Home /News /business /

LIC कोटक महिंद्रा बैंक में बढ़ाएगी अपनी हिस्सेदारी, RBI से मिली मंजूरी

LIC कोटक महिंद्रा बैंक में बढ़ाएगी अपनी हिस्सेदारी, RBI से मिली मंजूरी

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC)

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC)

देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) प्राइवेट सेक्टर के कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाकर करीब 10 फीसदी करेगी. कोटक महिंद्रा बैंक ने शेयर बाजार को सोमवार को बताया कि बैंक में एलआईसी की हिस्सेदारी बढ़ाने के प्रस्ताव को भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (RBI) की मंजूरी मिल गई है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) प्राइवेट सेक्टर के कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाकर करीब 10 फीसदी करेगी. कोटक महिंद्रा बैंक ने शेयर बाजार को सोमवार को बताया कि बैंक में एलआईसी की हिस्सेदारी बढ़ाने के प्रस्ताव को भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (RBI) की मंजूरी मिल गई है.

    बैंक ने बताया कि उसे एलआईसी से इस मंजूरी के बारे में सूचना मिली है. बैंक की चुकता इक्विटी शेयर पूंजी में एलआईसी की हिस्सेदारी को बढ़ाकर 9.99 फीसदी करने का प्रस्ताव है. गत 30 सितंबर को बैंक में एलआईसी की हिस्सेदारी 4.96 फीसदी थी. कोटक महिंद्रा बैंक के मुताबिक यह मंजूरी एक साल की अवधि के लिए वैध है.

    ये भी पढ़ें- Amul के साथ 2 लाख रुपये लगाकर शुरू करें अपना बिजनेस तो हर महीने होगी 5 लाख की कमाई, जानें कैसे करें स्टार्ट?

    बैंक में हिस्सा बढ़ाने का यह प्रस्ताव प्राइवेट सेक्टर के बैंकों में शेयरों के अधिग्रहण या मताधिकार के लिए आरबीआई की पूर्व-अनुमति लेने के दिशा-निर्देशों के अधीन है. इसके अलावा देश के मार्केट रेगुलेटर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया यानी सेबी (SEBI) भी विदेशी मुद्रा विनिमय प्रबंधन अधिनियम (FEMA) के प्रावधानों पर गौर करता है.

    प्राइवेट बैंकों में बढ़ेगी प्रमोटर्स की हिस्सदारी
    हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बताया था कि उसने प्राइवेट सेक्टर बैंकों के स्वामित्व और कॉरपोरेट स्ट्रक्चर को लेकर सेंट्रल बैंक वर्किंग कमिटी की तरफ से की गई 33 में से 26 सिफारिशों को मंजूर कर लिया है.  इन सिफारिशों में एक नियम यह भी शामिल है कि प्राइवेट बैंक (Private Banks) के प्रमोटर 15 साल की लंबी अवधि में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 26 फीसदी तक ले जा सकते है. रिजर्व बैंक के मौजूदा नियमों के मुताबिक, किसी प्राइवेट बैंक के प्रमोटर को 10 सालों के भीतर अपनी हिस्सेदारी घटाकर 20 फीसदी और 15 वर्षों के भीतर 15 फीसदी करने की जरूरत है.

    Tags: Kotak Mahindra Bank, Life Insurance Corporation of India (LIC)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर