लोकसभा चुनाव में मनी पावर का इस्तेमाल! कैश-सोना-शराब-ड्रग्स की बरामदगी ने तोड़ा रिकॉर्ड

अभी पांच चरण के चुनाव बाकी हैं लेकिन नकदी, सोना और शराब की बड़े पैमाने पर हो रही बरामदगी ने पिछले चुनावों के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

News18Hindi
Updated: April 19, 2019, 5:35 PM IST
News18Hindi
Updated: April 19, 2019, 5:35 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए दूसरे चरण पूरा हो चुका है. चुनाव आयोग की सख्ती के बावजूद भी चुनाव प्रभावित करने के लिए कैश और शराब के इस्तेमाल के लिए शरारती तत्व सक्रिय नजर आए. दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव के दौरान 697 करोड़ कैश और 219 करोड़ की शराब जब्त की गई. इस दौरान कुल 2,632 करोड़ के सामान जब्त किए गए.इस दौरान देश की कई अलग-अलग लोकसभा सीट से नकदी बरामद की गई.

कैश-सोना-शराब-ड्रग्स की बरामदगी ने तोड़ा रिकॉर्ड


अभी पांच चरण के चुनाव बाकी हैं लेकिन नकदी, सोना और शराब की बड़े पैमाने पर हो रही बरामदगी ने पिछले चुनावों के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. नकदी और सोना जब्ती के मामले पर दक्षिण भारत टॉप पर है, वहीं गुजरात, दिल्ली-एनसीआर और पंजाब शराब और ड्रग्स की बरामदी के मामले में टॉप पर है.

मनी पावर का इस्तेमाल

लोकसभा चुनाव के दौरान मनी पावर का इस्तेमाल बढ़ गया है. लोकसभा चुनाव के दौरान कैश, सोना, शराब, ड्रग्स की बरामदगी ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. इस बीच चुनाव आयोग ने चौंकाने वाले आंकड़े जारी किए हैं. ये भी पढ़ें-बिना पैसे दिए आप बुक कर सकते हैं रेल टिकट, जानें IRCTC का खास ऑफर

अब तक कुल जब्त माल की कीमत 2600 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है. 2014 के 300 करोड़े रुपये के मुकाबले 683 करोड़ कैश जब्त हुआ है. बता दें कि इनकम टैक्स, दूसरी एजेंसियों की कार्रवाई में यह खुलासा हुआ है.

मीडिया रिपोरट्स के मुताबिक, चुनावी मौसम में वोटरों को लुभाने के लिए दारू बांटने की भी तैयारी दिखी. अलग-अलग जगहों पर छापेमारी में कुल 219 करोड़ रुपए की शराब बरामद की गई.हरियाणा में 52 लाख रुपये की कीमत वाली विदेशी शराब की 5 सौ से ज्यादा पेटियां बरामद की गई. चुनाव से पूर्व राजस्थान में चूरू में 30 लाख रुपए की शराब बरामद की गई. 2019 के चुनाव में शराब बरामद होने के मामले में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है. ये भी पढ़ें-सिर्फ 5 हजार में ले सकते हैं पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी, पहले दिन से शुरू होगी कमाई

उत्तर प्रदेश में अबतक 40 करोड़ से ज्यादा की शराब बरामद की जा चुकी है जबकि इसके बाद कर्नाटक का नाम है जहां लगभग 40 करोड़ की अवैध शराब बरामद की गई है. वहीं आंध्र प्रदेश में यह आंकड़ा 25 करोड़ के पार है. बता दें कि लोकसभा चुनाव के दो चरणों  के मतदान हो चुके हैं जबकि पांच चरण के मतदान अभी होने हैं.

(आलोक प्रियदर्शी, संवाददाता, सीएनबीसी आवाज़)
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार