उज्ज्वला स्कीम के ग्राहकों को मिल सकती है बड़ी राहत, फ्री में खरीद सकेंगे LPG सिलेंडर

LPG कनेक्शन पर EMI छूट की बढ़ सकती है मियाद

LPG कनेक्शन पर EMI छूट की बढ़ सकती है मियाद

उज्ज्वला योजना (Ujjwala Yojana) के तहत LPG कनेक्शन (LPG Connection) पर EMI राहत की स्कीम एक साल के लिए बढ़ सकती है. सूत्रों के मुताबिक पेट्रोलियम मंत्रालय EMI डेफरमेंट स्कीम की मियाद बढ़ाने के पक्ष में है.

  • Share this:

नई दिल्ली. उज्ज्वला योजना (Ujjwala Yojana) के तहत एलपीजी कनेक्शन (LPG Connection) मिलने वाले ग्राहकों को कोरोना संकट (Corona Crisis) के बीच बड़ी राहत मिल सकती है. सूत्रों के मुताबिक, तेल कंपनियां EMI डेफरमेंट स्कीम की मियाद अगले एक साल तक बढ़ा सकती है जो इस साल जुलाई 2020 में यह खत्म हो रही है. इसका मतलब ये है कि अगले एक साल तक उज्ज्वला योजना के ग्राहक जो एलपीजी सिलेंडर (LPG Cylinder) खरीदते हैं तो उनको EMI की कोई भी राशि तेल कंपनियों को देने की जरूरत नहीं होगी. उज्ज्वला योजना के तहत एक प्रावधान है जिसमें जब आप एलपीजी कनेक्शन लेते हैं तो कुल लागत स्टोव (Gas Stove) के साथ 3,200 रुपए की होती है. जिसमें 1,600 रुपए की सब्सिडी (Subsidy) सीधे तौर पर सरकार की तरफ से दी जाती है और बाकी 1,600 रुपए की रकम तेल कंपनियां देती हैं. लेकिन ग्राहकों को EMI के रूप में ये 1,600 रुपए की राशि तेल कंपनियों को चुकाना होता है.

EMI का स्ट्रक्चर ऐसा है कि ग्राहक को अलग से राशि तेल कंपनियों को देने की जरूरत नहीं होती. जब आप LPG सिलेंडर को रिफिल कराने जाते हैं और उस जो सब्सिडी की रकम आपके खाते में डीबीटी के जरिए आनी चाहिए, वो आपके खाते में ना आकर, तेल कंपनियों दी जाती है. यह तब तक दी जाती है जब तक कि 1600 रुपए की रकम आप चुका न दें. एक बार यह चुका देने के बाद, फिर से आपको सब्सिडी की रकम मिलने लगती है.

14 किलो के पहले 6 सिलेंडर पर EMI नहीं

इससे उज्ज्वला ग्राहकों पर आर्थिक बोझ आ रहा था, जो रिफिल रेट उसमें ज्यादा तेजी नहीं आ रही थी. लिहाजा पेट्रोलियम मंत्रालय के आदेश पर तेल कंपनियों EMI डेफरमेंट स्कीम की शुरुआत की. इसमें एक साल में ग्राहकों को 14 किलो का सिलेंडर लेते हैं तो 6 सिलेंडर पर EMI देने की जरूरत नहीं है. सातवें सिलेंडर पर उनको ईएमआई देना पड़ेगा.
ये भी पढ़ें:- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम में लगातार 2 महीने तक आएंगे 2000-2000 रु!



इसी तरह, 5 किलो के सिलेंडर खरीदने वालों को 17 सिलेंडर तक कोई ईएमआई देने की जरूरत नहीं है. 18वें सिलेंडर खरीदने पर आपको ईएमआई देने की जरूरत पड़ेगी. EMI नहीं लेने से ग्राहक को सब्सिडी रेट पर सिलिंडर मिलेगा. सूत्रों के मुताबिक, पेट्रोलियम मंत्रालय ने तेल कंपनियों से स्टेटस रिपोर्ट तैयार करने को कहा है. अगस्त 2019 के बाद कनेक्शन लेने वालों को फायदा मिलेगा.

कैसे करें आवेदन?

PMUY के तहत गैस कनेक्शन लेने के लिए BPL परिवार की कोई महिला आवेदन कर सकती है. इसके लिए आपको KyC फार्म भर कर नजदीकी एलपीजी केंद्र में जमा करना होगा. PMUY में आवेदन के लिए 2 पेज का फॉर्म, जरूरी दस्‍तावेज, नाम, पता, जन धन बैंक अकाउंट नंबर, आधार नंबर आदि की जरूरत पड़ती है. आवेदन करते समय आपको यह भी बताना होगा कि आप 14.2 किलोग्राम का सिलेंडर लेना चाहते हैं या 5 किलोग्राम का. PMUY का आवेदन पत्र आप प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं. आप नजदीकी एलपीजी केंद्र से भी आवेदन फॉर्म ले सकते हैं.

PMUY के लिए कौन से दस्तावेज हैं जरूरी?

पंचायत अधिकारी या नगर निगम पालिका अध्‍यक्ष द्वारा अधिकृत BPL कार्ड

बीपीएल (BPL) राशन कार्ड

फोटो आईडी (आधार कार्ड, वोटर आईडी)

पासपोर्ट साइज की फोटो

राशन कार्ड की कॉपी

राजपत्रित अधिकारी (गैजेटेड अधिकारी) द्वारा सत्यापित स्व-घोषणा पत्र

LIC पालिसी, बैंक स्टेटमेंट

BPL सूची में नाम का प्रिंट आउट

(प्रकाश प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज