• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • LIC की खास पॉलिसी 1 हजार रुपये जमा करने पर मिलेगा 1 लाख, Loan की भी सुविधा

LIC की खास पॉलिसी 1 हजार रुपये जमा करने पर मिलेगा 1 लाख, Loan की भी सुविधा

एलआईसी न्यू मनी बैक योजना

एलआईसी न्यू मनी बैक योजना

एलआईसी न्यू मनी बैक योजना (LIC New Money Back Policy) (25 साल) के बारे में बता रहे हैं. यह एक नॉन लिंक्ड लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी (Non Linked Life Insurance Policy) है जो गारंटीड रिटर्न और बोनस देती है. इस योजना में आपको सिर्फ 20 वर्षों तक प्रीमियम का भुगतान करना होता है, जबकि आपकी पॉलिसी 25 वर्षों तक जारी रहती है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. LIC बीमा क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी है. LIC हाल ही में कई ऐसे प्लान्स लाई है जिसके बारे में काफी कम लोग जानते हैं. आज हम आपको एलआईसी न्यू मनी बैक योजना (25 साल) के बारे में बता रहे हैं.  यह एक नॉन लिंक्ड लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी है जो गारंटीड रिटर्न और बोनस देती है. इस योजना में आपको सिर्फ 20 वर्षों तक प्रीमियम का भुगतान करना होता है, जबकि आपकी पॉलिसी 25 वर्षों तक जारी रहती है. यह योजना 13 से 45 वर्ष की उम्र के बीच किसी भी व्यक्ति द्वारा 25 वर्ष के निश्चित अवधि के लिए ली जा सकती है. इसके तहत पॉलिसीधारक के जीवित रहने तक बीमित राशि के 15% का भुगतान प्रत्येक 5 वर्ष के अंत में किया जाता है, और बकाया 40% बीमित राशि का भुगतान सिंपल रिवर्सनरी बोनस तथा फाइनल एडीशन बोनस के साथ योजना के अंत में (परिपक्वता लाभ के रूप में) किया जाता है.

    ये भी पढ़ें: Debit-Credit Card खो गया है तो अब कस्टमर केयर पर फोन किए बिना ऐसे करें ब्लॉक

    पॉलिसी के बारे में जरूरी जानकारियां


    एलआईसी न्यू मनी बैक योजना (25 साल) के फीचर्स:
    >> 20 साल की अवधि के लिए मनी बैक योजना.

    >> बीमित राशि के 15% का भुगतान पॉलिसीधारक को सर्वाइवल लाभ के रूप में हर 5वें, 10वें, 15वें और 20वें वर्ष के अंत में किया जाता है.

    >> बीमित राशि के 40% का भुगतान पॉलिसीधारक को परिपक्वता लाभ के रूप में, सिंपल रिवर्सनरी बोनस तथा फाइनल एडीसन बोनस के साथ योजना के अंत में किया जाता है.

    >> इसके तहत एलआईसी की दुर्घटना मृत्यु और विकलांगता लाभ राइडर एक विकल्प के रूप में उपलब्ध है.

    LIC न्यू मनी बैक पॉलिसी (25 साल) के तहत मिलने वाले फायदें 

    मृत्यु लाभ: अगर पॉलिसी अवधि के तहत पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है, तो उसके नॉमिनी को मृत्यु लाभ के रूप में, "मृत्यु पर मिलनेवाले बीमित रकम" के साथ सिंपल रिवर्सनरी बोनस तथ फाइनल एडिसन बोनस (अगर कुछ है तो) का भुगतान किया जाता है.

    यहां पर मृत्यु पर मिलनेवाले बीमित रकम का अर्थ होता है निम्नलिखित में से अधिक:

    > मूल बीमित रकम का 125%

    वार्षिक प्रीमियम का 10 गुना

    मृत्यु पर मिलनेवाला बीमित रकम भुगतान किए गए सभी प्रीमियमों का न्यूनतम 105% होगा.

    ये भी पढ़ें: इतने महीने में 50 हजार रु लगाकर मिलेंगे 1 लाख, जानें पोस्ट ऑफिस की खास स्कीम

    सर्वाइवल लाभ: पॉलिसी धारक के जीवित रहने पर उसे निम्नलिखित लाभ प्राप्त होगा:
    >> 5 वें वर्ष के अंत में बीमित रकम का 15%

    >> 10 वें वर्ष के अंत में बीमित रकम का 15%

    >> 15 वें वर्ष के अंत में बीमित रकम का 15%

    >> 20 वीं वर्ष के अंत में बीमित रकम का 15%

    >> योजना 25 साल की पॉलिसी अवधि के अंत तक जारी रहेगी.

    ये भी पढ़ें: बिना पैसे दिए ऐसे बुक करें दिवाली और छठ पर घर जाने के लिए ट्रेन का टिकट

    मैचयोरटी बेनेफिट्स: अगर पॉलिसीधारक पूरे पॉलिसी अवधि अर्थात 25 साल तक जीवित रहता है तो उसे निम्नलिखित लाभ प्राप्त होगा. बची हुई बीमित रकम(बीमित रकम का 40%) + जमा हुआ रिवेर्सनरी बोनस + फाइनल एडिसन बोनस (यदि कोई हो तो)

    टैक्स लाभ: वर्तमान आयकर की धारा 80C के नियमों के तहत जीवन बीमा के अंतर्गत भरे जानेवाली प्रीमियम के अधिकतम Rs. 1,50,000 पर छूट दी गई है. परिपक्वता पर मिलनेवाली रकम भी आयकर की धारा 10(10)D के तहत करमुक्त होती है.(कुछ नियमों और शर्तों के अंतर्गत)

    लोन: अगर आपकी पॉलिसी ने सरेंडर वैल्यू प्राप्त कर लिया है, तो आप इस योजना के तहत लोन की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं. लोन की राशि तथा उसपर लगनेवाले ब्याज की दर समय समय पर बदलती रहती है और यह जानकारी आपको एलआईसी के नजदीकी कार्यालय जाकर समय समय पर लेनी होगी.

    एलआईसी न्यू मनी बैक योजना (25 साल) की अतिरिक्त फीचर्स और फायदे:
    दुर्घटना मृत्यु और विकलांगता लाभ राइडर: पॉलिसी अवधि के दौरान किसी भी समय आप एक अतिरिक्त मामूली प्रीमियम भरकर इस राइडर का लाभ उठा सकते हैं, इसके तहत मिलनेवाले अतिरिक्त राशि (कवर) का चुनाव कर सकते हैं. इस कवर को दुर्घटना लाभ बीमित राशि कहा जाता है.

    दुर्घटना मृत्यु के मामले में नॉमिनी को मृत्यु लाभ के अतिरिक्त “दुर्घटना लाभ बीमित राशि” का भी भुगतान किया जाता है.

    ये भी पढ़ें: रोज 100 रुपये का निवेश इतने साल में बन जाएगा ₹20 लाख, जानें कैसे?

    किसी भी दुर्घटना के 180 दिनों के भीतर स्थायी दिव्यान्गता के मामले में दुर्घटना लाभ बीमित राशि का भुगतान पॉलिसीधारक को 10 साल की अवधि तक समान मासिक किस्तों में की जाएगी.

    इस राइडर के भविष्य के प्रीमियम को भी छूट दी जाएगी. इसके अलावा दुर्घटना लाभ बीमित राशि की रकम इतनी ही रकम को मूल प्रीमियम से कम कर दी जाएगी.

    ऐसे समझें
    चलिए हम इस योजना को एक उदाहरण की मदद समझते हैं. मान लीजिए कि मोहित जो 30 साल का है, वह इस योजना में रु 1,00,000 की बीमित रकम के साथ निवेश करता है. इस बीमित रकम के साथ उनका वार्षिक प्रीमियम रु (6,022 + कर) होगा. पॉलिसी अवधि 25 साल की होगी और उन्हें 20 साल तक प्रीमियम देना होगा.

    मोहित पूरे पॉलिसी अवधि तक जीवित रहता है. इस स्थिति में मोहित को survival लाभ के साथ साथ maturity लाभ का भी भुगतान किया जाएगा.

    जरूरी बातें:
    5 वर्षों के बाद मूल बीमा राशि का 15% = रु 1,00,000 का 15%  = रु 15,000

    10 वर्षों के बाद मूल बीमित रकम का 15% = रु 1,00,000 का 15%  = रु 15,000

    15 वर्षों के बाद मूल बीमित रकम का 15% = रु 1,00,000 का 15%  = रु 15,000

    20 वर्षों के बाद मूल बीमित रकम का 15% = रु 1,00,000 का 15%  = रु 15,000

    परिपक्वता लाभ: मोहित को परिपक्वता लाभ के रूप में मूल बीमित रकम का 40% + सिंपल रिवर्सनरी बोनस + फाइनल एडिसन बोनस = रु 40,000 + सिंपल रिवर्सनरी बोनस + फाइनल एडिसन बोनस और पॉलिसी समाप्त हो जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज