Paytm मामले में सोनिया धवन को मिली ज़मानत, विजय शेखर शर्मा को ब्लैकमेल करने का आरोप

पेटीएम की पूर्व सीनियर एग्जिक्यूटिव को इलाहाबाद हाईकोर्ट से ज़मानत मिल गई है.उन पर पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा को और उनके भाई अजय शेखर को ब्लैकमेल करने का आरोप है

News18Hindi
Updated: March 15, 2019, 4:16 PM IST
Paytm मामले में सोनिया धवन को मिली ज़मानत, विजय शेखर शर्मा को ब्लैकमेल करने का आरोप
सोनिया धवन (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: March 15, 2019, 4:16 PM IST
पेटीएम की पूर्व सीनियर एग्जिक्यूटिव  सोनिया धवन को इलाहाबाद हाईकोर्ट से ज़मानत मिल गई है. इससे पहले उनकी ज़मानत याचिका फरवरी महीने में सूरजपुर जिला अदालत ने रद्द कर दी थी.  उन पर पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा को और उनके भाई अजय शेखर को ब्लैकमेल करने का आरोप है. सोनिया धवन पर विजय शेखर की सेक्रेटरी रहते हुए डेटा चोरी कर उसे सार्वजनिक करने की धमकी दी और  इसके एवज में 20 करोड़ रुपए की मांग रखने का आरोप लगा था.

कौन है सोनिया धवन
>> सोनिया धवन पेटीएम की वाइस प्रेसीडेंट, कॉरपोरेशन्स/पीआर थी और कंपनी में अपने करियर की शुरुआत विजय शेखर शर्मा की सेक्रेटरी के तौर पर की थी.
>> सोनिया की लिंक्डइन प्रोफाइल के मुताबिक उसने पेटीएम 2010 में ज्वाइन किया था.

>> इससे पहले वह टाइम्स इंटरनेट एंड केयर्न इंडिया में बिजनेस ऑपरेशन मैनेजर और कॉर्पोरेट अफसर के रूप में कार्य कर चुकी है.



ये भी पढ़ें-Paytm Money की खास स्कीम 100 रुपए से शुरू करें लाखों रुपए बनाना, जानिए क्या है प्रोसेस

क्या है मामला- पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा और उनके भाई अजय शेखर को ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया था. आरोप है कि सेक्रेटरी सोनिया धवन ने डेटा चोरी कर उसे सार्वजनिक करने की धमकी दी. इसके एवज में 20 करोड़ रुपए की मांग रखी. पुलिस ने सोनिया समेत 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर किया जबकि रोहित अभी फरार है. अजय शेखर के मुताबिक, 20 सितंबर को पहली बार थाईलैंड के वर्चुअल नंबर से डेटा लीक करने के लिए धमकी भरा फोन आया था दूसरे दिन उसी नंबर से विजय के पास भी फोन आया.
Loading...

ऐसे हुआ खुलासा- अजय शेखर ने बताया कि ब्लैकमेल करने वाले कोलकाता के आरोपी रोहित चोमल को पैसे देने के बाद नोएडा पुलिस को जानकारी दी गई थी. पड़ताल में पता चला कि सोनिया, रूपक और कंपनी का एडमिन देवेंद्र तीनों मिलकर रोहित के साथ इस साजिश में शामिल हैं. इसलिए सेक्टर-20 थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी.

ये भी पढ़ें, क्‍या पेटीएम ब्‍लैकमेल मामले में सोनिया धवन को फंसाया गया है?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...