मेडिकल डिवाइस में गड़बड़ी पर होगी सजा, एक्स-रे और MRI पर बनेगा कानून!

सीएनबीसी आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक 1 जनवरी 2020 से भारत में BP मॉनिटर, ग्लूकोमीटर, थर्मामीटर​ और नेबुलाईजर का आयात, निर्माण और बिक्री मानकों के विपरीत नहीं हो सकेगी.

News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 9:51 PM IST
मेडिकल डिवाइस में गड़बड़ी पर होगी सजा, एक्स-रे और MRI पर बनेगा कानून!
सीएनबीसी आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक 1 जनवरी 2020 से भारत में BP मॉनिटर, ग्लूकोमीटर, थर्मामीटर​ और नेबुलाईजर का आयात, निर्माण और बिक्री मानकों के विपरीत नहीं हो सकेगी.
News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 9:51 PM IST
प्रतीक श्रीवास्तव

एक ही जांच करने वाली मशीनें अब अलग-अलग रिजल्ट नहीं देंगी. BP मॉनिटर, ग्लूकोमीटर, थर्मामीटर​ और नेबुलाईजर जैसी मशीनों की गुणवत्ता अब सरकार नियंत्रित करेगी. सीएनबीसी आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक 1 जनवरी 2020 से भारत में  BP मॉनिटर, ग्लूकोमीटर, थर्मामीटर​ और नेबुलाईजर का आयात, निर्माण और बिक्री मानकों के विपरीत नहीं हो सकेगी.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, 40% बढ़ाया पेंशन स्कीम में योगदान, ऐसे मिलेगा आपको फायदा

नए नियमों के मुताबिक मानक पूरे नहीं करने वाले डिवाइस की बिक्री नहीं होगी. पकड़े जाने पर जुर्माने और सजा का प्रावधान है. फिलहाल देश में इन उपकरणों की जरूरत का 85 फीसदी हिस्सा आयात होता है. बाजार में घटिया गुणवत्ता वाले चीनी माल की भरमार है. एक्स-रे, एमआरआई, सिटी स्कैन के लिए भी जल्द नोटिफिकेशन आएगा.

ये भी पढ़ें: सरकार के साथ करना चाहते हैं बिजनेस तो यहां कराएं रजिस्ट्रेशन

स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशानुसार अब मेडिकल उपकरणों के लिए अनिवार्य रूप से बीआईएस मानकों का पालन करना होगा. बीपी मॉनिटर, ग्लूकोज मीटर पर पहले से बीआईएस मानक लागू हैं. थर्मामीटर पर भी पहले से बीआईएस मानक लागू है. नेबुलाइजर पर मानक तय होने तक आईएसओ स्टैंडर्ड लागू रहेगा. अब सरकार गुणवत्ता से संबंधित मानक तय करेगी. फिलहाल भारत में इन उपकरणों पर उचित मानक नहीं हैं. एक्स-रे, एमआरआई और सिटी स्कैन के लिए भी नोटिफिकेशन जल्द आएगा.
Loading...

ये भी पढ़ें: 3 लाख लोगों को मिला 5 लाख रुपये का मुफ्त इलाज, आपको मिलेगा या नहीं ऐसे करें पता
(वरिष्ठ संवाददाता, CNBC आवाज़)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर