LIC की इस खास पॉलिसी में हर दिन महज 74 रुपये देकर पाएं ₹10 लाख, चेक करें डिटेल्‍स

एलआईसी की स्‍कीम में पॉलिसीहोल्‍डर को बचत के साथ सुरक्षा भी मिलती है.

लाइफ इंश्‍योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) की न्‍यू जीवन आनंद पॉलिसी (New Jeevan Anand Policy) में आपको न सिर्फ बचत का अवसर मिलता है, बल्कि सुरक्षा भी उपलब्‍ध कराई जाती है. स्कीम में बोनस (Bonus) भी मिलते हैं. योजना के तहत पॉलिसी अवधि के बाद भी रिस्क कवर (Risk Cover) जारी रहता है. आइए जानते हैं कि स्कीम के बारे में सबकुछ...

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना संकट के बीच ज्‍यादातर लोगों को कहीं भी आते-जाते संक्रमित होने का डर सताता रहता है. वहीं, आर्थिक हालात ठीक नहीं होने के कारण लोग बहुत ज्‍यादा खर्च करने से भी कतरा रहे हैं. ऐसे में लाइफ इंश्‍योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) ने कुछ ऐसी पॉलिसी पेश की हैं, जिनमें एक ही स्कीम से सेविंग (Saving) और अपनों की वित्‍तीय सुरक्षा (Financial Security) दोनों का फायदा उठाकर चैन की सांस ली जा सकती है.



    एलआईसी की न्यू जीवन आनंद पॉलिसी ग्राहकों को न सिर्फ बचत का मौका देती है, बल्कि सुरक्षा भी उपलब्‍ध कराती है. स्कीम के तहत आपको बोनस (Bonus) भी मिलते हैं. इस योजना के तहत रिस्क कवर (Risk Cover) पॉलिसी अवधि के बाद भी जारी रहता है. पॉलिसी के तहत आपको सिर्फ 74 रुपये रोज यानी 2,220 रुपये हर महीने देने होंगे.



    18-50 साल तक के लोग ले सकते हैं स्कीम
    अगर आपकी उम्र 18 साल हो गई है तो एलआईसी की न्यू जीवन आनंद स्कीम ले सकते हैं. वहीं, स्कीम लेने के लिए आपकी उम्र 50 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए. स्कीम के तहत कम से कम (Minimum) 1 लाख रुपये का सम एश्योर्ड (Sum Assured) लेना जरूरी है. इस योजना के तहत सम एश्‍योर्ड की कोई अधिकतम सीमा नहीं (No Maximum Limit) है. आसान शब्‍दों में समझें तो आप जितना चाहें, उतना तक सम एश्योर्ड ले सकते हैं.

    ये भी पढ़ें - SBI की रिपोर्ट! पेट्रोल-डीजल पर खर्च बढ़ने के कारण खाने-पीने और स्‍वास्‍थ्‍य खर्च में कटौती कर रहे हैं लोग

    पॉलिसी की अवधि और भुगतान का तरीका
    न्यू जीवन आनंद प्लान के लिए पॉलिसी की अवधि (Policy Term) 15 से 35 साल है. एलआईसी की न्यू जीवन आनंद पॉलिसी को आप ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन (Offline/Online) भी खरीद सकते है. पॉलिसी के लिए सालाना, छमाही, तिमाही और मासिक आधार पर प्रीमियम (Premium) का भुगतान किया जा सकता है. खास बात यह है कि इस स्‍कीम को खरीदने के 3 साल बाद आप पॉलिसी से कर्ज (Loan on Insurance Policy) ले सकते हैं. मैच्योरिटी पर सम एश्योर्ड के साथ सिंपल रिवर्सनरी बोनस (Simple Reversionary Bonus) और फाइनल एडिशनल बोनस (Additional Bonus) का लाभ मिलेगा.

    मैच्योरिटी पर ऐसे मिलेंगे 10 लाख रुपये
    >> सम एश्योर्ड + सिंपल रिवर्सनरी बोनस + फाइनल एडिशनल बोनस

    >> 5 लाख + 5.04 लाख + 10 हजार = 10.14 लाख

    >> 21 साल पूरे होने पर अगर पॉलिसी धारक जीवित रहता है तो उसे 10 लाख से ज्यादा मिल जाएगा.

    ये भी पढ़ें- बाबा रामदेव का बड़ा ऐलान! कहा- जल्‍द लाएंगे Patanjali IPO, अभी ला रहे रुचि सोया का FPO

    मैच्योरिटी पर हुई डेथ तो मिलेंगे 5 लाख
    पॉलिसी मैच्‍योर होने पर अगर बीमित व्‍यक्ति की मौत होती है तो नॉमिनी को सम एश्योर्ड यानी 5 लाख रुपये मिलेंगे. अगर किसी वजह से पॉलिसीधारक की मौत पॉलिसी के बीच में ही हो जाती है तो नॉमिनी को बीमा राशि की 125 फीसदी रकम मिलेगी. इसके साथ ही बोनस और अंतिम बोनस भी मिलता है. अगर पॉलिसी में 17 साल प्रीमियम भरने के बाद डेथ हो तो इन तीनों में जो ज्यादा होगा, वही नॉमिनी को मिलेगा.

    >> सम अश्योर्ड का 125% = 5 लाख का 125% = 6,25,000

    >> सालाना प्रीमियम का 10 गुना = (27010 का 10 गुना) = 3,02,730

    >> मृत्यु तक भरे हुए प्रीमियम का 105% = (27010 * 17) का 105% = 4,82,128

    >> इसमें पहले ऑप्शन में रकम ज्यादा है तो नॉमिनी को वही रकम मिलेगी.

    न्‍यू जीवन आनंद में मिलते हैं टैक्स बेनिफिट्स
    इनकम टैक्‍स एक्‍ट की धारा-80C के तहत प्रीमियम भुगतान के लिए टैक्स बेनिफिट भी मिलता है. मैच्‍योरिटी या मृत्यु के वक्त मिलने वाली राशि पर भी कोई टैक्स नहीं देना होता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.