Home /News /business /

LIC का बचत प्लस प्लान, सुरक्षा के साथ सेविंग्स भी, जानें डिटेल

LIC का बचत प्लस प्लान, सुरक्षा के साथ सेविंग्स भी, जानें डिटेल

एलआईसी बचत प्लस प्लान पॉलिसी के तहत बेसिक सम एश्योर्ड 1 लाख रुपये है.

एलआईसी बचत प्लस प्लान पॉलिसी के तहत बेसिक सम एश्योर्ड 1 लाख रुपये है.

अगर आप LIC Bachat plus plan का किस्तों में प्रीमियम भरना चाहते हैं तो मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर प्रीमियम जमा किया जा सकता है.

    LIC Bachat plus plan: देश की सबसे बड़ी सरकारी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम- एलआईसी समय-समय पर ऐसे प्रोडक्ट लॉन्च करती रहती है, जिनसे आम आदमी को सुरक्षा के साथ-साथ बचत का भी लाभ मिलता है.

    यहां बात कर रहे हैं LIC बचत प्लस प्लान की. एलआईसी बचत प्लस प्लान पॉलिसी के तहत बेसिक सम एश्योर्ड 1 लाख रुपये है. अधिकतम सम एश्योर्ड की कोई सीमा नहीं है.

    इस प्लान में आप प्रीमियम का भुगतान पांच तक करना होता है. आप चाहें तो प्रीमियम का भुगतान एकमुश्त सिंगल प्रीमियम के तौर पर दे सकते हैं या फिर लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के तौर पर किया जा सकता है.

    अगर आप किस्तों में प्रीमियम भरना चाहते हैं तो मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर प्रीमियम जमा किया जा सकता है. सिंगल प्रीमियम विकल्प के मामले में प्रीमियम का 2 फीसदी और लिमिटेड प्रीमियम विकल्प के मामले में प्रीमियम का 7 फीसदी रहेगा. अगर आप बिना किसी एजेंट के ऑनलाइन पॉलिसी लेते हैं तो आपको रिबेट भी मिलेगी.

    कौन ले सकता है प्लान, क्या हैं फायदे
    एलआईसी के इस प्लान की मैच्योरिटी 18 साल पर होती है. अगर जोखिम की शुरुआत की तारीख से पहले ही पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है तो ब्याज के बिना प्रीमियम रिफंड कर दिया जाएगा. इसमें टैक्स, एक्स्ट्रा चार्ज और राइडर प्रीमियम शामिल नहीं होगा.

    Online fraud और QR Code धोखाधड़ी से कैसे बचें, जानें यहां

    जोखिम की शुरुआत की तारीख के बाद अगर पॉलिसी धारक की मृत्यु होती है तो मृत्यु पर तय सम एश्योर्ड का भुगतान किया जाएगा.

    पॉलिसी के 5 साल पूरा होने के बाद लेकिन मैच्योरिटी से पहले मृत्यु होने पर सम एश्योर्ड का भुगतान किया जाएगा.

    मैच्योरिटी बेनिफिट (LIC Bachat Plus Plan Benefits)
    पॉलिसी की मैच्योरिटी के बाद पॉलिसीधारक को मैच्योरिटी अमाउंट का भुगतान किया जाएगा. साथ ही अगर कोई लॉयल्टी एडिशन है तो वह भी दिया जाएगा. मैच्योरिटी अमाउंट, बेसिक सम एश्योर्ड के बराबर होगा. पॉलिसीधारक चाहे तो मैच्योरिटी बेनिफिट एकमुश्त ले सकता है या फिर चाहे तो इसे 5 या 10 या 15 साल की अवधि में किस्तों में पा सकता है. इसी तरह मृत्यु बेनिफिट भी 5 या 10 या 15 साल की अवधि में किस्तों में या फिर एकमुश्त पाया जा सकता है.

    अन्य खासियत
    सिंगल प्रीमियम पेमेंट के मामले में पॉलिसी को मैच्योरिटी से पहले कभी भी सरेंडर किया जा सकता है. अगर पहले वर्ष में पॉलिसी सरेंडर कर रहे हैं सिंगल प्रीमियम की 75 फीसदी रकम मिलेगी. इसके बाद सरेंडर करने पर सिंगल प्रीमियम की 90 फीसदी रकम मिल जाएगी. लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट विकल्प में कम से कम 2 साल के प्रीमियम का भुगतान किए जाने के बाद सरेंडर किया जा सकता है.

    एलआईसी बचत प्लस प्लान में आप लोन भी ले सकते हैं. फ्री लुक पीरियड की बात करें तो अगर पॉलिसीधारक पॉलिसी से संतुष्ट नहीं है तो ऑफलाइन पॉलिसी के मामले में इसे लेने के 15 दिन के अंदर लौटाया जा सकता है. ऑनलाइन ली है तो ऐसा 30 दिन कें अंदर किया जा सकता है.

    Tags: Life Insurance Corporation of India (LIC), Personal finance

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर