बड़ी खबर- अब KUSUM योजना के तहत 20 लाख किसानों को मिलेंगे सोलर पंप, जानिए इसके बारे में सबकुछ

बड़ी खबर- अब KUSUM योजना के तहत 20 लाख किसानों को मिलेंगे सोलर पंप, जानिए इसके बारे में सबकुछ
कुसुम योजना के फायदे जानिए

Kusum Scheme for Farmers-खेतों में सौलर बिजली उत्पादन से बिजली की कमी तो दूर होगी ही, साथ ही उस बिजली को बेचकर किसान अतिरिक्त आमदनी भी कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 10, 2020, 10:03 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार (Government of India) किसानों के लिए कई खास स्कीम चलाती है. इसमें एक कुसुम स्कीम है. इसका उद्देश्य बेकार पड़ी जमीन को इस्तेमाल में लाना और किसानों की आमदनी बढ़ाना है. इनमें एक योजना है किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान यानी कुसुम (KUSUM) योजना है. इसको लेकर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Agriculture Minister of India Narendra Singh Tomar) का कहना है कि पीएम-कुसुम (PM KUSUM) के तहत 20 लाख किसानों को स्टैंडअलोन सोलर पंप दिए जाएंगे. बंजर भूमि पर सौर ऊर्जा उत्पादन करने तथा ग्रिड को अधिशेष ऊर्जा बेचने में किसानों की सहायता की जाएगी.

​वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बजट में इसका ऐलान किया था कि सरकार कुसुम योजना को जारी रखेगी ताकि, किसानों को खेतों में सिंचाई के लिए सोलर पंप (Solar Pump) मुहैया कराए जाएं.

ये भी पढ़ें-भारतीय रेलवे ने रचा इतिहास-15 माह में एक भी यात्री की दुर्घटना में नहीं गई जान



हालांकि इस योजना का ऐलान 2018-19 के बजट में तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने किया गया था. सरकार इस योजना से देश में बिजली की कमी को तो दूर करेगी ही साथ ही, बंजर पड़ी जमीन का इस्तेमाल भी किया जा सकेगा.
खेतों में सौलर बिजली उत्पादन से बिजली की कमी तो दूर होगी ही, साथ ही उस बिजली को बेचकर किसान अतिरिक्त आमदनी भी कर सकते हैं. कुसुम योजना के लिए सरकार किसानों को सब्सिडी के रूप में सोलर पंप की कुल लागत का 60% रकम देगी.



क्या है कुसुम योजना-भारत में किसानों को सिंचाई में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है और अधिक या कम बारिश की वजह से किसानों की फसलें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं. केंद्र सरकार की कुसुम योजना के जरिये किसान अपनी जमीन में सौर ऊर्जा उपकरण और पंप लगाकर अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं. कुसुम योजना की मदद से किसान अपनी भूमि पर सोलर पैनल लगाकर इससे बनने वाली बिजली का उपयोग खेती के लिए कर सकते हैं. किसान की जमीन पर बनने वाली बिजली से देश के गांव में बिजली की निर्बाध आपूर्ति शुरू की जा सकती है.

कुसुम योजना की मुख्य बातें
>> सौर ऊर्जा उपकरण स्थापित करने के लिए किसानों को केवल 10% राशि का भुगतान करना होगा.
>> केंद्र सरकार किसानों को बैंक खाते में सब्सिडी की रकम देगी.
>> सौर ऊर्जा के लिए प्लांट बंजर भूमि पर लगाये जाएंगे.
>> कुसुम योजना में बैंक किसानों को लोन के रूप में 30% रकम देंगे.
>> सरकार किसानों को सब्सिडी के रूप में सोलर पंप की कुल लागत का 60% रकम देगी.

कुसुम योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस वेबसाइट https://mnre.gov.in/# पर जा सकते हैं.

कुसुम योजना से दो बड़े फायदे
केंद्र सरकार की कुसुम योजना किसानों को दो तरह से फायदा पहुंचाएगी. एक तो उन्हें सिंचाई के लिए फ्री बिजली मिलेगी और दूसरा अगर वह अतिरिक्त बिजली बना कर ग्रिड को भेजते हैं तो उसके बदले उन्हें कमाई भी होगी. अगर किसी किसान के पास बंजर भूमि है तो वह उसका इस्तेमाल सौर ऊर्जा उत्पादन के लिए कर सकता है. इससे उन्हें बंजर जमीन से भी आमदनी होने लगेगी.

Doubling of Farmers Income, Ministry of Agriculture, state wise farmers income, farmers income in Bihar, farmers income in Punjab, APMC act, Ministry of Agriculture, E-Choupal, ITC, किसानों की आय दोगुनी कब होगी, कृषि मंत्रालय, राज्यवार किसानों की आय, बिहार में किसानों की आय, पंजाब में किसानों की आय, एपीएमसी एक्ट, कृषि मंत्रालय
सबसे ज्यादा और सबसे कम किसान आय वाले प्रदेश


बिजली की होगी बचत
सरकार का मानना है कि अगर देश के सभी सिंचाई पंप में सौर ऊर्जा का इस्तेमाल होने लगे तो न सिर्फ बिजली की बचत होगी बल्कि 28 हजार मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन भी संभव होगा. कुसुम योजना के अगले चरण में सरकार किसानों को उनके खेतों के ऊपर या खेतों की मेड़ पर सोलर पैनल लगा कर सौर ऊर्जा बनाने की छूट देगी. इस योजना के तहत 10,000 मेगावाट के सोलर एनर्जी प्लांट किसानों की बंजर भूमि पर लगाये जाएंगे.

ये भी पढ़ें-PM Kisan Scheme की नई लिस्ट जारी! यहां के किसान उठा रहे हैं सबसे ज्यादा फायदा, ऐसे करें अपना नाम चेक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading