LIC IPO: कब आएगा LIC का IPO? DIPAM सेक्रेटरी ने दी जानकारी, आप भी जान लें सरकार का प्लान

वर्ष की दूसरी छमाही में आ सकता है LIC का IPO

वर्ष की दूसरी छमाही में आ सकता है LIC का IPO

वित्तमंत्री सीतारमण ने बजट में बताया था कि वह इस साल LIC का आईपीओ (LIC IPO) लाने का प्लान बना रही है. अक्टूबर तक सरकार इसका IPO ला सकती है. इसके अलावा सरकार विनिवेश के जरिए करीब 1.75 लाख करोड़ रुपए जुटाने का प्लान बना रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 6:32 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली: वित्तमंत्री सीतारमण ने बजट में बताया था कि वह इस साल LIC का आईपीओ (LIC IPO) लाने का प्लान बना रही है. अक्टूबर तक सरकार इसका IPO ला सकती है. इसके अलावा सरकार विनिवेश के जरिए करीब 1.75 लाख करोड़ रुपए जुटाने का प्लान बना रही है. बता दें डिपार्टमेंट ऑफ इंवेस्टमेंट एंड पब्लिक ऐसेट मैनेजमेंट (DIPAM) के सेक्रेटरी तुहिन कांता पांडेय (Tuhin Kanta Pandey) ने LIC के IPO और BPCL से साथ Air India के स्टेक सेल की तिथि के बारे में जानकारी दी है.

अक्टूबर में आ सकता है IPO

DIPAM सेक्रेटरी ने जानकारी देते हुए बताया कि एलआईसी का आईपीओ अक्टूबर 2021 के बाद आ सकता है. इसके अलावा सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया और तेल कंपनी बीपीसीएल की बिक्री चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही यानी इस साल सितंकर तक पूरी हो जाएगी.

यह भी पढ़ें: जेफ बेजोस ने लेटर लिखकर दी पद छोड़ने की जानकारी, 1.3 मिलियन कर्मचारियों ने पढ़ा उनका पत्र, जानें क्या लिखा...
कोरोना महामारी की वजह से हुई देरी

PTI को दिए एक इंटरव्यू में सेक्रेटी ने बताया कि भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) और आईडीबीआई में हिस्सेदारी घटाने के लिए जरूरी विधायी संसोधन को पेश किया है. बता दें कि पिछले साल ही एलआईसी का आईपीओ आना था, लेकिन कुछ वजहों से इसमें देरी हुई. माना जा रहा है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से LIC का IPO आने में देरी हुई है.

कई चरणों में बेचेगी हिस्सेदारी



आपको बता दें केंद्र सरकार ने कई चरणों में हिस्सेदारी बेचने का फैसला लिया है. सरकार अपनी 25 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. पहले चरण में 10 फीसदी हिस्सेदारी बेची जाएगी. उसके अगले चरण में बकाया हिस्सेदारी बेचने का प्लान है. 25 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर सरकार को करीब 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा मिलने की संभावना है.

DIPAM ने LIC के IPO से पहले कंपनी के वैल्यूएशन के लिए एक्चुअरियल फर्म Milliman Advisor को नियुक्त किया है. जबकि, Deloitte और SBI Capital को प्री-आईपीओ एडवाइजर नियुक्त किया गया है.

यह भी पढ़ें: नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन शुरू कर रहा सुपर फास्ट सर्विस, अब इन 10 स्टेशन पर नहीं रुकेगी ट्रेन 

13 फरवरी तक जमा करना है EoI

मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को बूस्ट देने के लिए अगले वित्त वर्ष में रिकॉर्ड कैपिटल एक्सपेंडिचर का लक्ष्य रखा है. अतिरिक्त संसाधनों के लिए पैसा विनिवेश और मोनेटाइजेशन के जरिए जुटाया जाएगा. केंद्र सरकार को पहले ही एयर इंडिया और BPCL को एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (EoI) यानी बिड्स प्राप्त हो चुके हैं. शिपिंग कॉरपोरेश आफ इंडिया (SCI) के लिए 13 फरवरी तक एक्सप्रेशन आफ इंटरेस्ट (EoI) यानी रुचिपत्र मिल जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज