LIC के 29 करोड़ खाताधारकों के लिए जरूरी खबर, आज से बदल गया ये नया नियम, आप भी जान लें

भारतीय जीवन बीमा निगम

भारतीय जीवन बीमा निगम

अगर आपको LIC ऑफिस में कोई काम है तो सोमवार से शुक्रवार के बीच में ही जाना होगा. LIC ऑफिस हफ्ते में 5 दिन, सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 10 बजे से शाम के 5.30 बजे तक ही खुलेंगे.

  • Share this:

नई दिल्ली. एलआईसी (LIC) में आज से एक बड़ा बदलाव लागू हो गया है. अगर आपको भी एलआईसी ऑफिस जाना है या फिर फिर इससे जुड़ा कोई काम है तो यह खबर आपके लिए काफी जरूरी है. बता दें 10 मई यानी आज से LIC के सभी ऑफिस में सिर्फ 5 दिन काम (5-Days Working) किया जाएगा. यानी शनिवार और रविवार को कार्यालय पूरी तरह से बंद रहेंगे.

कंपनी ने एक सार्वजनिक नोटिस में कहा है कि 15 अप्रैल 2021 की अधिसूचना में भारत सरकार ने भारतीय जीवन बीमा निगम के लिए प्रत्येक शनिवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है.

आपको बता दें सरकार ने यह बदलाव नेगोशिएबल इंस्ट्रुमेंट्स एक्ट 1881 के सेक्शन 25 के तहत किया है. अगर आपको LIC ऑफिस में कोई काम है तो सोमवार से शुक्रवार के बीच में ही जाना होगा. LIC ऑफिस हफ्ते में 5 दिन, सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 10 बजे से शाम के 5.30 बजे तक ही खुलेंगे.

यह भी पढ़ें: Pm Kisan: आज करोड़ों किसानों के खाते में आ सकती है 2000 रुपये की किस्त! इस तरह फटाफट करें चेक
विज्ञापन के जरिए दे रही है जानकारी

LIC इस बारे में अखबारों में विज्ञापन देकर जानकारी दे रहा है, जिससे ग्राहकों को किसी भी तरह की परेशानी न हो. LIC ने कहा है कि 15 अप्रैल को की गई सरकार की घोषणा के अनुरूप 10 मई से LIC के ऑफिस हर शनिवार औैर रविवार बंद रहा करेंगे.

ऑनलाइन भी कर सकते हैं काम



LIC अपने कस्टमर्स को ऑनलाइन सुविधा भी उपलब्ध करवाता है. उसकी आधिकारिक वेबसाइट https://licindia.in/ पर आप सारा काम ऑनलाइन कर सकते हैं. इसके अलावा कोरोना संकट के बीच अपने ग्राहकों की असुविधा को ध्यान में रखते हुए LIC ने दावे के निपटान से जुड़ी शर्तों में कुछ ढील देने की घोषणा की है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने-चांदी की कीमतों में तेजी, ऑल टाइम हाई से 9000 रुपये नीचे हैं रेट्स, चेक करें 10 ग्राम का भाव

कोरोना संकट में नियमों में दी ढील

इसके अलावा कोरोना संकट में कंपनी ने डेथ क्लेम को जल्दी निपटाने के लिए नियमों में कुछ ढील दी है. कोरोना महामारी में अगर किसी ग्राहक की मौत हॉस्पिटल में होती है तो म्यूनिसिपल डेथ सर्टिफिकेट की जगह पर आप कोई भी डेथ सर्टिफिकेट, डिस्चार्ज समरी, मृत्यु का समय और तारीख के साथ डेथ समरी जो सरकार, ईएसआई, आर्म्ड फोर्सेस, कॉरपोरेट हॉस्पिटल, एलआईसी क्लास-1 अधिकारी, या 10 वर्ष के अनुभव वाले डेवलपमेंट ऑफिसर, अंतिम संस्कार सर्टिफिकेट, दफनाने का सर्टिफिकेट देकर क्लेम ले सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज