लाइव टीवी

एक महीने में 4.67 रुपये सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, जानिए और कितने कम होंगे दाम

News18Hindi
Updated: November 2, 2018, 9:40 AM IST
एक महीने में 4.67 रुपये सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, जानिए और कितने कम होंगे दाम
पेमेंट के बाद ही मिलेगा 1 लीटर पेट्रोल: इस ऑफर का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन में HP रिफ्यूल ऐप डाउनलोड करना होगा. ऐप डाउनलोड करने के बाद आपको HP के पेट्रोल पंप पर 5 लीटर पेट्रोल खरीदना होगा और इसका भुगतान कंपनी के ऐप से करना होगा. ऐप से पेमेंट करने के बाद आप 1 लीटर फ्री पेट्रोल पाने के हकदार होंगे.

पिछले एक महीने यानी 30 दिन में पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में 4.67 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है. अगले 15 दिन में पेट्रोल 4-5 रुपये तक सस्ता हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2018, 9:40 AM IST
  • Share this:
पिछले एक महीने यानी 30 दिन में पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में 4.67 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है. अगले 15 दिन में पेट्रोल 4-5 रुपये तक सस्ता हो सकता है. दरअसल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल सस्ता हो गया है. वहीं, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में मज़बूती आई है. इसीलिए एक्सपर्ट्स मान रहे है कि देश में पेट्रोल 4-5 रुपये तक सस्ता हो सकता है. बता दें कि दिल्ली में शुक्रवार को पेट्रोल के दाम 79.18 रुपये प्रति लीटर है. वहीं, एक लीटर डीज़ल खरीदने के लिए आज आपको दिल्ली में 73.64 रुपये चुकाने होंगे.

4-5 रुपये तक घट सकते हैं दाम- केडिया कमोडिटा के एमडी  अजय केडिया ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि सऊदी अरब की ओर से कच्चे तेल की सप्लाई बढ़ने से दाम गिर रहे है. 3 अक्टूबर को कच्चा तेल अपने इस साल के ऊपरी स्तर 86.74 डॉलर प्रति बैरल पर था. वहीं, अब 16 फीसदी गिरकर कीमतें 73 डॉलर प्रति बैरल आ गई है. (ये भी पढ़ें-लगातार सातवें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में गिरावट, जानें क्या हैं नए दाम)

 



7 महीने के निचले स्तर पर आए कच्चे तेल के दाम


क्यों सस्ता हुआ पेट्रोल-डीज़ल- कच्चे तेल की आपूर्ति बढ़ने के आसार से कीमतों पर दबाब बना हुआ है. पिछले कुछ दिनों से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें सीमित दायरे में देखी जा रही है. ग्लोबल बाजार में कच्चे तेल के भाव में नरमी बनी आने से भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में कमी आई है.

अजय केडिया बताते हैं कि कच्चा तेल यहां से 70 डॉलर प्रति बैरल तक आ सकता है. ऐसे में रुपया और सस्ता हो सकता है. एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये  72.50 रुपये तक आ सकता है, तो देश में पेट्रोल के दाम 4-5 रुपये तक कम होने का अनुमान है. हालांकि, सरकार ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (HPCL,BPCL, IOC) से एक रुपये की छूट वापस लेने के लिए कह सकती है. (ये भी पढ़ें-इस राज्य में पेट्रोल से महंगा बिक रहा डीजल, जानें क्या है कारण?)

पेट्रोल-डीजल के रेट्स इन आधार पर होते हैं तय- एनर्जी एक्सपर्ट्स नरेंद्र तनेजा ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि ऑयल मार्केटिंग कंपनियां तीन आधार पर पेट्रोल और डीजल के रेट्स तय करती हैं. पहला इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड (कच्चे तेल का भाव). दूसरा देश में इंपोर्ट (आयात) करते वक्त भारतीय रुपए की डॉलर के मुकाबले कीमत. इसके अलावा तीसरा आधार इंटरनेशनल मार्केट में पेट्रोल-डीजल के क्या भाव हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2018, 9:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर