कोरोना में छोटी-छोटी बचत से इमरजेंसी फंड तैयार करने का सबसे बेस्ट तरीका यहां जानें

लिक्विड फंड में एफडी से ज्यादा रिटर्न मिल सकता है.

लिक्विड फंड में एफडी से ज्यादा रिटर्न मिल सकता है.

कोरोनाकाल में फिल्म, मॉल, रेस्टोरेंट आदि के कई खर्चें बचें हैं. इन पैसों का निवेश लिक्विड फंड में किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 2:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनावायरस (Coronavirus) की वजह से अर्थव्यवस्था पर फिर से संकट आ गया है. देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन (Lockdown) लग रहा है. यानी फिर से कई लोगों की नौकरियों पर संकट आ सकता है. इससे बचने के लिए जरूरी है इमरजेंसी फंड (Emergency Fund) तैयार करना. यह फंड कोरोनाकाल में छोटी-छोटी बचत से तैयार किया जा सकता है.

विशेषज्ञों के मुताबिक यदि आप पहले चरण में इस योजना से चूक गए हैं तो अभी भी मौका है कि आप इसका उपयोग कर सकते हैं. कोरोना में बचे पैसों को आप म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) में निवेश कर लंबे समय में एक बड़ा फंड तैयार कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात :  इंटरव्यू में नई स्किल के बेहतर प्रदर्शन से मिलेगी जॉब की गारंटी, जानिए ऐसे ही अहम मंत्र


इस तरह से कर सकते हैं छोटी बचत

सामान्यत: एक परिवार में 4 सदस्य होते हैं. इसलिए हम इसे एक उदाहरण के तौर पर मानें तो महीने में एक बार फिल्म देखने पर 4 सदस्यों पर कम से कम 2,500 रुपए खर्च होते हैं. इसी तरह महीने में एक बार होटल जाने पर 2,000 रुपए खर्च होते हैं. चूंकि अब अधिकांश लोगों का वर्क फ्रॉम होम चल रहा है. इसलिए आपके ऑफिस आने- जाने और अन्य खर्च भी इसमें होते हैं. इस तरह से सभी खर्च मिला दें तो महीने का यह 10 हजार रुपए के करीब होता है. इसके अलावा जिम, पार्लर, ट्यूशन, ऑनलाइन ऑर्डर जैसे अन्य ऐसे तमाम खर्चे थे जो इस समय रुक गए हैं. यानी एक चार सदस्यों के परिवार की बात करें तो इस समय मासिक कम से कम 10,000 रुपए वह इन खर्चों के रूप में बचा रहा है.

यह भी पढ़ें : भारत की कंपनियां इस फार्मूले पर देती हैं जॉब, अच्छी नौकरी पाने के लिए जानें यह तरीका





लिक्विड फंड में कर सकते हैं निवेश

जब आपके पास नौकरी न हो या कोई आपात काल की स्थिति हो तब आप चाहें तो इन खर्चों को बचाकर इसका उपयोग आनेवाले समय में तब कर सकते हैं. इसके लिए सबसे उम्दा तरीका 2-4 महीने के लिए आप इन पैसों को म्यूचुअल फंडों के लिक्विड फंड में निवेश करने का है. यहां एफडी से ज्यादा रिटर्न मिल सकता है. इस समय जब बाजार हाल में गिरा है तो काफी सारे शेयर भी पिटे हैं. निवेश सलाहकारों की सलाह लेकर आप कुछ पैसे इसमें भी लगा सकते हैं.

ऑन लाइन खरीदी के लुभावने ऑफरों पर न जाएं

आजकल ऑन लाइन खरीदी और माल कल्चर हावी है जहां आवश्यकता न होने पर भी खर्चे हो जाते हैं. यह खर्चे इस तरह होते हैं कि आपको पता भी नहीं चलता है. ढेर सारी कंपनियां तमाम ऑफर देकर आप से पैसे निकलवाती हैं. याद रहे कि कोई भी कंपनी बिना फायदे के कोई उत्पाद नहीं देगी. पर आपको 500 रुपए का ऑफर देकर वह आपसे 5,000 रुपए खर्च करवाती है. याद रखिए कि 500 पाने के लिए आपके 5,000 रुपए चले जाते हैं.

यह भी पढ़ें :  कोरोना वैक्सीन बनाने वाली सीरम ने इस बड़ी कंपनी में किया निवेश, जानें सब कुछ 

म्यूचुअल फंड की एसआईपी में टॉप अप कर बढ़ाएं निवेश

अगर आप के पास थोड़े अतिरिक्त पैसे हैं तो आप इस समय म्यूचुअल फंड में एसआईपी में टॉप अप कर सकते हैं. जैसे ही कोरोना का असर कम होगा तो आपको दो अंकों में रिटर्न मिल सकता है. आंकड़े बताते हैं कि पिछले एक साल में म्यूचुअल फंड की तमाम स्कीम ने 40 से 90 पर्सेंट तक का फायदा दिया है. शेयर बाजार की बात करें को यह 52 हजार के अंक से करीबन 6% टूटा है. कई सारे शेयर हाल में पिटे हैं. आप चाहें तो इसमें भी निवेश कर सकते हैं. ध्यान रखें कि आपको निवेश अगले एक साल के नजरिए से करना चाहिए. क्योंकि कोरोना का असर अभी भी कुछ महीनों तक रहने वाला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज