लाइव टीवी

खुशखबरी! 7 से 8 रुपये और सस्ता हो सकता है पेट्रोल, 45 दिन में बदल जाएंगे पेट्रोल पंप

News18Hindi
Updated: January 3, 2019, 1:35 PM IST

आने वाले दिनों में पेट्रोल 7 से 8 रुपये और सस्ता हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक मार्च तक 15 फीसदी मेथेनॉल ब्लेंडेड पेट्रोल जल्द ही पेट्रोल पंपों पर बिकना शुरू हो जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2019, 1:35 PM IST
  • Share this:
(आलोक प्रियदर्शी)

आने वाले दिनों में पेट्रोल 7 से 8 रुपये और सस्ता हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक मार्च तक 15 फीसदी मेथेनॉल ब्लेंडेड पेट्रोल जल्द ही पेट्रोल पंपों पर बिकना शुरू हो जाएगा. हालांकि इसके लिए अभी पेट्रोल पंपों को जल्द से जल्द जरूरी बदलाव करना पड़ेगा.

नीति आयोग के मुताबिक, पम्पों पर बदलाव प्रक्रिया जल्द शुरू होगी. पम्पों पर एक अतिरिक्त रिफीलिंग मशीन होगी. 45 दिनों में 50000 पंपों में बदलाव संभव है. नीति आयोग की अगले हफ्ते बैठक होगी जिसमें मेथेनॉल की उपलब्धता बढ़ाने पर चर्चा होगी. इस मुद्दे पर तेल कंपनियों और सभी स्टेक होल्डर्स के साथ भी बैठक होगी. (ये भी पढ़ें: किसानों को फ्री में मिलेंगे 4000 रु/ महीना और बिना ब्याज का लोन, जानिए क्या है सरकार की योजना)

कब से मिलेगा सस्ता पेट्रोल

>> मेथेनॉल से गाड़ियां चलाने की तैयारी पर तेजी से काम हो रहा है
>> 15 फीसदी मेथेनॉल मिले हुए पेट्रोल से गाड़ियां चलनी शुरू हो गई है
>> मेथेनॉल मिला हुआ पेट्रोल 7-8 रुपये तक सस्ता होगा>> 45 दिनों में 50000 पंपों में बदलाव संभव है
>> पम्पों पर एक अतिरिक्त रिफीलिंग मशीन होगी
>> मार्च तक 15 फीसदी मेथेनॉल ब्लेंडेड पेट्रोल जल्द ही पेट्रोल पंपों पर बिकना शुरू हो जाएगा
>> इन पेट्रोल पंप को लगाने पर 5 लाख रुपये का आएगा खर्च

ऐसा क्यों कर रही है सरकार
>> एथेनॉल के मुकाबले मेथेनॉल काफी सस्ता है
>> एथेनॉल 40 रुपये प्रति लीटर हैं. वहीं, मेथेनॉल 20 रुपये लीटर से भी सस्ता है
>> मेथेनॉल के इस्तेमाल से प्रदूषण घटेगा

ये भी पढ़ें: अब 18 साल पूरे होते ही बच्चे रद्द करा सकेंगे अपना आधार, मोदी सरकार देगी अधिकार

कहां से आएगा मेथनॉल
>> घरेलू उत्पादन बढ़ाने और इंपोर्ट पर सरकार का फोकस है.
>> RCF (राष्ट्रीय केमिकल एंड फर्टिलाइजर) GNFC (गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन) और असम पेट्रोकेमिकल जैसी कंपनियों के क्षमता विस्तार की तैयारी पूरी कर चुकी है.

गन्‍ने से बनता है इथेनॉल- इथेनॉल गन्‍ने से तैयार कि‍या जाता है। वर्ष 2003 में भारत में पेट्रोल में 5 फीसदी की इथेनॉल मि‍क्‍सिंग को अनिवार्य कि‍या गया था. इसका मकसद था पर्यावरण की सुरक्षा, वि‍देशी मुद्रा की बचत और कि‍सानों का फायदा. अभी 10% तक ब्‍लेंडिंग की जा सकती है.

ये भी पढ़ें: IOC दे रहा है 25 हजार रुपये का मुफ्त में पेट्रोल, बस करना होगा ये आसान सा काम

(संवाददाता, सीएनबीसी आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 3, 2019, 12:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर