कोरोना काल में LIC को हुआ बंपर फायदा, सिर्फ 6 महीने में आपके पैसों से कमाया करोड़ों का मुनाफा

कोरोना काल में कंपनी को करीब 15 हजार करोड़ रुपए फायदा हुआ है.
कोरोना काल में कंपनी को करीब 15 हजार करोड़ रुपए फायदा हुआ है.

Life Insurance Corporation (LIC) ने पिछले 6 महीने में रिकॉर्ड तोड़ मुनाफा कमाया है. कोरोना काल में कंपनी को करीब 15 हजार करोड़ रुपए का फायदा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 12:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी सरकारी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (Life Insurance Corporation) ने पिछले 6 महीने में रिकॉर्ड तोड़ मुनाफा कमाया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोना काल में कंपनी को करीब 15 हजार करोड़ रुपए फायदा हुआ है. इसके अलावा फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में कंपनी के शेयरों में निवेश से अच्छा मुनाफा हुआ. आपको बता दें कंपनी को पिछले वित्त वर्ष में 18,500 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था.

पिछले 6 महीने में हुआ बंपर फायदा
LIC के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, कंपनी ने पिछले 6 महीने में इंडियन शेयर मार्केट में करीब 50,000 करोड़ का निवेश किया है. कोरोना काल की वजह से मार्च में बाजार में गिरावट देखने को मिली थी, जिसके बाद कंपनी ने इक्विटीज में निवेश को बढ़ाया और आज LIC करीब 15 हजार करोड़ रुपए के मुनाफे में कारोबार कर रही है.

यह भी पढ़ें: आज से कोई भी खरीद सकता है Electoral Bond, आपके पैसा लगाने से मिलता है राजनीतिक पार्टियों को फायदा
कंपनी ने मार्च में किया बड़ा निवेश


अंग्रेजी के बिजनेस अखबार इकोनॉमिक टाइम्स  को LIC के अधिकारी ने बताया कि, 'एलआईसी का बाजार में कॉन्ट्रा निवेशक है. मार्च में जब बाजारों में भारी गिरावट देखने को मिली थी उस समय हमने निवेश किया और फिर जब बाजार चढ़े तो हमने मुनाफावसूली की.' साल 2020 में 19 फरवरी से 23 मार्च के दौरान बीएसई सेंसेक्स 37 फीसदी तक गिरा था.

अभी कंपनी करेगी 2 लाख करोड़ का निवेश
अधिकारी ने कहा कि एलआईसी पिछले 6 महीनों में इक्विटीज, गवर्नमेंट सिक्योरिटीज, कॉरपोरेट बॉन्ड और स्टेट डेवलपमेंट लोन में 2.6 लाख करोड़ रुपए निवेश कर चुकी है. इस साल अभी कंपनी ने 2 लाख करोड़ रुपए के और निवेश का प्लान बनाया है. पिछले वित्त वर्ष में कंपनी ने 4 लाख करोड़ रुपए से अधिक निवेश किया था.

कितनी बढ़ी कंपनी की वैल्यु?
बता दें 30 जून 2020 तक भारतीय शेयर बाजार कंपनी की वैल्यु 5.34 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गई थी जोकि 31 मार्च 2020 को 4.51 लाख करोड़ रुपए की थी.

यह भी पढ़ें: अब Aadhaar नंबर से निकलेंगे पैसे, सिर्फ इन 4 बातों का रखना है ध्यान

51 कंपनियों में बढ़ाई हिस्सेदारी
कंपनी ने पिछली तिमाही में 51 कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है. वहीं, 30 कंपनियों में हिस्सेदारी घटाई है. इसके अलावा 224 कंपनियों की हिस्सेदारी में कोई बदलाव नहीं हुआ है.

LIC आईपीओ में हो सकती है देरी-चालू वित्त वर्ष में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) की IPO नहीं आ सकेगी. दरअसल, IPO लाने से पहले की तैयारियों और समय की कमी की वजह से जरूरी औपचारिकताएं नहीं पूरा हो सकेंगी. एक ​मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से इस बारे में जानकारी दी गई है. केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए विनिवेश का लक्ष्य (FY21 Disinvestment Target) 2.1 लाख करोड़ रुपये रखा है, जिसका एक बड़ा हिस्साLIC में 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचने से आने वाला है. अगर यह मान लें कि BPCL में हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया को 31 मार्च 2021 तक पूरा कर लिया जाता है, तब जाकर विनिवेश का लक्ष्य 1 लाख करोड़ रुपये पहुंच सकेगा.

एलआईसी एक्ट में संशोधन का पेंच-वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग (Department of Financial Services) ने एलआईसी एक्ट (LIC Act, 1956) में संशोधन के लिए एक कैबिनेट ड्राफ्त प्रस्तावित किया है. कानूनी रूप से LIC Act में संशोधन के बाद ही इस सरकारी बीमा कंपनी का विनिवेश किया जा सकेगा. LIC की 25 फीसदी हिस्सेदारी अलग-अलग हिस्सों में बेचने की योजना है. ड्राफ्ट नोट के मुताबिक, LIC IPO की साइज 5 से 10 फीसदी के करीब होगी. यह ऑफरिंग के समय में बाजार की स्थिति पर भी निर्भर करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज