बैंक कर्मियों के बाद आज LIC कर्मचारी करेंगे हड़ताल, जानें आखिर क्या है कारण

बैंक कर्मियों के बाद आज LIC कर्मचारी करेंगे हड़ताल

बैंक कर्मियों के बाद आज LIC कर्मचारी करेंगे हड़ताल

बैंक कर्मचारियों के बाद अब एलआईसी (LIC) कर्मचारी भी आज हड़ताल पर रहेंगे. एलआईसी (Life Insurance coporation) के कर्मचारी विनिवेश का विरोध कर रहे हैं, जिसके चलते हड़ताल करने का ऐलान किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 9:09 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: बैंक कर्मचारियों के बाद अब एलआईसी (LIC) कर्मचारी भी आज हड़ताल पर रहेंगे. एलआईसी (Life Insurance coporation) के कर्मचारी विनिवेश का विरोध कर रहे हैं, जिसके चलते हड़ताल करने का ऐलान किया गया है. यह हड़ताल एक दिन की है. बता दें इस सरकारी कंपनी की शुरुआत साल 1956 में हुई थी और इस समय इसमें करीब 114,000 कर्मचारी काम करते हैं. इसके अलावा करीब 29 करोड़ से ज्यादा पॉलिसी होल्डर्स भी हैं.

केंद्र सरकार ने इस साल के बजट में LIC का आईपीओ (LIC IPO) लाने का ऐलान किया था. इसके अलावा PSU और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस में हिस्सेदारी बेचकर 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का विनिवेश लक्ष्य रखा था, जिसके लिए सरकार ने दो बैंकों और एक सार्वजनिक क्षेत्र की इंश्योरेंस कंपनी के निजीकरण का ऐलान किया था.

यह भी पढ़ें: शादी के सीजन में कमाई करने वाला बिजनेस, एक ही दिन में हो जाएगी 2 लाख की कमाई, जानें कैसे

क्या है सरकार का प्लान?
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि IDBI बैंक के अलावा, दो पब्लिक सेक्टर बैक और एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी वित्त वर्ष 2021-22 में सरकार की विनिवेश योजना का हिस्सा हैं. विनिवेश के जरिए जुटाई गई रकम से सरकार सोशल और डेवलपमेंट प्रोग्राम को फाइनेंस करेगी.

कितनी है कंपनी की वर्तमान वैल्यु?

जानकारों की मानें तो इस समय एलआईसी की वर्तमान वैल्यु करीब 12 लाख करोड़ रुपये के करीब होगी, जिसमें से सरकार 10 फीसदी हिस्सा बेचने का प्लान बना रही है. सरकार विनिवेश के जरिए करीब 1.2 लाख करोड़ रुपये इकट्ठा करेगी. कर्मचारी जिसका विरोध कर रहे हैं. इसके अलावा 74 फीसदी एफडीआई का भी विरोध कर रहे हैं.



यह भी पढ़ें: SBI के साथ खोलें कमाई कराने वाला खाता, मिलेगा 1350 रुपये का सीधा फायदा, जानें कैसे

बैंक कर्मचारियों ने किया विरोध

केंद्र सरकार पिछले चार सालों में करीब 14 बैंकों का विलय कर चुकी है, जिसके विरोध में यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के बैनर तले 9 यूनियों ने 15 मार्च और 16 मार्च को हड़ताल की थी. इस हड़ताल में करीब 10 लाख लोग शामिल हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज