes open from 4th May) की दुकानों को खोलने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्रालय (Government of India) की ओर से जारी गाइडलाइंस में कहा गया है कि 4 मई से शुरू हो रहे लॉकडाउन के तीसरे चरण में शराब की दुकानों को तीनों जोन यानी रेड, ग्रीन ऑरेंज में खोलने की अनुमति होगी. लेकिन केंटटेनमेंट जोन में इन्हें बंद रखा जाएगा. साथ ही, ये आदेश स्टैंडअलोन दुकानों पर लागू है यानी मॉल या शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के अंदर शराब की दुकानों को खोलने करने की अनुमति नहीं होगी. हालांकि, इस पूरे मामले को लेकर शराब कारोबारी सरकार से ऑनलाइन डिलीवरी की डिमांड कर रहे है ताकि दुकानों पर कम भीड़ हो और कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जारी सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया जा सकें.

आपको बता दें कि राज्य सरकारों के लिए शराब बिक्री के जरिए होने वाली आमदनी काफी अहम है. क्योंकि कोरोना के इस संकट में राज्यों का खर्च बढ़ गया है और लॉकडाउन में आमदनी तेजी से गिर रही है. पिछले साल शराब की बिक्री से राज्य सरकारों को 2.84 लाख करोड़ रुपये का राजस्व मिला था.





कैसे और कब शुरू होगी शराब की होम डिलीवरी? - ISWAI (The International Spirits and Wines Association of India ) के चेयरमैन अमृत किरण सिंह ने अंग्रेजी के अखबार हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि जैसे ही नए दिशा-निर्देश लागू होंगे. वैसे ही, दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन होगा.
हम 'सेफ शील्ड' की शुरुआत करेंगे. इसका मतलब साफ है कि काउंटर पर ट्रे के जरिए से संपर्क रहित सेल्स होगी.

अमृत किरण सिंह आगे कहते हैं कि सेफ शील्ड के दूसरे चरण में बोतलों की होम डिलीवरी पर चर्चा होगी. इसके लिए स्विगी और जोमेटो जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्मों की मदद ली जा सकती है.

ये भी पढ़ें-लॉकडाउन के बीच सरकार ने करोड़ों खातों में भेजे 500 रुपए, जानिए कब निकाल सकेंगे

इसके लिए हम राज्य सरकारों से बात कर रहे हैं. ताकि इससे दुकानों पर भीड़ कम हो सके. ऐसे में हमें सेफ शील्ड और होम डिलीवरी के बारे में सोचना होगा.

अगर हम यह सही तरीके से कर लेते हैं तो राज्यों को 75 फीसदी राजस्व मिलने लगेगा. आपको बता दें कि देश में 25 फीसदी शराब की बिक्री ऑफलाइन दुकानों के जरिए से होती रही है. वहीं, 25 फीसदी बार के माध्यम से होती है.

ये भी पढ़ें-Lockdown 3.0: प्राइवेट और सरकारी कर्मचारियों के लिए सरकार ने की बड़ी घोषणा!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज