LIC से क्लेम मिलना हुआ आसान, कोरोना के चलते कंपनी ने निपटान से जुड़ी शर्तों में दी ढील

भारतीय जीवन बीमा निगम

भारतीय जीवन बीमा निगम

एलआईसी (LIC) ने क्लेम सेटलमेंट से जुड़ी प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए निपटान से जुड़ी शर्तों में ढील देने का फैसला किया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत इस वक्त कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर की मार झेल रहा है और हजारों लोगों की मौत हो रही है. वहीं, कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बीच अपने ग्राहकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पब्लिक सेक्टर की कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम यानी एलआईसी (Life Insurance Corporation of India) ने क्लेम के निपटान से जुड़ी शर्तों में कुछ ढील देने का घोषणा की.

कंपनी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि वर्तमान स्थिति में, जहां मौत किसी अस्पताल में हुई है, मौत के दावे का तेजी से निपटान करने के लिए उसने नगर निगम से मिलने वाले मृत्यु प्रमाणपत्र के बदले मृत्यु के वैकल्पिक प्रमाणों को मान्यता दी है.

वैकल्पिक प्रमाण पत्रों को मान्यता

मृत्यु के दूसरे प्रमाणों में सरकार/ईएसआई (कर्मचारी राज्य बीमा)/सशस्त्र बलों/कॉरपोरेट अस्पतालों द्वारा जारी किया गया और एलआईसी के प्रथम श्रेणी के अधिकारियों या 10 साल सेवा चुके विकास अधिकारियों के हस्ताक्षर वाला, मृत्यु की स्पष्ट तारीख एवं समय को दिखाता अस्पताल से छुट्टी/मृ्त्यु का ब्यौरा, मृत्यु प्रमाणपत्र शामिल हैं.
ये भी पढ़ें- विदेशी मुद्रा भंडार पर आई पॉजिटिव खबर, खजाना और बढ़ा, जानें कितना है Gold Reserve

बयान में कहा गया कि इसे अंतिम संस्कार प्रमाणपत्र या संबंधित प्राधिकरण द्वारा जारी की गयी प्रमाणिक पहचान रसीद के साथ जमा करना होगा. वहीं दूसरे मामलों में पहले की तरह ही नगर निगम से मिलने वाला मृत्यु प्रमाणपत्र देना जरूरी होगा.

बेकाबू हुआ कोरोना! 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 4.14 लाख केस



गौरतलब है कि देश में लगातार दूसरे दिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या ने 4 लाख के आंकड़े को पार किया है, जबकि अब तक देश में तीन बार ऐसा हुआ है जब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या 4 लाख से अधिक हुई है. पिछले 24 घंटे के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो देश में कोरोना के 4 लाख 14 हजार 182 मामले सामने आए हैं जबकि इस दौरान 3,920 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि नए मामले सामने आने के बाद कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 2,14,91,592 हो गए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज