लाइव टीवी

मेहुल चोकसी-नीरव मोदी को पकड़ने एयर इंडिया का प्‍लेन लेकर जाएंगे CBI-ED अधिकारी

News18Hindi
Updated: January 26, 2019, 8:43 PM IST
मेहुल चोकसी-नीरव मोदी को पकड़ने एयर इंडिया का प्‍लेन लेकर जाएंगे CBI-ED अधिकारी
मेहुल चोकसी (फ़ाइल फोटो)

पंजाब नेशनल बैंक के साथ हजारों करोड़ का फर्जीवाड़ा कर देश छोड़कर भागने वाले हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को कैरीबियाई देश से उठाने की तैयारी की जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एयर इंडिया के एक हवाई जहाज की मदद भी ली जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2019, 8:43 PM IST
  • Share this:
मेहुल चोकसी और जतिन मेहता के प्रत्यर्पण के सिलसिले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी वेस्टइंडीज जा सकते हैं. इस मिशन के लिए एयर इंडिया का बोइंग विमान रिजर्व किया गया है. जांच एजेंसियां जल्द ही इन भगोड़े आरोपियों को भारत में वापस लाने के ऑपरेशन पर काम कर रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इन्‍हें सीबीआई और ED के जॉइंट ऑपरेशन द्वारा भारत लाया जा सकता है. इस ऑपरेशन को लेकर कैरेबियन देशों में सीबीआई की दो टीम अभी भी हैं. इस ऑपरेशन से जुड़े कुछ अधिकारी तीन दिन पहले ही विदेश गए हैं.

भारत लाने की तैयारी पूरी!- जांच एजेंसियों के राडार पर काफी चर्चित कारोबारी मेहुल चोकसी भी है. उसको भी भारत में लाने की चल कोशिश चल रही है. भारतीय जांच एजेंसी विदेश मंत्रालय के नेतृत्व में विदेशी दूतावास के संपर्क में है. मेहुल चोकसी भी कैरेबियन देशोंं में है.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, रेल में फ्री यात्रा कर पाएंगे सरकारी कर्मचारियों के बच्चे!

जांच एजेंसी के सूत्रों ने यह भी खुलासा किया है कि चोकसी तथा नीरव मोदी जैसे लोग ही इन देशों के निशाने पर होते हैं, लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि नीरव मोदी इनमें से किसी द्वीप पर रह रहा है या नहीं.

ये भी पढ़ें-हाइवे पर जल्द खत्म होंगे टोल प्लाजा! मोदी सरकार का नया प्लान तैयार

चोकसी को कैरिबियाई देश से उठाया जा सकता है, जबकि नीरव मोदी को यूरोप से उठाया जा सकता है, जहां उसके छिपे होने की संभावना है. प्रत्यर्पण समझौता नहीं होने की वजह से ये द्वीप भारत के भगोड़े आर्थिक अपराधियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बन गए हैं. इनके अलावा, अन्य देश जैसे ग्रेनाडा, सेंट लुसिया और डोमिनिसिया भी इसी तरह पैसे लेकर नागरिकता देने का काम करते हैं.डोमिनिसिया और सेंट लुसिया महज एक लाख डॉलर में ही नागरिकता और पासपोर्ट दे देते हैं, जबकि अगर पत्नी को भी नागरिकता की जरूरत है, तो इसके लिए सेंट लुसिया 1.65 लाख डॉलर और डोमिनिसिया 1.75 लाख डॉलर लेता है. वहीं, ग्रेनाडा इसी तरह का पासपोर्ट दो लाख डॉलर में देता है.

ये भी पढ़ें-इस कंपनी से जुड़कर हर महीने कमा सकते हैं दो लाख रुपये, तरीका है बेहद आसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2019, 6:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर