Yes Bank संकट को पहले ही भांप गया तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर ट्रस्ट, ऐसे बचाए ₹1300 करोड़!

कोरोना मरीजों को क्वारंटाइन करने के लिए तिरुपति मंदिर के गेस्ट हाउस को दिया गया है.
कोरोना मरीजों को क्वारंटाइन करने के लिए तिरुपति मंदिर के गेस्ट हाउस को दिया गया है.

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के तिरुमला में तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर (Tirupati Venkateswara Mandir) ट्रस्ट का एक कदम अब उसके लिए किसी वरदान से कम साबित नहीं हुआ है.

  • Share this:
हैदराबाद. यस बैंक संकट (Yes Bank Crisis) से ठीक पहले ही आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के तिरुमला में तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर (Tirupati Venkateswara Mandir) ट्रस्ट का एक कदम उसके लिए किसी वरदान से कम साबित नहीं हुआ है. दरअसल, इस मंदिर के ट्रस्ट ने कुछ महीने पहले ही यस बैंक से 1300 करोड़ रुपये निकाले थे. वाईवी सुब्बा रेड्डी (YV Subba Reddy) ने तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (Tirumala Tirupati Devasthanams) का अध्यक्ष बनने के तुरंत बाद अधिकारियों से कहा कि वो यस बैंक में जमा रकम निकाल लें. इस ट्रस्ट ने 4 प्राइवेट बैंकों में फंड जमा करा रखा है, जिसमें से यस बैंक भी एक है.

मुख्यमंत्री को भी दी जानकारी
सुब्बा रेड्डी ने इन प्राइवेट बैंकों (Private Banks) की फाइनेंशियल पोजीशन परखने के बाद यस बैंक से 1300 करोड़ रुपये निकालने का फैसला किया था. हालांकि, उन्हें इस फैसले के लिए ट्रस्ट के अन्य सदस्यों का दबाव भी झेलना पड़ा. उन्होंने इस मामले के बारे में मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) को अवगत कराया था. मुख्यमंत्री से बात करने के बाद ही उन्होंने यस बैंक से यह रकम निकालने का आदेश दिया था.

ये भी पढ़ें:- मोदी सरकार का दावा, किसानों की इनकम बढ़ी, जानिए अब हर माह कितनी है कमाई
दुनिया का दूसरा सबसे अमीर ट्रस्ट है TTD


तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम, जिसे संक्षेप में TTD के रूप में जाना जाता है, एक स्वतंत्र ट्रस्ट है जो आंध्र प्रदेश के तिरुमला में तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर का प्रबंधन करता है. ट्रस्ट दुनिया के दूसरे सबसे अमीर और सबसे ज्यादा जाने वाले धार्मिक केंद्र के संचालन और वित्त की देखरेख करता है. यह विभिन्न सामाजिक, धार्मिक, साहित्यिक और शैक्षिक गतिविधियों में भी शामिल है. TTD का मुख्यालय तिरुपति में है और इसमें लगभग 16,000 लोग कार्यरत हैं.

1 महीने तक यस बैंक से नहीं निकाल सकते हैं 50 हजार से अधिक
बता दें कि यस बैंक की वित्तीय हालत को देखते हुए 5 मार्च को केंद्र सरकार ने प्र​तिबंध लगा दिया है. सरकार के इस फैसले के बाद इस बैंक का कोई भी डिपॉजिटर (Yes Bank Depositors) अपने अकाउंट से 50 हजार रुपये से अधिक रकम नहीं निकाल सकता है. यस बैंक पर यह प्रतिबंध 3 अप्रैल 2020 तक के लिए लगाया गया है. सरकार ने यस बैंक पर यह प्रतिबंध लगाने के बाद डिपॉजिटर्स को आश्वस्त किया है कि उन्होंने चिंता करने की कोई बात नहीं है. बैंक में उनका डिपॉजिट बिल्कुल सुर​क्षित है.

(रमन्ना कुमार पीवी, न्यूज18इंडिया)

यह भी पढ़ें: Yes Bank में आती है आपकी सैलरी या कटती है EMI, SIP तो जान लीजिए अब क्या करें?

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज